scorecardresearch

12 जुलाई से शनि देव होने जा रहे हैं वक्री, इन 3 राशि वालों के शुरू होंगे अच्छे दिन, हर कार्य में सफलता के योग

कर्मफल दाता शनि देव 12 जुलाई से वक्री होने जा रहे हैं। शनि देव के वक्री होने से 3 राशि के जातकों को अच्छा धनलाभ हो सकता है।

shani gochar 2022, Saturn gochar 2022
शनि देव इन राशियों पर रहेंगे मेहरबान- (जनसत्ता)

वैदिक ज्योतिष के मुताबिक जब भी कोई ग्रह गोचर करता है। तो उसका सीधा प्रभाव मानव जीवन और पृथ्वी पर पड़ता है। आपको बता दें कि कर्मफल दाता शनि देव 12 जुलाई को मकर राशि में वक्री होने जा रहे हैं। वक्री मतलब किसी भी ग्रह का उल्टी चाल से चलना है। मतलब शनि अब कुंभ राशि से मकर राशि में वक्री होंगे, जिसका असर सभी राशियों पर पड़ेगा, लेकिन 3 राशियां ऐसीं हैं, जिनको इस समय विशेष धनलाभ हो सकता है। आइए जानते हैं ये 3 राशियां कौन सीं हैं।

मेष राशि: आपकी राशि से शनि देव दशम भाव में वक्री होंगे, जिसे कर्मक्षेत्र और नौकरी का स्थान कहा जाता है।। इसलिए इस दौरान आपके मान- सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि हो सकती है। साथ ही इस समय आपको नई नौकरी का प्रस्ताव आ सकता है या फिर आपकी पदोन्नति हो सकती है। व्यापार में आपको इस दौरान अच्छा धनलाभ हो सकता है। साथ ही इस समय आपकी कार्यशैली में भी निखार देखने को मिलेगा। साथ ही कार्यक्षेत्र में आपकी तारीफ हो सकती है।

जिससे बॉस आपसे खुश हो सकते हैं। साथ ही इस समय आपको राजनीति में भी सफलता मिल सकती है। मतलब कोई पद भी आपको मिल सकता है। साथ ही शेयर मार्केट में भी आपको अच्छा धनलाभ हो सकता है। हालांकि यहां पर देखने वाली बात यह है कि शनि देव आपकी कुंडली में किस स्थिति में विराजमान हैं। उसके अनुसार ही फल की प्राप्ति होगी।

धनु राशि: आप लोगों के लिए शनि देव का वक्री होना लाभप्रद साबित हो सकता है। क्योंकि शनिदेव आपके दूसरे भाव में वक्री होंगे। जिसको धन और वाणी का स्थान कहा जाता है। इसलिए इस समय आपको आकस्मिक धनलाभ की प्राप्ति हो सकती है। साथ ही अटका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। जिन लोगों का करियर वाणी से संबंधित से उनको भी यह समय शानदार रहने वाला है। वहीं वाहन और जमीन, जायदाद के क्रय- विक्रय के लिए समय अच्छा है। इस समय आप किसी प्रापर्टी खरीदने का मन भी बना सकते हैं। साथ ही इस समय आपको राजनीति में सफलता मिल सकती है और कोई पद आपको मिल सकता है। अगर आपका व्यापार शनि ग्रह से जुड़ा हुआ है तो आपको विशेष लाभ हो सकता है। इस समय आप एक नीली उपरत्न धारण कर सकते हैं।

मीन राशि: आपके लिए शनि ग्रह का वक्री होना लाभप्रद साबित हो सकता है। क्योंकि आपकी राशि से शनि देव 11वें स्थान में वक्री होंगे, जिसे इनकम और लाभ का स्थान कहा जाता है। इसलिए इस दौरान आपकी आय में वृद्धि हो सकती है। साथ ही आय के नए- नए स्त्रोत भी बनेंगे। व्यापार में नए संबंध बन सकते हैं। वहीं आप कारोबार में नई डील फाइनल कर सकते हैं। साथ ही बिजनेस में मुनाफा अच्छा होगा। वहीं अगर आपका व्यापार या करियर गुरु ग्रह से जुड़ा हुआ है तो आपको यह समय शानदार रहने वाला है। आप लोग एक फिरोजा धारण कर सकते हैं। जिससे आपको अच्छा करियर और व्यापार में लाभ होगा।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट