ताज़ा खबर
 

Raksha Bandhan 2018 Date India: जानिए किस दिन है रक्षा बंधन का त्योहार

Rakhi, Raksha Bandhan 2018 Date in India: ज्योतिष शास्त्र की गणना के हिसाब से पूर्णिमा की तिथि 25 अगस्त को दोपहर 3 बजकर 16 मिनट से आरंभ हो जा रही है। यह 26 अगस्त की शाम 5 बजकर 25 मिनट तक रहेगी।

Author नई दिल्ली | August 25, 2018 10:16 AM
Raksha Bandhan 2018 Date: रक्षा बंधन को भाई-बहन के प्यार और समर्पण का प्रतीक माना जाता है।

Raksha Bandhan 2018 Date, Rakhi 2018 Date in India: रक्षा बंधन को भाई-बहन का त्योहार कहा जाता है। रक्षा बंधन को भाई-बहन के प्यार और समर्पण का प्रतीक माना जाता है। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है। और भाई अपनी बहन को सुरक्षा का वचन देता है। राखी को रक्षा सूत्र भी कहा जाता है। बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधते समय उसकी लंबी आयु की कामना करती है। कहते हैं कि रक्षा बंधन का त्योहार भाई-बहन को एक-दूसरे की महत्ता की याद दिलाता है। हर साल श्रावण माह की पूर्णिमा को यह त्योहार मनाया जाता है। इस बार यह 26 अगस्त 2018 दिन रविवार को है।

ज्योतिष शास्त्र के जानकारों का कहना है कि इस साल के रक्षा बंधन पर भद्रा का साया नहीं पड़ रहा है। ऐसे में बहनें सुबह से लेकर शाम तक अपने भाई को राखी बांध सकती हैं। दरअसल रक्षा बंधन पर राखी बांधने के लिए भद्रा का खास ध्यान रखा जाता है क्योंकि भद्रा में राखी बांधने पर अशुभ प्रभाव पड़ने की मान्यता है। इसके बावजूद रक्षा बंधन के दिन कुछ समय जैसे अशुभ चौघड़िया, राहुकाल और यम घंटा पर ध्यान देने के लिए कहा जा रहा है। दरसरल इन पहरों में भी राखी बांधना अशुभ माना गया है।

ज्योतिष शास्त्र की गणना के हिसाब से पूर्णिमा की तिथि 25 अगस्त को दोपहर 3 बजकर 16 मिनट से आरंभ हो जा रही है। यह 26 अगस्त की शाम 5 बजकर 25 मिनट तक रहेगी। ऐसे में इस काल में भी बहनें अपने भाई को राखी बांध सकती हैं। बता दें कि इस साल रक्षा बंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त 26 अगस्त(रविवार) को सुबह 7.43 से दोपहर 12.28 बजे तक और दोपहर 2.03 से 3.38 बजे तक रहेगा। इसके अलावा राहुकाल (सुबह 5.13 से 6.48 बजे), यम घंटा(दोपहर 3.38 से 5.13 बजे) और काल चौघड़िया(दोपहर 12.28 से 2.03) के बीच होगी। इस काल में राखी बांधना अशुभ माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App