ताज़ा खबर
 

शनि के राशि परिवर्तन से होंगे बड़े बदलाव, जानिए किन पर शुरू होगी शनि साढ़े साती और ढैय्या

Shani Rashi Parivartan 2022: साल 2022 में शनि ढाई साल बाद अपनी राशि बदलेंगे। जानिए किन राशियों पर शुरू होगी शनि की साढ़े साती (Shani Sade Sati) और किन पर रहेगी शनि की ढैय्या (Shani Dhaiya)...

शनि ग्रह का राशि परिवर्तन हर ढाई साल में होता है।

शनि ग्रह जब भी अपनी राशि बदलता है तो कई राशियों पर शनि की महादशा शुरू हो जाती है। शनि एक साथ 5 राशियों को प्रभावित करते हैं। वर्तमान की बात करें तो धनु, मकर और कुंभ वालों पर शनि की साढ़े साती तो वहीं मिथुन और तुला वालों पर शनि की ढैय्या चल रही है। कहा जाता है कि शनि की बुरी नजर जिन राशियों पर पड़ती है उन्हें कष्टों का सामना करना पड़ता है। साल 2022 में शनि ढाई साल बाद अपनी राशि बदलेंगे। जानिए किन राशियों पर शुरू होगी शनि की साढ़े साती और किन पर रहेगी शनि की ढैय्या…

जानिए कब होगा शनि का राशि परिवर्तन: शनि ग्रह एक राशि से दूसरी राशि में जाने के लिए सबसे ज्यादा समय लेता है। सभी ग्रहों में इनकी चाल सबसे धीमी मानी गई है। साल 2022 में शनि पूरे ढाई साल बाद अपनी राशि बदलने जा रहे हैं। शनि का राशि परिवर्तन 29 अप्रैल 2022 में कुंभ राशि में होने जा रहा है। शनि मकर और कुंभ राशि के स्वामी ग्रह भी हैं।

इस राशि वालों पर शुरू होगी शनि साढ़े साती: साल 2022 में शनि के राशि परिवर्तन से मीन वालों पर शनि साढ़े साती शुरू हो जाएगी। तो वहीं धनु वालों को इसके प्रकोप से मुक्ति मिल जाएगी। जबकि मकर वालों पर शनि साढ़े साती का अंतिम चरण तो कुंभ वालों पर इसका दूसरा चरण शुरू हो जाएगा। इन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा फ्लर्टी, इनके कई लव रिलेशन बनने के रहते हैं चांस

इन राशि वालों पर शुरू होगी शनि ढैय्या: शनि के कुंभ में प्रवेश करते ही कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। वहीं मिथुन और तुला वालों को इससे मुक्ति मिल जाएगी। शनि ढैय्या किसी भी राशि पर ढाई साल तक रहती है। शनि के राशि परिवर्तन के समय शनि जिस राशि से चौथे या आठवें भाव में स्थित होते हैं, तब उस राशि पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाती है। अंकज्योतिष में ये अंक माने जाते हैं लकी, इन तारीखों में जन्मे लोगों के पास पैसों की नहीं होती कमी

2022 में शनि दो बार बदलेंगे राशि: शनि ढाई साल में एक बार अपनी राशि बदलते हैं। 29 अप्रैल 2022 में शनि कुंभ राशि में प्रवेश कर जायेंगे। लेकिन इसके कुछ समय बाद यानी 12 जुलाई को ये ग्रह वक्री होकर अपनी पिछली राशि मकर में प्रवेश कर जायेगा। यानी शनि का राशि परिवर्तन नहीं होगा बल्कि शनि अपनी वक्री चाल में मकर में एक बार फिर से गोचर करने लगेंगे। जिससे वो राशियां जो शनि के प्रकोप से मुक्त हो गई थीं उन पर फिर से शनि साढ़े साती या शनि ढैय्या का प्रभाव पड़ने लगेगा। हालांकि ये स्थिति कुछ ही महीनों के लिए रहेगी। क्योंकि शनि 17 जनवरी 2023 में पुन: मार्गी होकर कुंभ में फिर से प्रवेश कर जायेंगे।

Next Stories
1 Horoscope Today, 31 May 2021: चार राशियों के लिए आज का दिन शुभ, जानिए अपना दैनिक राशिफल यहां
2 Ekadashi in June 2021: अपरा एकादशी व्रत से अपार धन प्राप्ति की है मान्यता, जानें तिथि, मुहूर्त और व्रत विधि
3 Mithun Sankranti 2021: जून में इस दिन पड़ रही है मिथुन संक्रांति, जानिये पूजा विधि और महत्व
ये पढ़ा क्या?
X