Palmistry: जिन लोगों की हथेली पर होते हैं ऐसे निशान, भविष्य में बनते हैं अकूत धन-संपत्ति के मालिक

अगर किसी व्यक्ति की हथेली या फिर उसके अंगूठे पर चक्र जैसा निशान बनता है तो इसका मतलब है कि वह बेहद ही परिश्रमी है।

Palmistry, Zodiac Sign, Religion News
जिन लोगों की हथेली में चक्र जैसा निशान होता है, ऐसे लोग बेहद ही भाग्यशाली माने जाते हैं

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हाथ की रेखाओं के जरिए भी व्यक्ति के भविष्य से जुड़ी बातें बताई जा सकती हैं। हस्तरेखा शास्त्र में हाथों की रेखाओं का अध्ययन किया जाता है। इसके अनुसार हाथ में बन रहे निशान, उभार (पर्वत) और रेखाएं, मनुष्य के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें बताते हैं। हस्तरेखा शास्त्र में कुछ ऐसे निशानों का जिक्र किया गया है, जो अगर किसी भी व्यक्ति की हथेली पर मौजूद होते हैं तो ऐसे लोग बेहद ही सौभाग्यशाली माने जाते हैं। इन्हें अपनी जिंदगी में अथाह धन-संपदा प्राप्त होती है।

हथेली पर चक्र का निशान: अगर किसी व्यक्ति की हथेली या फिर उसके अंगूठे पर चक्र जैसा निशान बनता है तो इसका मतलब है कि वह बेहद ही परिश्रमी है। ऐसे लोग अपनी मेहनत से ऊंचाइयों पर पहुंचते हैं। ऐसे लोग अपने परिवार का हमेशा साथ निभाते हैं और समाज में भी उन्हें खूब मान-सम्मान प्राप्त होता है।

भाग्य रेखा: अगर किसी व्यक्ति की हथेली में भाग्य रेखा शुक्र पर्वत से निकलकर शनि पर्वत के मध्य तक पहुंचती है तो ऐसे लोग अपने करियर में बुलंदियों पर पहुंते हैं। यह लोग बेहद ही मेहनती होते हैं और अपने पुरुषार्थ के बल पर खूब तरक्की हासिल करते हैं।

शनि पर्वत: अगर किसी व्यक्ति के हाथ पर भाग्य रेखा और चंद्र रेखा एक साथ मिलकर शनि पर्वत तक पहुंचती है तो ऐसे लोगों को भौतिक सुख-संपदा प्राप्त होती है। समाज में इनका खूब मान-सम्मान बढ़ता है। धन से जुड़े मामलों में भी इन्हें खूब सफलता मिलती है।

ऐसे व्यक्ति बनते हैं अमीर: अगर किसी व्यक्ति के हाथ पर भाग्य रेखा कनिष्ठिका उंगली से शुरू होकर शनि पर्वत पर पहुंचती है तो ऐसे लोग भविष्य में बेहद ही अमीर बनते हैं। ऐसे लोगों को अथाह धन-संपत्ति मिलती है और समाज में भी इनका खूम मान-सम्मान बढ़ता है।

धन रेखा: अगर किसी व्यक्ति के हाथ की सबसे छोटी उंगली के नीचे रेखा बन रही है तो इसे धन रेखा कहा जाता है। जिन लोगों के हाथ में ये रेखा होती है, वह काफी किस्मत वाले माने जाते हैं। यह काफी समार्ट व्यक्तित्व के होते हैं।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दुर्गा मां के इस मंदिर में शाम के बाद नहीं जाते लोग, जानिए- क्या है वजह?madhya pardesh, dewas temple, king,dewas king,देवास, महाराज, अशुभ घटना, राजपुरोहित ने मंदिर, मंदिर,
अपडेट