ताज़ा खबर
 

भगवान बुरे समय में भी नहीं छोड़ते हैं अपने भक्तों का हाथ, जानिए कैसे बनता है संपर्क

भगवान एक मान्यता है हर किसी के लिए ये अलग-अलग रुप में मौजूद है। ऐसा माना जाता है कि भगवान अपने भक्तों के बुरे समय में उसे संकेत देते हैं।

Author November 27, 2017 11:02 AM
व्यक्ति का कैसा भी समय हो, उसमें कहीं ना कहीं भगवान की कोई कृपा ही होती है।

आजकल जिस तरह की जीवनशैली हो गई है उसमें कई बार समस्याएं हमें घेर लेती हैं और तब समझ नहीं आता है और कोई भी चीज को सफल रुप नहीं दिया जा पाता है। ऐसे में कई बार हम इतना परेशान हो जाते हैं कि इस परेशानी से निकलने में भगवान हमारी मदद कर सकते हैं ये भी नहीं सोच पाते हैं । ऐसे में जरुरी होता है कि भगवान को याद किया जाए उनसे प्रार्थना की जाए। भगवान एक ऐसी शक्ति और मान्यता है जिसमें माना जाता है कि व्यक्ति का कैसा भी समय हो, उसमें कहीं ना कहीं भगवान की कोई कृपा ही होती है। ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है कि भगवान या खुदा जिसमें हमारी मान्यता होती है वो हमारे पास आकर परेशानी का हल बताकर जाता है, भगवान एक तरह का विश्वास है जिसे मानना और ना मानना हर किसी की इच्छानुसार है।

मान्यता है कि व्यक्ति जब तनाव से घिरा हुआ होता है तब उसे प्रकृति के संपर्क में रहना चाहिए, ये दिमाग को शांत करने में मदद करती है और ऐसा माना जाता है कि जब दिमाग शांत होता है तो भगवान किसी ना किसी रुप में आकर व्यक्ति की परेशानी का हल देते हैं। इसके साथ ही जब व्यक्ति सच्चे दिल से प्रार्थना करता है तो उसकी इच्छा जरुर पूरी होती है। इसके लिए अपने मन में नकारात्मक विचार बिल्कुल नहीं आने दें। भगवान ने माता-पिता के रुप में अपनी परछाई हर किसी को दी है, यदि किसी तरह की परेशानी होती है तो उनसे ज्यादा आपकी मदद कोई नहीं कर सकता है।

भगवान एक मान्यता है हर किसी के लिए ये अलग-अलग रुप में मौजूद है। ऐसा माना जाता है कि भगवान अपने भक्तों के बुरे समय में उसे संकेत देते हैं और इन्हीं की मदद से जीवन में सकारात्मकता मिलती है। चाहे कितना भी बुरा समय क्यों ना हो व्यक्ति को भगवान या किसी अन्य शक्ति पर विश्वास जरुर करना चाहिए। जीवन में किसी भी क्षेत्र में कदम रखने के लिए आशा का होना बहुत जरुरी है। माना जाता है कि आशा का संबंध भगवान से भी होता है। सकारात्मक आशा रखना बुरे समय में भी आपको बचाए रख सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App