ताज़ा खबर
 

Sawan Month: श्रावण में कैसे करें श्री कृष्ण की पूजा, जानिए अपना राशि मंत्र

sawan ka mahina 2019: तुला राशि वालों को भगवान कृष्ण की कृपा प्राप्त करने के लिए ॐ हिरण्यगर्भाय नम: मंत्र का जाप करना चाहिए।

Author नई दिल्ली | July 10, 2019 8:53 AM
सावन में इन मंत्रों के जाप से करें भगवान कृष्ण की अराधना।

श्रावण माह: 17  जुलाई से सावन का पवित्र महीना शुरु होने वाला है। धार्मिक दृष्टि से इस माह का खास महत्व होता है। यह महीना भगवान शिव (lord shiva) की अराधना का होता है, इस बात की जानकारी तो सभी को है लेकिन बहुत कम लोग यह जानते होंगे कि यह माह भगवान कृष्ण को भी समर्पित है। अत: श्रावण मास में शिवजी के साथ-साथ श्रीकृष्ण जी की भी आराधना की जाती है। श्रावण में श्रीकृष्ण (lord krishna) की आराधना का भी उतना ही महत्व है जितना कि शिव जी की पूजा का होता है। ऐसा माना जाता है कि श्रावण कृष्ण पक्ष की अष्टमी से भादौ कृष्ण पक्ष की अष्टमी अर्थात श्रीकृष्ण जन्माष्टमी तक एक महीने जो श्रीकृष्ण की आराधना करता है, उसे मोक्ष प्राप्त होता है। ऐसी भी मान्यता है कि इस मास में कृष्ण जी प्रसन्न अवस्था में रहते हैं और अपने भक्तों को मनचाहे वर देते हैं। यहां हम आपको बताएंगे कि राशि अनुसार आप किन मंत्रों के जाप से भगवान कृष्ण को प्रसन्न कर सकते हैं…

राशि अनुसार (zodiac sign) भगवान कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए इन मंत्रों का जाप किया जा सकता है

मेष राशि वाले इस मंत्र ॐ विश्वरूपाय नम: का जाप करें।

– वृषभ वाले ॐ उपेन्द्र नम: का जाप करें।

– मिथुन राशि के जातकों को ॐ अनंताय नम: मंत्र का जाप करना चाहिए।

– कर्क राशि वालों को ॐ दयानिधि नम: का जाप करना चाहिए।

– सिंह राशि के जातकों के लिए ॐ ज्योतिरादित्याय नम: का जाप करना लाभकारी साबित हो सकता है।

– कन्या वाले ॐ अनिरुद्धाय नम: का जाप करें।

– तुला राशि वालों को भगवान कृष्ण की कृपा प्राप्त करने के लिए ॐ हिरण्यगर्भाय नम: मंत्र का जाप करना चाहिए।

– वृश्चिक राशि के जातकों के लिए ॐ अच्युताय नम: मंत्र लाभकारी साबित होगा।

– धनु राशि वालों को ॐ जगतगुरवे नम: मंत्र का जाप करना चाहिए।

– मकर वालों को ॐ अजयाय नम: का जाप करना सबसे अच्छा माना गया है।


– कुंभ वालों के लिए ॐ अनादिय नम: मंत्र का जाप करना उत्तम होता है।

– मीन राशि के जातकों को ॐ जगन्नाथाय नम: का जाप करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App