Sharad Purnima 2021: शरद पूर्णिमा 19 अक्टूबर को, मान्यता है इस दिन इन उपायों को करने से नहीं होती धन की कभी कमी

Sharad Purnima: धार्मिक मान्यताओं अनुसार इस दिन व्रत रख विधि विधान पूजा करने से अच्छे स्वास्थ्य, प्रेम और धन-धान्य की प्राप्ति होती है।

sharad purnima 2021 date, sharad purnima 2021, sharad purnima vrat 2021, sharad purnima, sharad purnima significance
ऐसी मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की रात को धन की देवी माता लक्ष्मी अपने वाहन उल्लू पर घूमने के लिए निकलती हैं।

Sharad Purnima 2021 Date: हिंदू धर्म में शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन चंद्रमा पावन अमृत बरसाता है इसलिए लोग इस दिन खीर बनाकर उसे चांद की रोशनी में रखते हैं। कहते हैं जब चंद्रमा की किरणें खीर पर पड़ती हैं तो ये खीर सेहत के लिए कई गुना लाभकारी हो जाती है। धार्मिक मान्यताओं अनुसार इस दिन व्रत रख विधि विधान पूजा करने से अच्छे स्वास्थ्य, प्रेम और धन-धान्य की प्राप्ति होती है। जानिए इस दिन किन उपायों को करने से मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्न।

ऐसी मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की रात को धन की देवी माता लक्ष्मी अपने वाहन उल्लू पर घूमने के लिए निकलती हैं। यही कारण हैं कि इस दिन कई लोग पूरी रात जागकर माता लक्ष्मी की अराधना करते हैं। इस दिन कई घरों में खीर बनाकर उसे चंद्रमा की रोशनी के नीचे रखा जाता है। ऐसी मान्यता है कि चंद्रमा की रोशनी से निकलने वाले अमृत तत्व से बनाई गई खीर दिव्य प्रसाद में परिवर्तित हो जाती है। जिसे ग्रहण करके व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि आने के साथ-साथ अच्छे स्वास्थ्य की भी प्राप्ति होती है।

शरद पूर्णिमा का दिन धन की देवी लक्ष्मी की पूजा करने के लिए विशेष माना जाता है। कहते हैं जो व्यक्ति सच्चे मन से इस दिन मां लक्ष्मी की अराधना करता है उसे आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता। धन की प्राप्ति के लिए इस दिन श्री सूक्त का पाठ, श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ, कनकधारा स्त्रोत का पाठ करना चाहिए। इस दिन माता लक्ष्मी के साथ-साथ चंद्रदेव की भी विशेष पूजा की जाती है। (यह भी पढ़ें- मंगल का तुला राशि में गोचर 3 राशि वालों के लिए अनुकूल, आर्थिक स्थिति में हो सकता है सुधार)

शरद पूर्णिमा के दिन धन प्राप्ति के लिए रात के समय मां लक्ष्मी के समक्ष घी का दीपक जलाएं। उन्हें गुलाब के फूलों की माला अर्पित करें। उन्हें सफेद मिठाई अर्पित करें। इसके बाद “ॐ ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद महालक्ष्मये नमः” की 11 माला जाप करें। किसी भी काम में सफलता पाने के लिए इस दिन शाम के समय राधा-कृष्ण की पूजा करें। उन्हें गुलाब के फूलों की माला अर्पित करें। मध्य रात्रि में चंद्रमा को अर्घ्य दें। फिर “ॐ राधावल्लभाय नमः” मंत्र के जाप की कम से कम तीन बार माला जपें। (यह भी पढ़ें- भाग्य के अमीर माने जाते हैं इन 4 नाम वाले लोग, हर क्षेत्र में नाम कमाने में रहते हैं सफल)

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दुर्गा मां के इस मंदिर में शाम के बाद नहीं जाते लोग, जानिए- क्या है वजह?madhya pardesh, dewas temple, king,dewas king,देवास, महाराज, अशुभ घटना, राजपुरोहित ने मंदिर, मंदिर,
अपडेट