scorecardresearch

Shani Grah Upay: जन्मकुंडली में शनि ग्रह की अशुभ स्थिति से हैं परेशान, करें ये ज्योतिषीय उपाय

वैदिक ज्योतिष में शनि ग्रह को कैंसर, पैरालाइसिस, जुक़ाम, अस्थमा, चर्म रोग, फ्रैक्चर आदि बीमारियों का जिम्मेदार माना जाता है। अगर शनि ग्रह कुंडली में अशुभ स्थित हों तो इन चीजों से संबंधित परेशानी झेलनी पड़ती है। आइए जानते हैं शनि ग्रह के उपाय…

Shani Grah Upay: जन्मकुंडली में शनि ग्रह की अशुभ स्थिति से हैं परेशान, करें ये ज्योतिषीय उपाय
Shani Dev: शनि देव की पूजा के लिए बन रहा खास संयोग

Shani Grah Ke Upay: वैदिक ज्योतिष अनुसार व्यक्ति की जन्मकुंडली में अशुभ और शुभ दोनों प्रकार के ग्रह स्थित होते हैं। अगर ग्रह जन्मकुंडली में नकारात्मक मतलब नीच के विराजमान हो तो व्यक्ति को जिंदगी भर परेशानियों  को सामना करना पड़ता है। यहां हम बात करने जा रहे हैं शनि ग्रह के बारे में। अगर किसी व्यक्ति की जन्मकुंडली में शनि ग्रह नकारात्मक स्थित हों तो व्यक्ति को जीवन में कई प्रकार की परेशानियों का समना करना पड़ता है। यदि शनि मंगल ग्रह से पीड़ित हो तो व्यक्तित को दुर्घटना और कारावास जैसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। साथ ही  ज्योतिष में शनि ग्रह को कैंसर, पैरालाइसिस, जुक़ाम, अस्थमा, चर्म रोग, फ्रैक्चर आदि बीमारियों का जिम्मेदार माना जाता है। अगर व्यक्ति को इन सब चीजों से संबंधित परेशानी हो तो जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए ये उपाय करने चाहिए।

लगाएं ये पौधा

शनि ग्रह का आशीर्वाद पाने के लिए घर पर शमी का वृक्ष लगाना बेहद शुभ माना जाता है। शमी के वृक्ष में नियमित रूप जल अर्पित करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और आपको शनि के अशुभ प्रभावों से मुक्ति प्राप्त होती है। 

इन चीजों का करें दान

अगर जन्मकुंडली में शनि ग्रह नकारात्मक स्थित हों तो शनिवार के दिन काली चीजों जैसे उड़द की दाल, काला कपड़ा, काले तिल और काले चने को किसी गरीब को दान देने से शनिदेव की कृपा बनी रहती है।

पेड़ के नीचे जलाएं दीपक

शनिवार को शाम के समय पीपल के पेड़ के नीचे चौमुखा दीपक जलाने से धन, वैभव और यश में वृद्धि होती है। साथ ही ढैय्या और साढ़ेसाती के प्रभाव में कमी आती है। शनि देव की कृपा प्राप्त होती है।

कौवे और काले कुत्ते को खिलाएं रोटी

शनि ग्रह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए हर दिन कौवे को रोटी खिलाएं। विशेषकर शनिवार को उसे खाना जरूर खिलाएं। यदि काला कौवा न मिले तो आप काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।

इन चीजों से रहें दूर

वेदिक ज्योतिष अनुसार  जो व्यक्ति जुआ खेलना, सट्टा लगाना, शराब आदि नशीले पदार्थों का सेवन करता है। वह शनिदेव के कोप का भागी अवश्य बनता है। इसलिए व्यक्ति को इन सभी कार्यों से दूर रहना चाहिए। क्योंकि शनि देव को कर्मफलदाता कहा जाता है। इसलिए वह व्यक्ति को कर्मों के अनुसार फल देते हैं।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट