scorecardresearch

Palmistry: हाथों की इन रेखाओं से जान सकते हैं भविष्य में होंगे आपके कितने बच्चे?

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति की हथेली जितनी अधिक उभरी हुई और स्पष्ट होती है, व्यक्ति को उतना ही संतान से अधिक सुख और स्नेह प्राप्त होता है।

Palmistry, Religion,
हाथों की रेखाओं के जरिए जाना जा सकता है आपका जीवनसाथी कैसा होगा- (जनसत्ता)

Children Sign In Hand: हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हाथ की रेखाओं के जरिए आपके भविष्य के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। हस्तरेखा शास्त्र में हाथों, पैरों और माथे पर मौजूद रेखा और चिन्हों का गहराई से अध्ययन किया जाता है, इनके जरिए ना केवल आपकी आर्थिक स्थिति बल्कि आपके करियर, जीवनसाथी और संतान संबंधी बातों के बारे में भी जानकारी इक्ट्ठा की जा सकती है।

अक्सर लोगों को यह जानने में दिलचस्पी होती है कि भविष्य में उनके कितने बच्चे होंगे और उनकी शादीशुदा जिंदगी कैसी रहेगी? ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हथेली में मौजूद रेखाओं के जरिए इस बात का पता लगाया जा सकता है कि भविष्य में आपके कितने बच्चे होंगे।

संतान रेखा: समुद्र शास्त्र के मुताबिक हाथ में सबसे छोटी उंगली के नीचे बुध पर्वत होता है। बुध पर्वत के पास मौजूद खड़ी रेखाएं और शुक्र पर्वत के पास जितनी भी छोटी रेखाएं मौजूद होती हैं, वह संतान रेखा कहलाती हैं। जानकारों की मानें तो आपकी हथेली में इन स्थानों पर जितनी भी साफ और स्पष्ट रेखा मौजूद होती हैं, उतने आपके पुत्र होंगे। वहीं जितनी हल्की रेखाएं हैं, उतनी आपको बेटी होंगी।

ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि आपकी हथेली में अगर बुध पर्वत उभरा हुआ है और आपकी रेखाएं स्पष्ट हैं, तो आपके बच्चे गुणवान और संस्कारी होंगे।

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति की हथेली जितनी अधिक उभरी हुई और स्पष्ट होती है, व्यक्ति को उतना ही संतान से अधिक सुख और स्नेह प्राप्त होता है। अक्सर ऐसा होता है कि अगर पुरुष के हाथ में संतान रेखा मौजूद नहीं है तो लोग यह समझ लेते हैं कि उन्हें संतान सुख प्राप्त नहीं होगा। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। अगर आपकी पत्नी की हथेली पर संतान रेखा है तो आपको संतान सुख मिल सकता है। हालांकि ऐसा हो सकता है कि आपकी संतान का अपनी मां से अधिक लगाव हो।

अगर किसी व्यक्ति की हथेली में अंगूठे के नीचे शुक्र पर्वत अधिक उभरा हुआ है तो इसका मतलब है कि आपको एक ही संतान का सुख मिलेगा।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट