ताज़ा खबर
 

हथेली पर तिल होता है खास, जानिये क्या कहता है सामुद्रिक शास्त्र

शरीर पर हर जगह तिल होने का अलग मतलब होता है। इस शास्त्र में हथेली के तिल के भी अलग-अलग मतलब बताए गए हैं। कहते हैं कि हथेली पर कुछ तिल शुभ होते हैं और कुछ अशुभ होते हैं।

Samudrik Shastra, Samudra Shastra, Samudrik Shastra Meaning of Moles on Palmदाहिनी हथेली के ऊपरी हिस्से पर तिल को बहुत शुभ माना जाता है।

Samudrik Shastra Meaning of Moles on Palm : शरीर पर कई जगह तिल होते हैं। लोग अक्सर उनका मतलब जानना चाहते हैं। विज्ञान में तिल होना स्वाभाविक माना जाता है। लेकिन सामुद्रिक शास्त्र में यह माना जाता है कि शरीर पर हर जगह तिल होने का अलग मतलब होता है। इस शास्त्र में हथेली के तिल के भी अलग-अलग मतलब बताए गए हैं। कहते हैं कि हथेली पर कुछ तिल शुभ होते हैं और कुछ अशुभ होते हैं।

दाहिनी हथेली के ऊपरी हिस्से पर तिल को बहुत शुभ माना जाता है। कहते हैं कि ऐसा तिल व्यक्ति को धनवान बनाता है। जबकि बाएं हाथ के ऊपरी हिस्से की हथेली पर तिल होने से व्यक्ति जो भी पैसा कमाता वह तुरंत खर्च हो जाता है। ऐसे लोग धन संचय नहीं कर पाते हैं।

जिस व्यक्ति के हाथ के चंद्र पर्वत पर तिल होता है उसका मन बहुत चंचल होता है। ऐसे लोगों का मन अक्सर बेचैन रहता है। इन्हें वैवाहिक सुख देर से मिलता है। माना जाता है कि ऐसे लोगों की शादी में भी कई अड़चनें आती हैं।

कहा जाता है कि जिन लोगों के सूर्य पर्वत के ऊपर तिल होता है वह अशुभ संकेत देने वाला होता है। इन लोगों के पिता के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। ऐसे लोगों को सरकारी नौकरी के अवसर बहुत मुश्किल से मिलते हैं।

हथेली के बीच में तिल होने से व्यक्ति बहुत मजाकिया होने के साथ-साथ भीड़ में भी अकेला रह जाता है। यह तिल उम्र बढ़ने के साथ शुभ फल देता है। कहा जाता है कि ऐसे लोगों को घूमने-फिरने का बहुत शौक होता है।

हथेली और अंगूठे के बीच के हिस्से में तिल होने पर मनुष्य को कलात्मक माना जाता है। कहते हैं कि ऐसे लोग कलात्मक विषयों में बेहतरीन प्रदर्शन करते हैं। यह बहुत भावुक होते हैं। इन्हें अपनी माता या ननिहाल के रिश्तेदारों से विशेष लगाव होता है।

शनि पर्वत पर तिल होने से मिले-जुले फलों की प्राप्ति होती है। ऐसा व्यक्ति अलग-अलग भाषाओं को सीखने में बहुत रुचि रखता है। माना जाता है कि यह लोग कामुक होते हैं। इन्हें नए दोस्त बनाना पसंद होता है।

बृहस्पति पर्वत पर तिल होना अशुभ माना जाता है। कहते हैं कि यहां तिल होने से बृहस्पति ग्रह के अशुभ फलों को झेलना पड़ता है। हमारे जीवन में शिक्षा, विवाह, संतान और रोजगार को बृहस्पति ग्रह ही प्रभावित करता है।

कनिष्ठा उंगली के निचले हिस्से पर तिल व्यक्ति को आत्मविश्वास से भर देता है। माना जाता है कि ऐसे लोग विज्ञान से जुड़े क्षेत्रों में बहुत रुचि रखते हैं। इन्हें अपने परिवार के प्रति बहुत भावनात्मक महसूस होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कर्ज से मुक्ति दिलाते हैं ये 5 सपने, स्वप्न शास्त्र में बताई गई है इनकी खासियत
2 जानिये विश्वकर्मा पूजा का शुभ मुहूर्त, इन दिन बनने वाले खास योग और अन्य जानकारियां
3 विश्वकर्मा पूजा बगैर आरती के मानी जाती है अधूरी, सुख-समृद्धि के लिए इस आरती को सुनें-सुनाएं
राशिफल
X