ताज़ा खबर
 

Ramadan 2019 Fourth Roza: 40 डिग्री तापमान में भी ये 5 चीजें आपको रखेंगी कूल, रोजे में ऐसे रखें अपना ख़्याल

Ramadan Mubarak 2019 Fourth Roza: माह-ए-मुकद्दस रमज़ान के तहत आज (10 मई) चौथा रोजा रखा जा रहा है। 33 साल बाद ऐसा हो रहा है, जब रमज़ान का पूरा महीना मई में है। हम आपको दे रहे हैं ऐसे 5 खास टिप्स, जो इस भीषण गर्मी में भी आपको कूल-कूल रखेंगे।

Ramadan Mubarak 2019 Third Roza: जानिए उन 5 चीजों के बारे में, जो 40 डिग्री तापमान में भी आपको रखेंगी कूल-कूल।

आजाद खान

Ramadan 2019 Fourth Roza: माह-ए-मुकद्दस रमज़ान के तहत आज (10 मई) चौथा रोजा रखा जा रहा है। 33 साल बाद ऐसा हो रहा है, जब रमज़ान का पूरा महीना मई में है। इस दौरान तापमान भी 40 डिग्री के पार रहता है। ऐसे में हम आपको दे रहे हैं ऐसे 5 खास टिप्स, जो इस भीषण गर्मी में भी आपको कूल-कूल रखेंगे।

तरबूज पर हकीमों-डॉक्टरों की यह है राय: देश के आला हकीम और डॉक्टर बताते हैं कि भीषण गर्मी के दौरान इफ्तार के वक्त तरबूज का सेवन जरूर करना चाहिए। रोजे के दौरान यह शरीर में पानी का संतुलन बरकरार रखता है। साथ ही, पेट को ठंडा भी रखता है। इसे शरबत बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही, जूस या फ्रूट चाट का ऑप्शन भी मौजूद है। हकीमों के मुताबिक, तरबूज में 80 प्रतिशत पानी होता है। ऐसे में यह शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता।

अचकू नुस्ख़ा है पुदीना: हकीम मानते हैं कि गर्मी के मौसम में पुदीना सेहत में इज़ाफा करता है। यह पाचन तंत्र भी सुधारता है। दरअसल, भीषण गर्मी में रोजा रखने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। ऐसे में पुदीने का इस्तेमाल लाभदायक होता है। इफ्तार के वक्त पुदीने की चटनी परोसी जा सकती है। इसके अलावा शरबत में इसका क्रश करके उसके स्वाद में इज़ाफा किया जा सकता है।

खीरे से बेहतर कुछ नहीं: हकीमों के मुताबिक, इफ्तार के दौरान खीरे का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। इसमें काफी ज्यादा मिनरल्स और माइक्रो-न्‍यूट्रीशंस होते हैं, जो एनर्जी लेवल बरकरार रखते हैं। डॉक्टरों की एक रिपोर्ट के मुताबिक, खीरे में 80 फीसदी पानी होता है। ऐसे में इसके सेवन से शरीर में पानी की कमी नहीं होती है।

इम्यून सिस्टम बेहतर करेगा नींबू : बॉडी टिशू और स्किन को विटामिन-सी और पोटैशियम दुरुस्त रखता है। अगर शरीर में इनका बैलेंस रखना है तो सबसे अचकू नुस्ख़ा नींबू है। सेहरी और इफ्तार में नींबू का सेवन जरूर करें।

आम पना का मुकाबला ही नहीं: गर्मी के मौसम में दिनभर रोजा रखने से सबसे ज्यादा खतरा लू लगने का है। ऐसे में आम पना से बेहतर कोई और नुस्ख़ा हो ही नहीं सकता। आम में विटामिन ए और कैलोरी होते हैं, जो रमज़ान के दौरान सबसे ज्यादा फायदा पहुंचाएगा। इफ्तार में पके आम का सेवन किया जा सकता है तो कच्चे आम का पना लू से बचाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X