ताज़ा खबर
 

रमजान सहरी और इफ्तार का पूरा टाइम टेबल यहां देखें

रमजान के पाक महीने में सुबह सहरी के साथ रोजा शुरू किया जाता है और फिर शाम के समय इफ्तार के साथ रोजा खोला जाता है। रोजों का सहरी और इफ्तार का टाइम टेबल देखें यहां...

रमजान के मुकद्दस महीने में ज्यादा से ज्यादा समय इबादत में गुजारा जाता है। कुरान की तिलावत, नमाज की पाबंदी, जकात, सदाक और अल्‍लाह का जिक्र करते हुए इबादत की जाती है।

रमजान का पवित्र महीना चल रहा है। इस बार कोरोना संक्रमण के चलते पूरे देश में सामुहिक इबादत बंद कर दी गई है। ऐसे में लोग घर पर रहकर ही अल्लाह की इबादत कर रहे हैं। रमजान के पाक महीने में सुबह सहरी से रोजा शुरू किया जाता है और फिर शाम के समय इफ्तार के साथ रोजा खोला जाता है। जानिए सभी रोजों का सहरी और इफ्तार का टाइम टेबल देखें यहां…

4 मई इफ्तार समय: 6:59 PM

05 मई सहरी और इफ्तार समय (1 May Sehri And Iftar Time):
सहरी समय- 04:10 AM
इफ्तार समय- 7:00 PM

रमजान के मुकद्दस महीने में ज्यादा से ज्यादा समय इबादत में गुजारा जाता है। कुरान की तिलावत, नमाज की पाबंदी, जकात, सदाक और अल्‍लाह का जिक्र करते हुए इबादत की जाती है। कहा जाता है कि इस पाक महीने में नेक काम करने और इफ्तार कराने से सवाब बढ़ता है।  रमजान के महीने में रोजेदार गलत कामों से दूर रहता है। रोजे में मगरीब की नमाज अदा करने के बाद इफ्तार किया जाता है और सबसे पहले पर्याप्त पानी पीकर शरीर में दिनभर के पानी की कमी को दूर करें। इफ्तार के लिए यानी रोजा खोलने के लिए खजूर को बेहतर माना जाता है।

RAMADAN CALENDAR 2020 – NEW DELHI

सेहरी और इफ्तार टाइम (Sehri And Iftar Time): 
 रमजान             सेहरी          इफ्तार
04 मई 2020 – 04:11 AM – 6:59 PM
05 मई 2020 – 04:10 AM – 7:00 PM
06 मई 2020 – 04:09 AM – 7:01 PM
07 मई 2020 – 04:08 AM – 7:01 PM
08 मई 2020 – 04:07 AM – 7:02 PM
09 मई 2020 – 04:06 AM – 7:02 PM
10 मई 2020 – 04:05 AM – 7:03 PM
11 मई 2020 – 04:04 AM – 7:04 PM
12 मई 2020 – 04:03 AM – 7:04 PM
13 मई 2020 – 04:02 AM – 7:05 PM
14 मई 2020 – 04:01 AM – 7:05 PM
15 मई 2020 – 04:01 AM – 7:06 PM
16 मई 2020 – 04:00 AM – 7:07 PM
17 मई 2020 – 03:59 AM – 7:07 PM
18 मई 2020 – 03:58 AM – 7:08 PM
19 मई 2020 – 03:58 AM – 7:08 PM
20 मई 2020 – 03:57 AM – 7:09 PM
21 मई 2020 – 03:56 AM – 7:10 PM
22 मई 2020 – 03:55 AM – 7:10 PM
23 मई 2020 – 03:55 AM – 7:11 PM

रोजे का मतलब सिर्फ भूखे-प्यासे रहना ही नहीं है, बल्कि आंख, कान और जीभ का भी रोज़ा रखा जाता है। जिसका मतलब होता है न बुरा देखें, न बुरा सुनें और न ही बुरा कहें। रमजान के महीने में कुरान पढ़ने का भी अलग ही महत्व होता है। ऐसी मान्यता है कि इस महीने की गई इबादत का फल बाकी महीनों के मुकाबले 70 गुना अधिक मिलता है। रमजान में रात के वक्त एक विशेष नमाज भी पढ़ी जाती है, जिसे तरावीह कहते हैं।

Next Stories
1 चाणक्य नीति: इन परिस्थितियों में दूसरों की वजह से भोगना पड़ता है दुख
2 Baglamukhi Jayanti 2020: बगलामुखी माता की पूजा विधि, चालीसा, सिद्ध मंत्र और आरती यहां देखें
3 मेष मासिक राशिफल मई 2020: मई का महीना आपके करियर, लव लाइफ और स्वास्थ्य के लिहाज से रहेगा उत्तम, जानिए क्या कह रहे हैं सितारे
ये  पढ़ा क्या?
X