ताज़ा खबर
 

Shani Sade Sati 2020: जानिए नए साल में किन 3 राशियों पर रहेगी शनि साढ़े साती, किन पर चलेगी ढैया

Shani Sade Sati 2020: धनु राशि के जातकों पर शनि पहले से ही शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव है। साल 2020 में शनि का गोचर इस राशि की कुंडली के दूसरे भाव में होगा।

Author Updated: December 9, 2019 10:16 AM
साल 2020 में शनि कुंभ राशि में गोचर करेगा।

Shani Sade Sati 2020: शनि की साढ़ेसाती और ढैया (shani dhaiya 2020) का प्रभाव शनि से प्रभावित राशियों पर पड़ता है। साल 2020 में शनि कुंभ राशि में गोचर करेगा। इस राशि की कुंडली में शनि बारहवें भाव में प्रवेश करेगा। जिसके प्रभाव से कुंभ राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती (Shani Sade Sati Effect) का प्रभाव शुरू हो जाएगा। जिसके परिणामस्वरूप आय और व्यय का संतुलन बिगड़ेगा और खर्च की अधिकता बनी रहेगी। साथ ही साथ शत्रु पक्ष से परेशान होना पड़ सकता है। इसके अलावा नौकरी-रोजगार में भी समस्या खड़ी हो सकती है। आगे जानते हैं और किन-किन राशियों पर शनि की साढ़ेसाती और ढैया का प्रभाव रहने वाला है।

धनु (Sagittarius): धनु राशि के जातकों पर शनि पहले से ही शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव है। साल 2020 में शनि का गोचर इस राशि की कुंडली के दूसरे भाव में होगा। जिसके परिणाम के तौर पर धन लाभ का योग बनेगा। परंतु, स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखना पड़ेगा। इसके अलावा मकान से संबंधित कार्यों पर धन व्यय होगा। माता का स्वास्थ्य प्रभावित होगा। आर्थिक प्रगति के लिए खास मेहनत करने की आवश्यकता पड़ेगी।

मिथुन (Gemini): इस राशि वालों की कुंडली में इस वक्त शनि सातवें भाव में गोचरस्थ है। परंतु, साल 2020 में शनि मिथुन राशि के जातकों के आठवें भाव में गोचर करेगा। कुंडली का आठवां भाव मृत्यु भाव कहा गया है। आठवें भाव में शनि के आने से वाणी में कठोरता का प्रभाव रहेगा। बातचीत के कारण बनते हुए काम भी बिगड़ते नजर आएंगे। साथ ही कार्यक्षेत्र में अधिकारियों से विवाद भी होगा। इसके अलावा नौकरी में अधिक मेहनत करने के आवश्यकता महसूस होगी।

तुला (Libra): इस समय शनि तीसरे भाव में स्थित है। 2020 में शनि का गोचर से चौथे भाव में होगा। जिसके कारण शनि की चौथी ढैया शुरू होगी। इस गोचर के प्रभाव से कोई पुराना रोग परेशान करेगा। इसके साथ ही गोचर की अवधि में शत्रु पक्ष से परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। नौकरी या कार्यक्षेत्र में काम का दबाव अधिक रहेगा। काम के दबाव के कारण मानसिक तनाव बढ़ेगा। इसके अलावा स्वास्थ्य से संबंधित कई प्रकार की समस्याएं पैदा होंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bigg Boss एक्स कंटेस्टेंट मंदाना करीमी का हॉट लुक वायरल, फारसी में समझाया प्यार का मतलब
2 'मैं शादी का फैसला लूंगा तो...', मलाइका से शादी का घरवालों के प्रेशर पर बोले Arjun Kapoor
3 चाणक्य नीति: इन बातों को कभी किसी से नहीं करना चाहिए शेयर, नहीं तो पड़ जायेंगे मुश्किल में
ये पढ़ा क्या?
X