ताज़ा खबर
 

Saraswati Puja 2020: मां शारदे की आरती, वंदना, कथा और पूजा विधि विस्तार से जानें यहां

Saraswati Puja/Basant Panchami 2020 Puja Vidhi, Shubh Muhurat, Timings, Aarti, Samagri, Mantra: बंसत पंचमी का उत्सव विद्या और बुद्धि की देवी सरस्वती की पूजा के लिए अत्यंत शुभ माना गया है।

saraswati Mantra: पौराणिक कथा के मुताबिक बसंत पंचमी के दिन ही सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा जी ने देवी सरस्वती का निर्माण किया था।

Maa Saraswati: आज बसंत पंचमी का त्योहार है जो हर साल माघ शुक्ल पंचमी के दिन मनाया जाता है। सरस्वती पूजा के दिन से ही वसंत ऋतु का आगमन भी होता है। सरस्वती पूजा दोपहर के समय की जाती है। मान्यता है कि जिस इंसान पर मां सरस्वती की कृपा होती है, उसकी बुद्धि प्रखर और अन्य से अलग होती है। देवी सरस्वती से विद्या और बुद्धि की प्रखरता प्राप्त करने के लिए ही वसंत पंचमी पर इनकी अराधना का महत्व होता है।

वसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त (Vasant Panchami Shubh Muhurat):

वसन्त पंचमी सरस्वती पूजा मुहूर्त – 10:45 ए एम से 12:34 पी एम
अवधि – 01 घण्टा 49 मिनट्स
वसन्त पंचमी मध्याह्न का क्षण – 12:34 पी एम
पंचमी तिथि प्रारम्भ – जनवरी 29, 2020 को 10:45 ए एम बजे
पंचमी तिथि समाप्त – जनवरी 30, 2020 को 01:19 पी एम बजे

सरस्वती वन्दना (Saraswati Vandana):

इस सरस्वती स्तुति का पाठ वसन्त पंचमी के पावन दिन पर सरस्वती पूजा के दौरान किया जाता है।
या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता।
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना॥
या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता।
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥१॥

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं।
वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌॥
हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌।
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥२॥

सरस्वती ध्यान मंत्र (Saraswati Mantra)

ॐ सरस्वती मया दृष्ट्वा, वीणा पुस्तक धारणीम्।
हंस वाहिनी समायुक्ता मां विद्या दान करोतु में ॐ।।

महासरस्वती मंत्र (Mahasaraswati Mantra)

ॐ ऐं महासरस्वत्यै नमः

सरस्वती मंत्र ज्ञान प्राप्ति के लिए (Saraswati Mantra for Wisdom)

वद वद वाग्वादिनी स्वाहा

सरस्वती मंत्र संपत्ति और विद्या के लिए (Saraswati Mantra for Wisdom and Money)

ॐ अर्हं मुख कमल वासिनी पापात्म क्षयम् कारी वद वद वाग्वादिनी सरस्वती ऐं ह्रीं नमः स्वाहा

मां सरस्वती की आरती (Saraswati Aarti):

जय सरस्वती माता, मैया जय सरस्वती माता।
सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता॥
जय सरस्वती माता…

चन्द्रवदनि पद्मासिनि, द्युति मंगलकारी।
सोहे शुभ हंस सवारी, अतुल तेजधारी॥
जय सरस्वती माता…

बाएं कर में वीणा, दाएं कर माला।
शीश मुकुट मणि सोहे, गल मोतियन माला॥
जय सरस्वती माता…

देवी शरण जो आए, उनका उद्धार किया।
पैठी मंथरा दासी, रावण संहार किया॥
जय सरस्वती माता…

विद्या ज्ञान प्रदायिनि, ज्ञान प्रकाश भरो।
मोह अज्ञान और तिमिर का, जग से नाश करो॥
जय सरस्वती माता…

धूप दीप फल मेवा, माँ स्वीकार करो।
ज्ञानचक्षु दे माता, जग निस्तार करो॥
जय सरस्वती माता…

माँ सरस्वती की आरती, जो कोई जन गावे।
हितकारी सुखकारी, ज्ञान भक्ति पावे॥
जय सरस्वती माता…

जय सरस्वती माता, जय जय सरस्वती माता।
सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता॥

Live Blog

Highlights

    06:22 (IST)30 Jan 2020
    इन मंत्रों से करें मां सरस्वती की वंदना

    सरस्वती पूजा मंत्र -1या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता।या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना॥या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता।सा माम् पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥1॥

    शुक्लाम् ब्रह्मविचार सार परमाम् आद्यां जगद्व्यापिनीम्।वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌॥हस्ते स्फटिकमालिकाम् विदधतीम् पद्मासने संस्थिताम्‌।वन्दे ताम् परमेश्वरीम् भगवतीम् बुद्धिप्रदाम् शारदाम्‌॥2॥

    सरस्वती पूजा मंत्र -2सरस्वती नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणी, विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु में सदा।

    06:19 (IST)30 Jan 2020
    बसंत पंचमी पर मां सरस्वती की आरती

    जय सरस्वती माता, मैया जय सरस्वती माता।सद्गुण, वैभवशालिनि, त्रिभुवन विख्याता ।।जय..।।

    चन्द्रवदनि, पद्मासिनि द्युति मंगलकारी।सोहे हंस-सवारी, अतुल तेजधारी।। जय.।।

    बायें कर में वीणा, दूजे कर माला।शीश मुकुट-मणि सोहे, गले मोतियन माला ।।जय..।।

    देव शरण में आये, उनका उद्धार किया।पैठि मंथरा दासी, असुर-संहार किया।।जय..।।

    वेद-ज्ञान-प्रदायिनी, बुद्धि-प्रकाश करो।।मोहज्ञान तिमिर का सत्वर नाश करो।।जय..।।

    धूप-दीप-फल-मेवा-पूजा स्वीकार करो।ज्ञान-चक्षु दे माता, सब गुण-ज्ञान भरो।।जय..।।

    माँ सरस्वती की आरती, जो कोई जन गावे।हितकारी, सुखकारी ज्ञान-भक्ति पावे।।जय..।।

    Next Stories
    1 आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang) 29 January 2020: शुभ रवि योग में मनाया जायेगा बसंत पंचमी का त्योहार, जानिए सरस्वती पूजा का समय
    2 Love Horoscope 29 January 2020: कन्या और कुंभ को सिंगल को मिल सकता है मिंगल होने का मौका, सावधान रहें मीन वाले लव कपल्स
    3 Horoscope Today, 29 January 2020: कर्क- मिथुन के बनेंगे बिगड़े काम और मिलेगा जबरदस्त लाभ, जानिए बाकी राशियों का हाल