ताज़ा खबर
 

Shani Sade Sati 2020: जानिए नये साल में शनि के प्रभाव से कौन-कौन सी राशियां मुक्त हो जायेंगी

Saturn Transit 2020: शनि लगभग 30 सालों में राशियों में अपना भ्रमण चक्र पूरा करता है। ये ग्रह जब भी अपनी राशि बदलता है तो किन्हीं राशियों पर शनि साढ़े साती तो किन्हीं पर शनि ढैय्या शुरू हो जाती है। इसी के साथ कुछ राशियां इसके प्रभाव से मुक्त भी हो जाती हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: December 17, 2019 9:20 AM
शनि राशि परिवर्तन 2020 के बारे में सबकुछ यहां जानिए।

Shani Transit Effects In 2020: नव वर्ष 2020 में 24 जनवरी को शुक्रवार दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर शनि अपनी राशि बदलने जा रहा है। ज्योतिष अनुसार शनि का राशि गोचर एक महत्वपूर्ण घटना है। शनि लगभग 30 सालों में राशियों में अपना भ्रमण चक्र पूरा करता है। ये ग्रह जब भी अपनी राशि बदलता है तो किन्हीं राशियों पर शनि साढ़े साती तो किन्हीं पर शनि ढैय्या शुरू हो जाती है। जिसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है। यहां आप जानेंगे शनि के राशि परिवर्तन के साथ कौन सी राशियां शनि के प्रभाव से मुक्त हो जायेंगी…

शनि साढ़े साती: शनि इस समय धनु राशि में विराजमान हैं। नये साल में ये इस राशि को छोड़ मकर राशि में प्रवेश कर जायेंगे। मकर राशि में शनि के आते ही कुंभ राशि वालों पर शनि साढ़े साती शुरू हो जायेगी। जबकि धनु राशि पर शनि साढ़े साती का अंतिम चरण तो मकर राशि पर दूसरा चरण शुरू हो जायेगा। तो वहीं वृश्चिक राशि वालों पर शनि साढ़े साती का प्रभाव खत्म हो जायेगा। जिससे आपको अपने करियर में सफलता मिलेगी और लंबे समय से रूके हुए कार्य पूरे होंगे।

शनि ढैय्या: वर्तमान में वृष और कन्या राशि वालों पर शनि की ढैय्या चल रही है। लेकिन 2020 में आपको इससे मुक्ति मिल जायेगी। जिससे आपके करियर में तरक्की के मार्ग खुलेंगे। लाइफ में आ रही तमाम परेशानियों का अंत होगा। तो वहीं 2020 में शनि के राशि परिवर्तन करते ही मिथुन और तुला वालों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जायेगी। जिससे आपको अपने जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। पारिवारिक झगड़ें बढ़ेंगे। सेहत भी काफी कमजोर रह सकती है।

शनि के दुषप्रभाव को कम करने के उपाय: जो लोग साल 2020 में शनि साढ़े साती या ढैय्या की चपेट में आने वाले हैं उन्हें इसके बुरे प्रभावों से बचने के लिए हर शनिवार शनि मंदिर में जाकर शनि की मूर्ति पर तेल चढ़ाना चाहिए। शनिवार के दिन पीपल के पेड़ की पूजा करने से भी विशेष लाभ प्राप्त होता है। इसी के साथ इस दिन काले तिल का दान, शमी के पेड़ की पूजा और चमड़े के जूते-चप्पल या कंबल का दान भी जरूर करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bigg Boss एक्स कंटेस्टेंट मंदाना करीमी का हॉट लुक वायरल, फारसी में समझाया प्यार का मतलब
2 'मैं शादी का फैसला लूंगा तो...', मलाइका से शादी का घरवालों के प्रेशर पर बोले Arjun Kapoor
3 चाणक्य नीति: इन बातों को कभी किसी से नहीं करना चाहिए शेयर, नहीं तो पड़ जायेंगे मुश्किल में
ये पढ़ा क्या?
X