scorecardresearch

Sawan Purnima 2022: 11 अगस्त को मनाई जाएगी सावन की पूर्णिमा? जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त

Sawan Purnima in August 2022: सावन में पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व है। आइए जानते हैं, सावन पूर्णिमा कब है?

Sawan Purnima 2022: 11 अगस्त को मनाई जाएगी सावन की पूर्णिमा? जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त
श्रावण पूर्णिमा के अवसर पर चंद्रमा और माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं। (Image: Freepik)

सावन पूर्णिमा 2022: हिंदू कैलेंडर के अनुसार, श्रावण के महीने में पड़ने वाली पूर्णिमा को सावन पूर्णिमा या श्रावणी पूर्णिमा के रूप में जाना जाता है। इस दिन स्नान और दान का बहुत महत्व है। इस साल सावन पूर्णिमा 11 अगस्त को मनाई जाएगी। शास्त्रों में इस दिन को बहुत ही शुभ माना जाता है क्योंकि इस दिन भाई-बहन के अटूट प्रेम के प्रतीक रक्षाबंधन का पर्व भी मनाया जाता है। इसके साथ ही पूर्णिमा के दिन देवी लक्ष्मी के साथ भगवान इंद्र की पूजा करने से शुभ फल मिलते हैं। जानिए सावन पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व।

पूर्णिमा के दिन चंद्रमा की पूजा करना लाभकारी

सावन की पूर्णिमा के दिन चंद्रमा की पूजा करने का विशेष महत्व है। ऐसा माना जाता है कि पूर्णिमा के दिन चंद्रदेव की पूजा और पूजा करने से धन संबंधी समस्याएं दूर होती हैं। चंद्रमा को मन का कारक माना गया है। इस दिन व्रत रखने और रात में चंद्रमा की पूजा करने से व्यक्ति को भौतिक सुख की प्राप्ति होती है। इसलिए पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के बाद अर्घ्य के साथ-साथ सिंदूर, अक्षत, फूल, भोग सहित अन्य चीजों का भोग लगाना चाहिए।

सावन पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त

तिथि- 11 अगस्त को चंद्रमा के उदय होने के कारण इस दिन सावन पूर्णिमा मनाई जाएगी.
श्रावण मास की पूर्णिमा – 11 अगस्त 2022, गुरुवार को प्रातः 10.38 बजे से
श्रावण पूर्णिमा समाप्त – 12 अगस्त 2022 को सुबह 07:05 बजे तक
अभिजीत मुहूर्त- 11 अगस्त को दोपहर 12 बजे से 12 बजकर 53 मिनट तक

सावन पूर्णिमा पर बन रहा है विशेष योग

इस वर्ष सावन मास की पूर्णिमा के दिन 3 शुभ योग बन रहे हैं जो आयुष्मान योग, रवि योग और सौभाग्य योग हैं।

रवि योग – प्रातः 5:48 से प्रातः 6:53 तक
आयुष्मान योग – सुबह से दोपहर 3.32 बजे तक
सौभाग्य योग – अगले दिन दोपहर 3.32 बजे से 11.34 बजे तक

श्रावण पूर्णिमा का रक्षाबंधन से संबंध

हिन्दू पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन या राखी का पर्व केवल श्रावण पूर्णिमा के अवसर पर ही मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं और उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को उपहार और दक्षिणा देते हैं, साथ ही उनकी रक्षा का वचन भी देते हैं। इस साल रक्षाबंधन 11 अगस्त को मनाया जाएगा।

श्रावण पूर्णिमा पर चंद्रोदय

श्रावण पूर्णिमा के दिन चंद्रमा शाम 06:55 बजे उदय होगा और अगले दिन 12 अगस्त को सुबह 05:44 बजे चंद्रोदय होगा।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट