ताज़ा खबर
 

पैरों की उंगलियों के आकार से पता चल सकता है व्यक्तित्व, जानिए क्या कहता है सामुद्रिक शास्त्र

इस शास्त्र की रचना ऋषि समुद्र ने की थी इसलिए इस शास्त्र को समुद्र शास्त्र भी कहा जाता है। इस शास्त्र में शरीर के सभी अंगों की तरह ही पैरों की उंगलियों के बारे में भी तर्क प्रस्तुत किए गए हैं।

samudrik shastra, toe, samudra shastraसामुद्रिक शास्त्र में पैरों की उंगलियां के बारे में भी बताया जाता हैं।

Samudra Shastra: सामुद्रिक शास्त्र में शरीर के अंगों के आकार को देखकर यह पता लगाने की कोशिश की जाती है कि शरीर की बनावट व्यक्ति के भविष्य को किस प्रकार प्रभावित कर सकती है। साथ ही यह भी पता किया जाता है कि अंगों की बनावट की वजह से उस व्यक्ति का जीवन किस तरह की परिस्थितियों में व्यतीत होगा।

इस शास्त्र की रचना ऋषि समुद्र ने की थी इसलिए इस शास्त्र को समुद्र शास्त्र भी कहा जाता है। इस शास्त्र में शरीर के सभी अंगों की तरह ही पैरों की उंगलियों के बारे में भी तर्क प्रस्तुत किए गए हैं। विद्वानों की मानें तो पैरों की उंगलियों से किसी व्यक्ति का व्यक्तित्व जाना जा सकता है।

पतली उंगलियां – जिस व्यक्ति के पैरों की उंगलियां पतली होती हैं उस व्यक्ति को बहुत कंजूस माना जाता है। कहते हैं कि ऐसे व्यक्ति में भावुकता भी बहुत कम होती है। साथ ही यह भी बताया जाता है कि ऐसा व्यक्ति दूसरों के जीवन पर भी अपने फैसलों को थोपता है। इन्हें रॉयल जीवन जीने का शौक होता है।

मोटी उंगलियां – बताया जाता है कि जिन लोगों के पैरों की उंगलियां मोटी होती हैं उन्हें अपने सभी मित्रों, रिश्तेदारों और परिवार के लोगों से बहुत प्यार मिलता है। ऐसे लोग बहुत खुशमिजाज होते हैं। इन्हें बहुत गुस्सा नहीं आता है। यह लोग कोशिश करते हैं कि इनकी वजह से किसी और को कभी दुख ना सहना पड़े।

उंगलियां के बीच ज्यादा दूरी होना – सामुद्रिक शास्त्र में यह बताया जाता है कि जिन लोगों के पैरों की उंगलियों के बीच बहुत ज्यादा दूरी होती है वो लोग स्वभाव से स्वार्थी होते हैं। ऐसे लोगों में भावुकता कम होती है। इन्हें समाज में रहने की बहुत इच्छा होती है। ऐसे लोग समाज के बारे में सोच-समझकर ही अपने जीवन का कोई फैसला लेना पसंद करते हैं।

उंगलियों के बीच दूरी ना होना – कहते हैं कि जिन लोगों के पैरों के उंगलियों के बीच बिल्कुल भी दूरी नहीं होती हैं वो लोग बहुत ईमानदार होते हैं। इन लोगों को समाज से दूरी बनाकर रखना पसंद होता हैं। साथ ही इनकी यह कोशिश होती है कि यह केवल उतने ही लोगों को अपने साथ रखें जिनके साथ इन्हें खुशी महसूस हों।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Chhath Puja 2020 Vrat Katha, Vidhi: छठ पूजा की कथा को पढ़ने-सुनने से मनोकामना पूर्ति की है मान्यता, जानें
2 Chhath Puja 2020 Puja Vidhi, Shubh Muhurat: प्राचीन विधि से दें सूर्य देव को अर्घ्य, जानें विधि और शुभ मुहूर्त
3 आज का पंचांग, 20 नवंबर 2020: आज बनेगा अभिजीत मुहूर्त, जानिये छठ पूजा का शुभ मुहूर्त, अर्घ्य और राहु काल का समय
यह पढ़ा क्या?
X