ताज़ा खबर
 

हरियाली तीज पूजा विधि: कैसे रखें व्रत, रखें इन चीजों का ध्यान, जानिए क्या होता है लाभ

Hariyali Teej Puja Vidhi: सावन का महीना चल रहा है और इस महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को सावन की तीज मनाई जाती है। इस साल हरियाली तीज 26 जुलाई को मनाया जाएगा और 26 जुलाई को बुधवार है।

Hariyali Teej Puja Vidhi: : सांकेतिक फोटो

Hariyali Teej Puja Vidhi: सावन का महीना चल रहा है और इस महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को सावन की तीज मनाई जाती है। इस साल हरियाली तीज बुधवार (26 जुलाई) को मनायी जा रही है। हरियाली तीज के बुधवार को होने के कारण यह त्यौहार और भी पुण्यदायी और शुभ बन गया है। बुधवार के दिन को भगवान गणेश का दिन माना जाता है। गणेश भगवान शिवजी और माता पार्वती के पुत्र हैं। ऐसे में इस त्यौहार का महत्व और भी बढ़ जाता है। आज हम आपके लिए लाए हैं हरियाली तीज की पूजा पाठ की विधि-

हरियाली तीज के दिन प्रातः सुबह उठना चाहिए और उठकर स्नान अवश्य करना चाहिए। पूजा के स्थान पर झूला बनाएं और उसे आम, चंपा, चमेली और अशोक के पत्तों व गुलाब आदि से सजाना चाहिए। जो स्त्रियां इस दिन व्रत रखते हैं उन्हें भगवान शिवजी की पूजा करने के बाद ही व्रत खोलना चाहिए। इस बार हरियाली तीज बुधवार को है इसलिए पूजा-पाठ के बाद लड्डू का भोग जरूर लगाएं, क्योंकि लड्डू भगवान गणेश को बहुत पसंद हैं।

पौराणिक कथाओं के मुताबिक कुंवारी लड़कियां भी मनोवांछित वर की प्राप्ति के लिए व्रत रखकर माता पार्वती की पूजा करती हैं। कहा जाता है कि हरियाली तीज के दिन भगवान शिवजी ने माता पार्वती को पत्नी के रूप में स्वीकार करने का वरदान दिया था। इस दिन माता पार्वती के कहने पर भगवान शिवजी ने आशीर्वाद दिया था कि जो भी कुंवारी कन्या इस व्रत को रखेगी उसकी शादी में आने वाली बाधाएं दूर होगी।

ज्योतिषियों के मुताबिक इस शुक्रवार सांय 5.09 बजे मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे। इस दिन पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र रहेगा, जो पूजा के शुभ माना जाता है। बुध मिथुन राशि का स्वामी है। इस दिन बुध और शुक्र का संबंध लाभकारी रहेगा। नवविवाहित महिलाएं इस दिन अपने घर आकर व्रत रखते हैं। इस दिन कई महिलाएं निर्जला व्रथ रखती हैं। इस दिन व्रत के साथ-साथ शाम के व्रत की कथा सुनी जाती है। मान्यता है कि व्रत करने के बाद धन, विवाह संतानादि भौतिक सुखों में वृद्धि होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App