ताज़ा खबर
 

Raksha Bandhan 2019 : देश के अलग-अलग इलाकों में कुछ इस तरह से मनाई जाती है रक्षाबंधन

Rakhi 2019: राजस्थान में राखी का त्यौहार कुछ अलग तरीके से मनाया जाता है। इस दिन लोग रामराखी व चूड़ाराखी बांधने का रिवाज है। रामराखी भगवान को बांधी जाती है। जब्कि चूड़ा राखी भाभियों की चूड़ियों में बांधी जाती है।

Author नई दिल्ली | August 14, 2019 5:06 PM
Raksha Bandhan: जानिए अलग-अलग जगहों पर कैसे मनाया जाता है राखी का पर्व।

रक्षा बंधन 2019: रक्षा बंधन का पर्व 15 अगस्त के दिन मनाया जायेगा। श्रावण मासमें मनाए जाने वाले इस त्योहार को भारत के कई इलाकों  में श्रावणी के नाम से भी जाना जाता है। तो वहीं दक्षिण भारत में इस त्योहार को नारियल पूर्णिमा, पश्चिम बंगाल में गुरु महा पूर्णिमा और नेपाल में इसे जनेऊ पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। हिंदू धर्म के प्रमुख त्यौहारों में एक है रक्षा बंधन का पर्व। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी लंबी उम्र के लिए प्रार्थना करती हैं। भारत के अलग-अलग हिस्सों में इसे मनाने की परंपराएं भिन्न भिन्न है

गुजरात : गुजरात में रक्षा बंधन वाले दिन जगह-जगह गरबा नृत्य खेला जाता है। साथ ही लोक नाटक तथा कठपुतलियों के द्वारा भाई-बहन के प्रेम का संदेश देती हुई प्राचीन कथाओं का आयोजन भी होता है।

उत्तरी भारत : उत्तरी भारत में रक्षाबंधन का पर्व बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है। इस दिन बहन भाई की कलाई पर राखी बांधकर उसे मिठाई खिलाती है। भाई अपनी बहन को उपहार देते हैं। इस दिन पतंगबाजी का खेल भी खेला जाता है। भारत के कई इलाके ऐसे भी हैं जहां इस दिन बच्चे कांच से बने कंचों से भी खेला करते हैं।

दक्षिण भारत : दक्षिण भारत में राखी के पर्व को अलग तरीके से मनाया जाता है। इस दिन लोग सुबह समुद्र तटों पर यज्ञों में आहूती देकर जनेऊ धारण करते हैं। इस दिन जनेऊ धारण करने की यह परम्परा नेपाल में भी होती है। दक्षिण भारत में कई लोग इस दिन उपवास भी रखते हैं। ब्राह्मणों को भोजन कराकर रात के समय नए-नए मिष्ठानों से इस व्रत को खोला जाता हैं। इस दिन संगीत तथा लोक नृत्यों का भी आयोजन होता है।

बंगाल-बिहार : बंगाल और बिहार की बात करें तो कुछ जगह रक्षाबंधन को मनाने का एक अनोखा तरीका देखने को मिलता है। इस दिन बच्चे साधु का वेश बनाकर घर-घर दक्षिणा मांगते हैं। क्योंकि इस त्योहार को यहां गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। यहां उच्च वर्ग के लोग रक्षा बंधन के दिन गुरुओं के लिए एक बड़े भोज का आयोजन भी करते हैं।

नेपाल : नेपाल में भी राखी का त्यौहार मनाया जाता है। सुबह से ही लोग वहां के प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर में जाकर घर में बनाए हुए व्यंजनों का भोग लगाते हैं। नदी तटों पर बच्चों का मुंडन भी करवाया जाता है। इस दिन नेपाल में गायों की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। रात के समय में लोक नृत्यों का आयोजन कर बौद्ध भिक्षुओं से प्रवचन सुनते हैं।

राजस्थान : राजस्थान में राखी का त्यौहार कुछ अलग तरीके से मनाया जाता है। इस दिन लोग रामराखी व चूड़ाराखी बांधते हैं। रामराखी भगवान को बांधी जाती है। जब्कि चूड़ा राखी भाभियों की चूड़ियों में बांधी जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App