Surya Grahan August 2018 Dates and Time in India in Hindi, Solar Eclipse 11 August 2018 Date and Timings in India: Surya Grahan Kab Hai, Surya Grahan Kab Lagega, When is Surya Grahan or Solar Eclipse in August - Surya Grahan August 2018 Today Time: जानिए कब लग रहा है इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Surya Grahan August 2018 Today Time: जानिए कब लग रहा है इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण

Surya Grahan August 2018 Dates and Time in India in Hindi, Solar Eclipse 11 August 2018 Date and Timings in India: साल के आखिरी सूर्य ग्रहण की एक और खास बात यह है कि इसी दिन शनि अमावस्या भी पड़ रही है। ऐसे में यह ग्रहण और भी खास हो जाता है।

Author नई दिल्ली | August 11, 2018 10:06 AM
Surya Grahan August 2018 Dates and Time: साल 2018 का अंतिम सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा।

Surya Grahan August 2018 Dates and Time in India in Hindi, Surya Grahan August 2018: साल 2018 का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। इसे लेकर दुनियाभर में खूब चर्चा हो रही है। बता दें कि इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण कल यानी 11 अगस्त(शनिवार) को लगेगा। ध्यान देने वाली बात यह है कि इस सूर्य ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा। लेकिन ज्योतिष शास्त्र के जानकारों को मुताबिक ऐसी दशा में भी हमें सूर्य ग्रहण से जुड़ी कई सारी सावधानियां अपनानी पड़ेंगी। भारतीय समय के अनुसार यह सूर्य ग्रहण 11 अगस्त को दोपहर में लगने वाला है। यह 11 अगस्त दिन शनिवार को दोपहर 1 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगा। और शाम 5 बजकर 1 मिनट पर समाप्त होगा।

साल के आखिरी सूर्य ग्रहण की एक और खास बात यह है कि इसी दिन शनि अमावस्या भी पड़ रही है। ऐसे में यह ग्रहण और भी खास हो जाता है। जानकारों का कहना है कि शनि अमावस्या होने के कारण इस दिन शनिदेव की पूजा और मंत्रों का जाप करना शुभ होगा। माना जा रहा है कि इस दिन शनि मंत्र का जाप करने से विशेष लाभ प्राप्त होगा। आप सूर्य ग्रहण के दिन “ओम प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः” मंत्र का जाप कर सकते हैं। कहते हैं कि शनि अमावस्या के दिन दान करना बहुत फलदायी माना गया है। आप इस दिन सरसों के तेल का दान भी कर सकते हैं।

Surya Grahan 2018: क्या होता है सूर्य ग्रहण और कैसे लगता है यह, जानिए

मालूम हो कि 11 अगस्त को लगने वाला साल 2018 का अंतिम सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। हालांकि इसे उत्तर-पूर्वी यूरोप, रूस, कजाकिस्तान, तिब्बत को छोड़कर समूचे चीन, मंगोलिया, उत्तर और दक्षिण कोरिया तथा कनाडा के उत्तरी भागों में देखा जा सकता है। ऐसे में एक बार फिर से दुनियाभर में इस अहम खगोलीय घटना को लेकर उत्सुकता पैदा हो गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले महीने 27 /28 जुलाई की मध्य-रात्रि को 21वीं सदी का सबसे बड़ा चंद्र -ग्रहण पड़ा था और इसे भारत से भी देखा गया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App