Super Flower Moon 2020 Date, Timings in India: साल का आखिरी सुपरमून कब, कहां और कैसे देगा दिखाई जानिए

Super Flower Moon/Supermoon May 2020 Date, Timings in India: साल का आखिरी सुपरमून (Super moon) मई की 7 तारीख को दिखाई देने वाला है। इस दिन चांद अन्य दिनों के मुकाबले ज्यादा बड़ा और ज्यादा चमकीला दिखाई देगा। 7 मई के बाद आप सुपर पिंक मून को 27 अप्रैल 2021 में देख पायेंगे।

super flower, super flower moon, super flower moon 2020, super flower moon 2020 date, super flower full moon, super flower moon 2020 date and time, full moon, full moon 2020, full moon 2020 date, full moon date and time, super flower moon may, super flower moon may 2020
Supermoon 2020: सुपरमून के बाद 5 जून को चंद्र ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा।

Super Flower Moon May 2020 Date, Timings in India: अगर आप अप्रैल के खूबसूरत सूपर मून (SuperMoon 2020) का नजारा नहीं देख पाए थे तो आपके पास आखिरी मौका है इस सूपर मून को देखने का। साल का आखिरी सुपरमून मई की 7 तारीख को दिखाई देने वाला है। इस दिन चांद अन्य दिनों के मुकाबले ज्यादा बड़ा और ज्यादा चमकीला दिखाई देगा। 7 मई के बाद आप सुपर पिंक मून को 27 अप्रैल 2021 में देख पायेंगे।

इसे सुपर फ्लावर मून, कोर्न प्लांटिंग मून और फूल मिल्क मून भी कहा जाता है। नासा के अनुसार, सुपर फ्लावर मून भारतीय समयानुसार गुरुवार 7 मई की शाम 4.15 बजे अपने चरम पर होगा। यानी इस समय ये पृथ्वी के बेहद करीब होगा। इस समय चांद और पृथ्वी के बीच की दूरी 361,184 किमी की ही रह जायेगी। इसे Flower Moon नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि ये फूलों के खिलने का समय होता है। इस सुपरमून को देखने का सबसे अच्छा समय चंद्रोदय और चंद्रमास के दौरान होता है।

जानिए क्या है सुपरमून: एक सुपरमून ऑर्बिट पृथ्वी के सबसे करीब होता है। पृथ्वी से ज्यादा नज़दीकी के कारण, चंद्रमा इस दौरान बहुत बड़ा और चमकीला दिखाई देता है। आमतौर पर पृथ्वी और चंद्रमा के बीच औसत दूरी 384,400 किलोमीटर होती है। जो सुपर मून के समय कुछ कम हो जाती है। इससे पहले सुपरमून 7 अप्रैल को दिखाई दिया था जो पिंक सुपरमून था। इसी तरह मार्च के सुपरमून को लोकप्रिय रूप से सुपर वॉर्म मून कहा गया था। हालांकि इन सुपरमून को लोग भारत में नहीं देख पाए थे क्योंकि यह सुबह के समय नजर आया था जिस समय सूर्य की रोशनी बहुत तेज होती है। ‘सुपरमून’ के कारण चांद हर दिन के मुकाबले 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकदार दिखाई देता है।

सुपरमून के बाद लगेगा चंद्र ग्रहण: सुपरमून के बाद 5 जून को चंद्र ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा। ये ग्रहण 5 जून की रात से शुरू होगा जो भारत में भी दिखाई देगा। जून की 21 तारीख को ही सूर्य ग्रहण भी लगेगा।