ताज़ा खबर
 

Surya Grahan 2018: जानिए सूर्य ग्रहण की ‘नकारात्मक ऊर्जा’ कैसे करती है गर्भवती महिलाओं को प्रभावित

Surya Grahan 2018, Solar Eclipse 2018: एक अन्य प्रचलित मान्यता के अनुसार गर्भवती महिला को सूर्य ग्रहण के दौरान भूलकर भी भोजन ग्रहण नहीं करना चाहिए। कहते हैं कि यह भोजन बच्चे को बीमार कर सकता है।

Author नई दिल्ली | July 13, 2018 1:11 PM
सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष रूप से सावधान रहने की बता कही गई है।

Surya Grahan 2018, Solar Eclipse 2018: 13 जुलाई को सूर्य ग्रहण लग रहा है। यह इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण है। मालूम हो कि हिंदू धर्म में सूर्य ग्रहण को लेकर तमाम तरह की बातें कही गई हैं। सामान्य तौर पर ग्रहण का लगना शुभ नहीं माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि भगवान पर संकट की घड़ी होने की दशा में ग्रहण लगता है। वहीं, ज्योतिष शास्त्र की मानें तो राहु-केतु का सूर्य और चंद्रमा पर प्रकोप होने की दशा में ग्रहण की स्थिति बनती है। दूसरी तरफ, खगोल विज्ञान ग्रहण को लेकर अलग राय रखता है। इन सबके बीच सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष रूप से सावधान रहने की बात कही गई है। आज हम इसी बारे में आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं।

पुराणों के अनुसार सूर्य ग्रहण के दौरान ढेर सारी नकारात्मक ऊर्जा वातावरण में फैल जाती है। कहते हैं कि ये नकारात्मक ऊर्जा अलग-अलग तरह से प्रभावित करती है। मान्यता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। ताकि वातावरण में फैली नकारात्मक ऊर्जा से बचा जा सके। बतातें हैं कि ग्रहण के दौरान फैली यह नकारात्मक ऊर्जा मां के पेट में पल रहे बच्चे को काफी नुकसान पहुंचाती है। ऐसी भी मान्यता है कि इसके प्रभाव से गर्भपात होने की संभावना बढ़ जाती है। इन्हीं वजहों से गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण नहीं देखने की सलाह दी जाती है।

एक अन्य प्रचलित मान्यता के अनुसार गर्भवती महिला को सूर्य ग्रहण के दौरान भूलकर भी भोजन ग्रहण नहीं करना चाहिए। कहते हैं कि यह भोजन बच्चे को बीमार कर सकता है। माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के समय गर्भवती महिला को कपड़ों की सिलाई नहीं करनी चाहिए। इससे बच्चे के अंग कटने की मान्यता है। ऐसा भी कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण देखने से गर्भवती महिला की आंखों और लीवर पर बुरा असर पड़ता है।

मालूम हो कि सूर्यग्रहण को नंगी आंखों से देखने के लिए मना किया जाता है। सूर्यग्रहण देखने के लिए एक जगह पर सीधे खड़े होकर आंखों को ग्लास या सोलर व्यूवर से ढक लेना चाहिए। फिर सूर्य से नजर हटाने के बाद सोलर फिल्टर/व्यूवर को हटा लेना चाहिए। बता दें कि सोलर फिल्टर वाले चश्मों को सोलर-व्युइंग ग्लासेस या पर्सनल सोलर फिल्टर्स भी कहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App