मीन राशि वालों पर शुरू होने वाली है शनि साढ़े साती, जानिए कब मिलेगी इससे मुक्ति

तुला, मकर, कुंभ, धनु और मीन वालों के लिए शनि की दशा उतनी खराब नहीं होती जितनी की बाकी राशि वालों के लिए होती है। जानिए मीन राशि वालों पर कब से कब तक रहेगी शनि साढ़े साती (Shani Sade Sati)।

shani, shani sade sati, shani sade sati on meen rashi, shani sade sati on Pisces zodiac sign, shani sade sati meen rashi, shani sade sati on makar rashi, शनि साढ़े साती,
शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करते ही गुरु की राशि मीन पर शनि साढ़े साती शुरू हो जाएगी।

Shani Sade Sati 2022: शनि जब भी राशि बदलते हैं तो किसी राशि वालों पर शनि साढ़े साती शुरू हो जाती है तो किसी पर खत्म हो जाती है। 2022 में शनि कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। इस राशि में शनि के गोचर करते ही मीन राशि वालों पर शनि साढ़े साती शुरू हो जाएगी तो वहीं धनु राशि के जातकों को इससे मुक्ति मिल जाएगी। बता दें तुला, मकर, कुंभ, धनु और मीन वालों के लिए शनि की दशा उतनी खराब नहीं होती जितनी की बाकी राशि वालों के लिए होती है। जानिए मीन राशि वालों पर कब से कब तक रहेगी शनि साढ़े साती।

शनि राशि परिवर्तन कब? शनि साल 2022 में दो बार राशि बदलेंगे। एक बार 29 अप्रैल को तो दूसरी बार 12 जुलाई में। बता दें शनि हर ढाई साल में अपनी राशि बदलते हैं। इस तरह से इन्हें अपना राशि चक्र पूरा करने में करीब 30 साल का समय लगता है। 2022 में शनि एक बार नहीं बल्कि 2 बार अपनी राशि बदल रहे हैं। जिसे लेकर कुछ लोग कन्फ्यूजन में है कि आखिर एक ही साल में शनि का 2 बार राशि परिवर्तन क्यों हो रहा है। तो आपको बता दें कि शनि 29 अप्रैल में सामान्य प्रक्रिया के तहत अपनी राशि बदलेंगे। फिर 5 जून से ये वक्री चाल शुरू कर देंगे और अपनी उल्टी चाल चलते हुए ये मकर राशि में फिर से गोचर करने लगेंगे। 17 जनवरी तक शनि मकर राशि में विराजमान रहेंगे।

मीन राशि वालों पर कब से कब तक रहेगी शनि साढ़े साती? शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करते ही गुरु की राशि मीन पर शनि साढ़े साती शुरू हो जाएगी। मीन राशि वालों पर शनि साढ़े साती 29 अप्रैल 2022 से लेकर 17 अप्रैल 2030 तक रहेगी। 2022 में शनि के राशि बदलते ही कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी। मिथुन और तुला वालों को इससे मुक्ति मिल जाएगी। (यह भी पढ़ें- अच्छी पत्नी साबित होती हैं इस राशि की लड़कियां, पति के लिए मानी जाती हैं लकी)

शनि देव को कैसे करें प्रसन्न: शनि साढ़े साती के बुरे प्रकोप से बचने के लिए शनि देव की विशेष अराधना करें। शनि चालीसा का पाठ करें। हनुमान जी की अराधना करने से भी शनि दोष से छुटकारा मिलता है। पीपल के पेड़ पर शाम के समय सरसों के तेल का दीपक रोजाना जलाएं। काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट