ताज़ा खबर
 

श्रावण मास: 17 जुलाई से आरंभ होगा भगवान शिव की अराधना का महीना, जानें इसका महत्व

Sawan Month: इस महीने में सावन स्नान की परंपरा है, जो पिछले कई दशकों से चली आ रही है। साथ ही इसी महीने भक्त कांवड़ यात्रा पर भी जाते हैं। कावड़ यात्रा पर जाने वाले शिव भक्तों को कांवरिया अथवा कांवड़िया कहते हैं। इस दौरान लाखों की संख्या में शिव भक्त हरिद्वार और गंगोत्री समेत अनेक धामों की यात्रा करेंगे।

17 जुलाई से शुरु होगा सावन का महीना।

Shravan Maas 2019 : 17 जुलाई से भगवान शिव की अराधना करने वाला महीना यानि सावन माह शुरु होने वाला है। हिंदू धर्म में इस महीने का खास महत्व होता है। हिंदू कैलेंडर के हिसाब से यह साल का पांचवा महीना होता है तो वहीं अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह जुलाई और अगस्त के बीच का महीना है। भगवान शिव का प्रिय सावन महीना पूजा-पाठ की दृष्टि से काफी महत्व रखता है। भक्त इन दिनों व्रत रखकर भगवान की उपासना करते हैं। खासकर सावन सोमवार व्रत का विशेष महत्व होता है। हिंदू धार्मिक ग्रंथ शिव पुराण के मुताबिक जो व्यक्ति सावन के महीने में सोमवार का व्रत रखता है, उसकी भगवान शिव सारी मनोकामना पूरी कर देते हैं।

इस महीने में सावन स्नान की परंपरा है, जो पिछले कई दशकों से चली आ रही है। साथ ही इसी महीने भक्त कांवड़ यात्रा पर भी जाते हैं। कावड़ यात्रा पर जाने वाले शिव भक्तों को कांवरिया अथवा कांवड़िया कहते हैं। इस दौरान लाखों की संख्या में शिव भक्त हरिद्वार और गंगोत्री समेत अनेक धामों की यात्रा करेंगे। वे इन तीर्थ स्थलों से गंगा जल से भरी कांवड़ को अपने कंधों पर रखकर पैदल लाते हैं और बाद में वह गंगा जल शिव को चढ़ाया जाता है। साथ ही सावन के महीने में शिव भक्त ज्योर्तिलिंगों के दर्शन करने के लिए भी जाते हैं। जिसमें काशी, हरिद्वार, नासिक और उज्जैन समेत कई धार्मिक स्थल शामिल हैं।

सावन महीना शिवजी के साथ मां पार्वती को भी समर्पित है। ऐसा माना जाता है कि जो भक्त इस महीने सच्चे मन और पूरी श्रद्धा के साथ भगवान शिव का व्रत धारण करते हैं, उन्हें शिव का आशीर्वाद अवश्य प्राप्त होता है। शादीशुदा महिलाएं अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाने और अविवाहित महिलाएं अच्छे वर की प्राप्ति के लिए भी सावन का व्रत रखती हैं।

कब से कब तक रहेगा सावन माह: बुधवार यानि 17 जुलाई से सावन का महीना शुरु हो रहा है। इस महीने का पहला सोमवार 22 जुलाई को पड़ेगा। जिस दिन से लोग सावन सोमवार व्रत का आरंभ कर सकेंगे। उसके बाद दूसरा सावन सोमवार व्रत 29 जुलाई को तीसरा 05 अगस्त को चौथा सावन सोमवार व्रत 12 अगस्त को पड़ेगा। इसके बाद गुरुवार 15 अगस्त को श्रावण मास का अंतिम दिन होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Happy Valentine's Day 2020 Wishes, Images: वेलेंटाइन डे पर अपने पार्टनर से शेयर करें अपने दिल की बात
2 Valentine Special: राशि से जानिए किन राशि के लोगों को लाइफ में कितनी बार तक हो सकता है प्यार
3 Mahashivratri 2020: जानिए, क्यों मनाई जाती है महाशिवरात्रि, इस दिन क्या करना चाहिए
ये पढ़ा क्या?
X