एकादशी के दिन करें हनुमान जी की पूजा, दूर होगा शनि दोष

ज्योतिषियों का कहना है कि शनिवार के दिन बजरंग बली की पूजा करने से व्यक्ति का शनि दोष खत्म हो जाता है।

shani, ekdashi, shani dev, oil, oil on shani,Shani dev, shani dev ki mahima, spiritual belief, Oil pouring, Temple, ravan, hanuman ji, fight shani and hanuman ji, शनि मंदिर, गृहों को बंदी,
हनुमान जी (सांकेतिक फोटो)

इस शनिवार (6 मई) को एकादशी है। इस एकादशी होने से इस दिन भगवान विष्णु की पूजा से साथ- साथ शनि देव को खुश करने के उपाय किए जा सकते हैं। ज्योतिषी बताते हैं कि एकादशी के दिन पूजा करने से शनि के दोषों का असर कम हो जाता है। जानकार कहते हैं कि शनिवार के दिन एकादशी होने से इस दिन का महत्व और बढ़ जाता है। इस दिन हनुमान जी की पूजा करने की सलाह भी दी जाती है। कहा जाता है कि बजरंग बली की पूजा करने से व्यक्ति का शनि दोष खत्म हो जाता है। वहीं अगर इस दिन आप शनि मंदिर जाते हैं तो शनि देव बहुत प्रसन्न होते हैं।

शनिवार को हनुमान जी की पूजा करने के बारें में कहानी है जिसके अनुसार एक बार शनि देव ने हनुमानजी को युद्ध के लिए ललकारा। लेकिन हनुमान युद्ध नहीं चाहते थे। शनि देव अपनी जिद पर अड़ गए। जिसके बाद दोनों में युद्ध हुआ। युद्ध में हनुमान जी शनि देव की जमकर पिटाई की और शनि देव युद्ध में हार गए। लड़ाई में हारने के बाद शनि देव ने हनुमान जी को कहा कि जो भी शनिवार के दिन आपकी पूजा करेगा। उस पर शनि के दोषों का असर नहीं होगा। यही कारण है शनिवार के दिन कई लोग हनुमान जी की पूजा करते हैं।

लड़ाई में हारने के बाद शनि देव बुरी तरह घायल हो गए। शनि का दर्द बहुत ज्यादा था। दर्द को देखते हुए हनुमान जी ने घायल शनि देव के शरीर पर तेल लगाया जिसके बाद शनि देव का सारा दर्द दूर हो गया।

इसके बाद से ही शनिवार को शनि मंदिर में तेल चढ़ाने की परंपरा है। शनिवार को पूजा के बारे में कहा जाता है कि अगर कोई व्यक्ति इस दिन काले तिल, काली उड़द या लोहे का कोई बर्तन(तवा) का दान करता है तो उसे शुभ माना जाता है।

शनिवार को खुश करने के बारें में कहा जाता है कि अगर कोई इस दिन शनि मंदिर जाता है और तेल अर्पित करता है तो इसे काफी शुभ माना जाता है।

अपडेट