ताज़ा खबर
 

Ramzan 2021 Sehri and Iftar Time Table: रमजान का पाक महीना हुआ शुरू, जानिए सहरी और इफ्तार का क्या रहेगा समय

Ramadan/Ramzan 2021 Sehri and Iftar Time Table: रमजान के महीने में सुबह सूर्योदय से लेकर शाम सूर्यास्त होने तक के लिए रोजा रखा जाता है। रोजेदार को सूरज निकलने से पहले सहरी करना जरूरी माना गया है वहीं शाम को इफ्तार के साथ रोजा खोलना होता है।

ramadan, ramadan 2021, ramzan 2021, ramzan, ramadan sehri time, ramadan sehri time 2021,Ramzan 2021 Sehri and Iftar Time Table: रमजान के महीने में सुबह सूर्योदय से लेकर शाम सूर्यास्त होने तक के लिए रोजा रखा जाता है।

Ramadan/Ramzan 2021 Sehri and Iftar Time Table: मुस्लिमों के लिए जिस तरह नमाज पढ़ना फर्ज है उसी तरह रोजा रखना भी जरूरी माना जाता है। कहा जाता है कि रोजा रखने वाले व्यक्ति को हर बुरे कार्यों से तौबा करनी चाहिए। इस पूरे महीने अल्लाह की विशेष इबादत की जाती है। रोजे रखने वालों के लिए सहरी और इफ्तार करना जरूरी होता है। भारत में रमजान का पवित्र महीना 14 अप्रैल से शुरू हो चुका है। यहां देखिए सहरी और इफ्तार का समय…

सहरी और इफ्तार क्या है? रमजान के महीने में सुबह सूर्योदय से लेकर शाम सूर्यास्त होने तक के लिए रोजा रखा जाता है। रोजेदार को सूरज निकलने से पहले सहरी करना जरूरी माना गया है वहीं शाम को इफ्तार के साथ रोजा खोलना होता है। दुनिया भर के अलग-अलग देशों में सहरी और इफ्तार का समय अलग-अलग होता है।

पांच बार की जाती है नमाज: इस्लाम में हर व्यक्ति को नमाज पढ़ने का आदेश दिया गया है। हर मुसलमान को दिन में पांच बार नमाज अदा करना आवश्यक होता है और रमजान के महीने में इसका कड़ाई से पालन करना होता है। पांच बार की जाने वाली नमाजों को अलग-अलग नामों से जाना जाता है। सुबह उषाकाल की नमाज को नमाज़-ए-फ़जर कहा जाता है। अवनतिकाल की नमाज को नमाज़-ए-जुह्र, दिवसावसान की नमाज को नमाज़ -ए-अस्र, सायंकाल की नमाज को नमाज़-ए-मग़रिब और रात्रि की नमाज को नमाज़-ए-इषा कहते हैं।

रमजान से जुड़ी कुछ खास बातें:
– ऐसा कहा जाता है कि इस महीने अपनी जरूरतों को कम करना और दूसरों की जरूरतों को पूरा करने से गुनाह कम हो जाते हैं।
– ऐसा मान्यता है कि इस महीने रोजा रखने वाले को जो इफ्तार कराता है उसके सारे गुनाह माफ हो जाते हैं।
– मुस्लिम मान्यताओं अनुसार रोजा खजूर खाकर खोला जाना चाहिए।
– इस महीने रोजा रख अपने अंदर की बुराईयों को दूर करने की कोशिश करनी चाहिए।
– रमजान को नेकियों का मौसम भी कहा जाता है। इसलिए इस महीने जरूरतमंद की मदद करनी चाहिए।
– मुस्लिम धर्म के लोग इस पूरे महीने अल्लाह की इबादत में अपना ज्यादा समय बिताते हैं।

रमजान सहरी और इफ्तार का टाइम:
14 अप्रैल- सहरी सुबह 4:13 बजे – इफ्तार शाम 6:21 बजे
15 अप्रैल- सहरी सुबह 4:12 बजे – इफ्तार शाम 6:21 बजे
16 अप्रैल- सहरी सुबह 4:11 बजे – इफ्तार शाम 6:22 बजे
17 अप्रैल- सहरी सुबह 4:10 बजे – इफ्तार शाम 6:22 बजे
18 अप्रैल- सहरी सुबह 4:09 बजे – इफ्तार शाम 6:23 बजे
19 अप्रैल- सहरी सुबह 4:07 बजे – इफ्तार शाम 6:23 बजे
20 अप्रै – सहरी सुबह 4:06 बजे – इफ्तार शाम 6:24 बजे
21 अप्रैल- सहरी सुबह 4:05 बजे – इफ्तार शाम 6:24 बजे
22 अप्रैल- सहरी सुबह 4:04 बजे – इफ्तार शाम 6:25 बजे
23 अप्रैल- सहरी सुबह 4:03 बजे – इफ्तार शाम 6:25 बजे
24 अप्रैल- सहरी सुबह 4:02 बजे – इफ्तार शाम 6:26 बजे
25 अप्रैल- सहरी सुबह 4:01 बजे – इफ्तार शाम 6:26 बजे
26 अप्रैल- सहरी सुबह 4:00 बजे – इफ्तार शाम 6:27 बजे
27 अप्रैल- सहरी सुबह 3:59 बजे – इफ्तार शाम 6:28 बजे
28 अप्रैल- सहरी सुबह 3:58 बजे – इफ्तार शाम 6:28 बजे
29 अप्रैल- सहरी सुबह 3:57 बजे – इफ्तार शाम 6:29 बजे
30 अप्रैल- सहरी सुबह 3:56 बजे – इफ्तार शाम 6:29 बजे

01 मई- सहरी सुबह 3:55 बजे – इफ्तार शाम 6:30 बजे
02 मई- सहरी सुबह 3:54 बजे – इफ्तार शाम 6:30 बजे
03 मई- सहरी सुबह 3:53 बजे – इफ्तार शाम 6:31 बजे
04 मई- सहरी सुबह 3:52 बजे – इफ्तार शाम 6:31 बजे
05 मई- सहरी सुबह 3:51 बजे – इफ्तार शाम 6:32 बजे
06 मई- सहरी सुबह 3:50 बजे – इफ्तार शाम 6.32 बजे
07 मई- सहरी सुबह 3:49 बजे – इफ्तार शाम 6:33 बजे
08 मई- सहरी सुबह 3:48 बजे – इफ्तार शाम 6:34 बजे
09 मई- सहरी सुबह 3:47 बजे – इफ्तार शाम 6:34 बजे
10 मई- सहरी सुबह 3:46 बजे – इफ्तार शाम 6:35 बजे
11 मई- सहरी सुबह 3:45 बजे – इफ्तार शाम 6:35 बजे
12 मई- सहरी सुबह 3:44 बजे – इफ्तार शाम 6:36 बजे
13 मई- सहरी सुबह 3 : 44 बजे – इफ्तार शाम 6:36 बजे।

Live Blog

Highlights

    Next Stories
    1 Bengali New Year 2021: पोइला बोइशाख 15 अप्रैल को, जानिए क्यों और कैसे मनाया जाता ये खास दिन
    2 Durga Saptashati Path Vidhi: नवरात्रि में किसी कारण दुर्गा सप्तशती का संपूर्ण पाठ नहीं कर सकते तो ये संपुट अवश्य पढ़ें
    3 Shani Sade Sati: 5 राशि वालों पर है शनि की टेढ़ी नजर, जानिए किन उपायों से मिलेगी राहत
    यह पढ़ा क्या?
    X