ताज़ा खबर
 

ओपल रत्न आर्थिक और दाम्पत्य जीवन की परेशानियां करता है दूर, जानिए किन राशि वालों को करता है सूट

Opal Gemstone Benefits: ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको, ब्राजील, हंगरी, सूडान और अमेरिका की खदानों में मिलने वाला ये रत्न भाग्य में करता है वृद्धि। जानिए इसे पहनने के लाभ और किन्हें करना चाहिए ये रत्न धारण।

इस रत्न को धारण करने से दाम्पत्य जीवन में या प्रेम संबंधों में आ रही खटास दूर होती है।

Opal Gemstone: रत्न ज्योतिष अनुसार ओपल सफेद रंग का रत्न है जो शुक्र ग्रह को मजबूत करने का काम करता है। ओपल धारण करने से आर्थिक स्थिति में सुधार आने के साथ पति पत्नी के बीच के संबंध भी मजबूत होते हैं। व्यक्ति को समाज में प्रसिद्धि हासिल होती है। ओपल की खोज ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको, ब्राजील, हंगरी, सूडान और अमेरिका के खदानों में की जाती है। जानिए इस रत्न को धारण करने के लाभ और किन्हें करता है ये सूट।

ओपल स्टोन किसे पहनना चाहिए और किसे नहीं? ओपल तुला और वृष राशि के जातकों लिए सबसे उत्तम माना जाता है। तुला राशि वाले ओपल को बर्थ-स्टोन के रूप में धारण कर सकते हैं। इसके अलावा ज्योतिषीय सलाह से इस रत्न को मकर, कुंभ, मिथुन और कन्या राशि वाले लोग भी धारण कर सकते हैं। यदि कुंडली में शुक्र अशुभ स्‍थान में बैठा है तो ओपल स्‍टोन पहनने की सलाह दी जाती है। शुक्र के प्रथम, दूसरे, सातवें, नौवें या दसवें भाव में होने पर ओपल पहना जाता है। शुक्र ग्रह के चंद्रमा, सूर्य और बृहस्‍पति शत्रु ग्रह माने जाते हैं। इस वजह से माणिक्‍य, मोती और पुखराज के साथ ओपल रत्न धारण नहीं करना चाहिए।

ओपल रत्न पहनने से लाभ: इस रत्न को धारण करने से दाम्पत्य जीवन में या प्रेम संबंधों में आ रही खटास दूर होती है। इस रत्न के प्रभाव से आकर्षण शक्ति का विकास होता है। संगीत, अभिनेता, अभिनेत्री, चित्रकला, नृत्य, टीवी, फिल्म, थिएटर, कम्पूटर, आईटी से सम्बंधित काम करने वाले लोगों के लिए यह रत्न काफी लाभप्रद माना जाता है। ओपल पहनने वाले व्‍यक्‍ति को प्‍यार, खुशी और भाग्‍य का साथ मिलता है। इसे धारण करने से सामाजिक संबंध मजबूत होते हैं। यात्रा, आयात और निर्यात के क्षेत्र से जुड़े व्‍यापारियों के लिए ये रत्न शुभ माना जाता है। इसे पहनने से एकाग्रता और मानसिक शांति आती है। कुल मिलाकर ये रत्‍न लोकप्रियता, सफलता और मान-सम्‍मान दिलाता है। (यह भी पढ़ें- इस मूलांक वालों के पास खूब होती है जमीन जायदाद, एक से अधिक प्रेम संबंध बनने की रहती है संभावना)

ओपल धारण करने की विधि: इस रत्न को किसी भी माह में शुक्ल पक्ष के शुक्रवार को सीधे हाथ की अनामिका अंगुली में धारण करना चाहिए। इसे पहनने से पहले इस रत्न जड़ित अंगूठी को कच्चे दूध और गंगाजल से शुद्ध कर लेना चाहिए। शुद्ध करके इस अंगूठी को सफेद कपड़े के ऊपर रख लें फिर शुक्र के मंत्र ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम: की एक माला जप करके अंगूठी को पहन लेना चाहिए।

Next Stories
1 इस मूलांक वालों के पास खूब होती है जमीन जायदाद, एक से अधिक प्रेम संबंध बनने की रहती है संभावना
2 इस राशि पर चल रहा है शनि साढ़े साती का दूसरा चरण, रहें सतर्क, जानिए कब मिलेगी इससे मुक्ति
3 इंटेलिजेंट होती हैं इस राशि की लड़कियां, गजब का होता है सेंस ऑफ ह्यूमर, आर्थिक स्थिति रहती है बढ़िया
ये पढ़ा क्या?
X