ताज़ा खबर
 

04 जुलाई को साल का दूसरा गुरु पुष्य योग, इन कार्यों के लिये माना जाता है शुभ

इस योग के दौरान वाहन, सोना, मकान या जमीन की खरीदारी करना उत्तम माना गया है। निवेश करने के लिए भी यह योग शुभ माना गया है साथ ही नए काम की शुरुआत इस दौरान की जा सकती है। नया कारोबार शुरु करने के लिए यह योग काफी फलदायी साबित होता है।

Author नई दिल्ली | July 4, 2019 11:31 AM
जानें गुरु पुष्य योग का महत्व।

ज्योतिष अनुसार साल में कुछ ऐसे योग बनते हैं जिन्हें काफी शुभ माना गया है। 04 जुलााई को लगने वाला गुरु पुष्य योग कई मायनों में खास माना गया है। गुरु और पुष्य नक्षत्र के संयोग से ऐसा योग बनता हैं। 2019 में इस तरह के तीन योग हैं। जिसमें से पहला योग 06 जनवरी को लग चुका है। दूसरा 04 जुलाई को लगा है और तीसरा 01 अगस्त को लगेगा। इस योग को दिवाली और अक्षय तृतिया की तरह ही शुभ फल देने वाला माना जाता है। 04 जुलाई को लगने वाला यह योग कई मायनों में खास हैं क्योंकि इसी दिन दो और शुभ योग अमृत सिद्धि योग और सर्वार्थ सिद्धि योग भी बना रहेगा। जिस कारण इस दिन किसी भी तरह का शुभ कार्य बिना सोच विचार के किया जा सकता है।

गुरु पुष्य योग में किन कार्यों को करें: इस योग के दौरान वाहन, सोना, मकान या जमीन की खरीदारी करना उत्तम माना गया है।  निवेश करने के लिए भी यह योग शुभ माना गया है साथ ही नए काम की शुरुआत इस दौरान की जा सकती है। नया कारोबार शुरु करने के लिए यह योग काफी फलदायी साबित होता है।

गुरु पुष्य योग में किन कार्यों को न करें: इस नक्षत्र को विवाह या उससे संबंधित कार्य नहीं करने चाहिए। इसके पीछे एक पौराणक कथा है जिसके अनुसार ब्रह्माजी अपनी बेटी शारदा का विवाह पुष्य नक्षत्र में करना चाहते थे लेकिन अपनी पुत्री के सौंदर्य पर वह खुद मोहित हो गए। ब्रह्माजी ने पुष्य नक्षत्र को अपने गलत विचारों का दोषी मानकर उन्हें शाप दे दिया। ब्रह्माजी के इसी शाप के कारण पुष्य नक्षत्र में विवाह संस्कार का आयोजन करना अच्छा नहीं माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में पुष्य नक्षत्र को सबसे शुभ माना गया है। इसे सभी 27  नक्षत्रों का राजा कहा जाता है। माना जाता है कि भगवान राम का जन्म भी इसी नक्षत्र में हुआ था। इस नक्षत्र में जन्में लोग बहुत मेहनती होते हैं। अपनी मेहनत से धीरे-धीरे ही सही लेकिन कामयाबी जरूर हासिल करते हैं। कम उम्र में तमाम परेशानियों का सामना करते हुए ये जल्दी परिपक्व और अंदर से मजबूत हो जाते हैं। इन्हें व्यवस्थित जीवन जीना पसंद होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App