ताज़ा खबर
 

हस्तरेखाशास्त्र: हथेली में मौजूद ये रेखाएं बताती हैं कि आपकी लाइफ में विदेश यात्रा का योग है या नहीं?

Palmistry Foreign Line: हथेली में जीवन रेखा और आयु रेखा से निकलने वाली रेखाओं को यात्रा रेखा कहते हैं। इसके साथ ही मणिबंध से ऊपर उठकर चंद्र पर्वत तक पहुंचने वाली रेखाओं को भी यात्रा रेखा कहते हैं।

यदि चंद्र पर्वत पर कोई सीधी रेखा हो तो व्यक्ति के विदेश जाने के प्रबल आसार रहते हैं।

Palmistry Foreign Line Prediction: हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार मनुष्य के हाथ में कई सारी रेखाएं होती हैं। जिससे हमारे जीवन के बारे में काफी कुछ पता लगाया जा सकता है। जैसे जीवन रेखा आयु के बारे में बताती है, भाग्य रेखा भाग्य के बारे में तो ह्रदय रेखा व्यक्ति के एटीट्यूड अर्थात अभिरुचि के बारे में बताती है। इसी तरह से हथेली में ऐसी रेखाएं भी होती हैं जो व्यक्ति की विदेश यात्रा के बारे में बताती है। हथेली में जीवन रेखा और आयु रेखा से निकलने वाली रेखाओं को यात्रा रेखा कहते हैं। इसके साथ ही मणिबंध से ऊपर उठकर चंद्र पर्वत तक पहुंचने वाली रेखाओं को भी यात्रा रेखा कहते हैं।

यदि चंद्र पर्वत पर कोई सीधी रेखा हो तो व्यक्ति के विदेश जाने के प्रबल आसार रहते हैं। यदि चंद्र पर्वत की यह रेखाएं बेहद स्‍पष्‍ट और लंबी हो तो व्यक्ति कई बार विदेश यात्रा करता है। यदि गुरु पर्वत उभरा हुआ हो और जीवन रेखा से कोई रेखा गुरु पर्वत तक पहुंच जाए तो ऐसे लोग पढ़ाई के लिए विदेश जाते हैं।

हस्तरेखाशास्त्र के अनुसार यदि जीवन रेखा और भाग्य रेखा को पार करती हुई कोई रेखा दिखाई दे तो इसका मतलब विदेश यात्रा के योग बन सकते हैं। चंद्र पर्वत के पास उभरने वाली आड़ी-तिरछी रेखाओं से भी विदेश यात्रा के योग बनते हैं। यात्रा रेखा जितनी स्पष्ट और गहरी होती है उतना ही व्यक्ति यात्रा करने का शौकिन होता है और ऐसा व्यक्ति विदेश में स्थायी रूप से रह सकता है। (यह भी पढ़ें- धनु वालों के लिए गुरुवार तो इन राशियों के लिए शनिवार का दिन माना गया है शुभ, जानें हर राशि का खास दिन)

हथेली पर जीवन रेखा से निकलकर कोई रेखा भाग्य रेखा को पार करते हुए सीधे चंद्र पर्वत तक पहुंच जाए तो ऐसा व्यक्ति विदेश यात्रा करता है। यदि हाथ में मणिबंध से होकर कोई रेखा मंगल पर्वत की ओर जाती है तो ऐसा जातक समुद्री विदेश यात्रा करता है। यदि बुध पर्वत से निकलती हुई कोई रेखा अनामिका ऊंगली तक जाए तो व्यक्ति विदेश यात्रा से लाभ प्राप्त करता है।

यदि कोई रेखा चंद्र पर्वत से निकलकर शनि पर्वत पर पहुंचती है तो ऐसा व्यक्ति विदेश में जाकर अच्छा पैसा कमाता है। यदि यात्रा रेखा जीवन रेखा से अधिक गहरी हो तो ऐसे व्यक्ति के विदेश में बसने की संभावना रहती है। यदि हथेली में चंद्र पर्वत के पास बनने वाली रेखाएं चंद्र पर्वत को काटती हुई सीधे भाग्य रेखा पर जा मिले तो ऐसा व्यक्ति विदेश यात्रा से लाभ कमाता है।

Next Stories
1 धनु वालों के लिए गुरुवार तो इन राशियों के लिए शनिवार का दिन माना गया है शुभ, जानें हर राशि का खास दिन
2 तनाव भरी रहती है इस मूलांक वालों की लव लाइफ, कटरीना कैफ और विक्की कौशल का भी यही है बर्थ मूलांक, जानिए दिलचस्प बातें
3 सामुद्रिक शास्त्र से जानिए भाग्यशाली लड़कियों की क्या होती है पहचान
ये पढ़ा क्या?
X