scorecardresearch

Astrology: आपके घर में कबूतर ने बनाया है घोंसला? वास्तु शास्त्र अनुसार जानिए अच्छा है या बुरा!

Astrology: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रह नक्षत्र ही नहीं पशु-पक्षी भी हमारे जीवन में बहुत महत्व रखते हैं।

Astrology: आपके घर में कबूतर ने बनाया है घोंसला? वास्तु शास्त्र अनुसार जानिए अच्छा है या बुरा!
Astrology: घर में कबूतर का घोंसला बनाना अशुभ माना जाता है। (फोटो: freepik)

Astrology: हिंदू धार्मिक मान्यता के अनुसार कई चीजों को शुभ या अशुभ माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में पशु और पक्षी को भी विशेष महत्व दिया गया है। कबूतर को सुख और शांति का प्रतीक माना जाता है। कुछ लोग कबूतर को देवी लक्ष्मी का भक्त मानते हैं और इस पक्षी के घर आने पर इसे शुभ माना जाता है।

वहीं यह भी कहा जाता है कि घर में चिड़िया का घोंसला बनाना दुर्भाग्य लाता है। आइए जानते हैं कबूतर से जुड़े शुभ और अशुभ संकेतों के बारे में।

कबूतर का घर में घोंसला बनाना है अशुभ संकेत

कबूतर अक्सर बालकनी या एसी में घोंसला बनाते हैं या घर के किसी कोने में। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर में कबूतर का घोंसला बनाना अशुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि अगर कबूतर घोंसला बनाता है तो यह घर में दुर्भाग्य लाता है। इसलिए जल्द से जल्द इस घोंसले को हटा दें। वहीं यह भी माना जाता है कि घोंसला बनाने से घर के सदस्यों की आर्थिक स्थिति प्रभावित होती है और उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

कबूतर के आगमन की शुभकामनाएं

मान्यता के अगर आपके घर में बिना घोंसले के कबूतर आता रहता है तो यह एक शुभ शगुन माना जाता है। शकुन शास्त्र के अनुसार, देवी लक्ष्मी कबूतर को खाना खिलाती हैं जो उनका आशीर्वाद लेने के लिए घर आते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसा करने से कुंडली में गुरु और बुध की स्थिति मजबूत होती है। इसके अलावा कबूतर के आने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है। अगर सुबह के समय कबूतर सुनाई दे तो यह लाभ का संकेत है।

इस संदर्भ में यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि वास्तु में घर में रखी चीजों को विशेष महत्व दिया जाता है। घर में रखी हर चीज में एक ऊर्जा होती है, जो घर के सुधार को प्रभावित करती है। वास्तु के अनुसार घर में रखी गई तस्वीरों का भी विशेष प्रभाव पड़ता है। शयन कक्ष में कोई भी पेंटिंग या चित्र रखते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 05-10-2022 at 02:43:51 pm
अपडेट