इन 6 चीजों को शिवलिंग पर चढ़ाने से बचें, अशुभ फल मिलने की है मान्यता

Shivling: हिंदू धर्म में शिवलिंग पूजन को बहुत ही अहम माना जाता है। ‘शिव’ का अर्थ है – ‘कल्याणकारी’। ‘लिंग’ का अर्थ है – ‘सृजन’

Sawan 2021, सावन 2021, शिवलिंग पर क्या चढ़ाएं, shivling
ऐसी मान्यता है कि महादेव को लाल और केतकी के फूल नहीं चढ़ाना चाहिए

Sawan 2021: सावन का महीना शिवभक्तों के लिए खास होता है, इस माह में लोग महादेव को प्रसन्न करने के लिए तमाम उपाय अपनाते हैं। व्रत रखते हैं, पूजा-अर्चना करते हैं, कथा-आरती सुनते और सुनाते हैं। भगवान शिव को समर्पित इस माह में लोग शिवलिंग की पूजा करते हैं और उन्हें चढ़ावा अर्पित करते हैं। माना जाता है कि शिवलिंग पर बेलपत्र, चंदन, अक्षत और धतूरा चढ़ाना लाभकारी होता है। हालांकि, शिवलिंग पर कुछ चीजों का चढ़ावा वर्जित भी है। जानिये –

तुलसी पत्ता: विद्वानों के मुताबिक तुलसी पत्तों को शिवलिंग पर अर्पित करने से बचना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि तुलसी की उत्पत्ति असुर जलंधर की पत्नी बृंदा के आंसुओं से हुई थी। उन्हें भगवान विष्णु की पत्नी के रूप में स्वीकार किया जाता है। इसी वजह से शिवलिंग पर तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए।

हल्दी: आपने देखा होगा कि शुभ आयोजनों और पूजा-पाठ के मौके पर हल्दी का इस्तेमाल होता होगा। लेकिन शिवलिंग पर हल्दी चढ़ाने की मनाही होती है। शास्त्रों में इस बात का उल्लेख मिलता है कि शिवलिंग पौरुष का सूचक होता है। वहीं, हल्दी को सौंदर्य की निशनी के रूप में देखा जाता है। साथ ही, पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक भगवान विष्णु और सौभाग्य से हल्दी का संबंध होता है। साथ ही, मान्यता ये भी है कि शिवजी को हल्दी चढ़ाने से चंद्रमा कमजोर हो जाता है।

सिंदूर: पति की लंबी आयु के लिए सुहागिन महिलाएं मांग में सिंदूर लगाती हैं। हालांकि, शिव पुराण में इस बात का जिक्र है कि भगवान भोलेनाथ को सिंदूर नहीं चढ़ाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि शिव को विनाशक कहा जाता है। इसी वजह से शिवलिंग पर भी कुमकुम अर्पित नहीं करना चाहिए।

लाल फूल: ऐसी मान्यता है कि महादेव को लाल और केतकी के फूल नहीं चढ़ाना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक भगवान शिव ने किसी बात को लेकर झूठ बोलने पर केतकी फूल को श्राप दिया था कि कभी भी उनकी पूजा या शिवलिंग पर इन फूलों को अर्पित नहीं किया जाएगा।

नारियल: नारियल को मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है, ऐसे में इनका संबंध भगवान विष्णु से होता है। यही कारण है कि शिवलिंग के ऊपर नारियल अर्पित करने से बचना चाहिए।

तिल: कहते हैं कि भगवान विष्णु जी के मैल से तिल की उत्पत्ति हुई थी, इसी वजह से शिवलिंग पर इसे नहीं चढ़ाना चाहिए।

अपडेट
X