ताज़ा खबर
 

शनि राशि परिवर्तन 2020: कुंभ वालों पर शनि की साढ़े साती हो रही है आरंभ, जानिए इससे बचने के उपाय

Shani Sade Sati Effects And Upay: 24 जनवरी से शनि मकर राशि में गोचर करने लगेंगे। मकर और धनु वालों पर पहले से ही शनि की साढ़े साती चल रही है। अब कुंभ राशि वालों (Shani Sade Sati On Kumbh Rashi) पर इसका पहला चरण शुरू हो जायेगा। जानिए शनि साढ़े साती का प्रभाव और उससे बचने के उपाय...

24 जनवरी को शनिदेव अपनी राशि बदलने जा रहे हैं।

Shani Sade Sati Upay: शनि की साढ़े साती का नाम सुनते ही लोगों को एक अलग ही तरह का डर सताने लगता है। क्योंकि शनि को हमेशा अशुभ परिणाम देने वाला ग्रह माना गया है। लेकिन ज्योतिष की मानें तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि शनि अशुभ फल ही दें। शनि का कैसा प्रभाव आपके ऊपर पड़ेगा इस बात की जानकारी आपकी कुंडली में शनि की स्थिति को देखकर मिलती है। 24 जनवरी को शनि अपनी राशि बदलने जा रहे हैं। जिससे कुंभ राशि के जातकों पर इसकी साढ़े साती शुरू हो जायेगी। जानिए शनि से बचने के उपाय…

Rashifal Shani Transit: 24 जनवरी को शनि के राशि परिवर्तन का आपकी लाइफ पर क्या पड़ेगा असर? जानिए

मेष (Aries ) | वृषभ (Taurus) मिथुन (Gemini) | कर्क (Cancer) सिंह (Leo) | कन्या (Virgo) | तुला (Libra) | वृश्चिक (Scorpio) | धनु (Sagittarius) मकर (Capricorn) | कुंभ (Aquarius) | मीन (Pisces)

Shani Sade Sati On Kumbh Rashi: शनि मकर राशि में गोचर करेंगे। मकर और धनु वालों पर पहले से ही शनि की साढ़े साती चल रही है। अब कुंभ राशि वालों पर इसका पहला चरण शुरू हो जायेगा। इसलिए इस राशि के जातकों को इस साल ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत पड़ेगी। नौकरी में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कार्यक्षेत्र में शत्रु परेशान कर सकते हैं। बिजनेस वालों के लिए भी समय मुश्किल भरा रहने के आसार हैं। आपकी लव लाइफ पर भी शनि साढ़े साती का विपरित प्रभाव पड़ता हुआ नजर आ रहा है। जानिए शनि साढ़े साती के उपाय…

– शनि ग्रह को मजबूत करने के लिए उनके इन प्रभावशाली मंत्रों का जाप करें। इन मंत्रों का जाप रोजाना या फिर कम से कम शनिवार के दिन तो अवश्य करें।
सूर्य पुत्रो दीर्घ देहो विशालाक्ष: शिव प्रिय:।
मंदाचाराह प्रसन्नात्मा पीड़ां दहतु में शनि:।।
ॐ शं शनैश्चराय नमः।
ॐ प्रां प्रीं प्रौ सं शनैश्चराय नमः।
ॐ नमो भगवते शनैश्चराय सूर्यपुत्राय नमः।

– शनि से जुड़े दोष दूर करने के लिए भगवान शिव और हनुमान जी की उपासना करें।

– शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे शाम के समय सरसों के तेल का दीपक जलाएं और शनि देव की मूर्ति पर सरसों का तेल चढ़ाएं।

– शनिदेव के दुष्प्रभावों से बचने के लिए शनिवार के दिन किसी मंदिर के प्रवेश द्वारा पर चमड़े का जूता या चप्पल छोड़ आएं। इसके बाद पीछे मुड़कर न देखें इससे शनि देव शांत होते हैं।

– हर शनिवार तेल का दान करें। इसके लिए एक कटोरी में सरसों का तेल लें उसमें अपना चेहरा देखकर उस कटोरी को दान कर दें। इससे शनि के दोषों से मुक्ति मिलती है।

– काले घोड़े की नाल से बना छल्ला बीच वाली उंगली में धारण करने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं। ये काम शनिवार के दिन ही करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Shani Rashi Parivartan 2020: शनि बदलेंगे अपनी राशि, जानिए भगवान हनुमान की पूजा से क्यों प्रसन्न होते हैं शनिदेव
2 Magha Navratri 2020: माघ गुप्त नवरात्रि कब से हो रही है शुरू? जानिए क्यों खास है मां दुर्गा की अराधना के ये नौ दिन
3 शनि राशि परिवर्तन: 24 जनवरी को शनि अपनी ही राशि में करेंगे गोचर, जानिए 12 राशियों पर इसका क्या होगा असर
ये पढ़ा क्या?
X