ताज़ा खबर
 

नागपंचमी 2017: क्या है इस त्योहार का महत्व, इस दिन क्यों की जाती है नागों की पूजा

Nag Panchami Puja Vidhi 2017: हिंदू धर्म में नाग पंचमी के त्योहार का बहुत महत्व होता है। इस त्योहार को श्रावण शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है।

नागपंचमी

सावन के महीने में कई त्योहार मनाए जाते हैं, इन्हें त्योहारों में से एक है नागपंचमी का त्योहार। हिंदू धर्म में नाग पंचमी के त्योहार का बहुत महत्व होता है। इस त्योहार को श्रावण शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिवजी के आभूषण नागों की उपासना की जाती है। नागों की पूजा करके आध्यात्मिक शक्ति, सिद्धियां और अपार धन की प्राप्ति की जा सकती है। नाग पंचमी के दिन कई लोग काल सर्प दोष के लिए पूजा करवाते हैं लेकिन इसे शुभ नहीं माना जाता है।

ऐसा माना जाता है कि पाताल या भूमि में जो धन छुपा हुआ होता है वो नागों के अधीन होता है। इस धन को नागपंचमी के दिन नागों की पूजा करके प्राप्त किया जा सकता है। इसलिए जिन लोगों के जीवन में धन की कमी होती है उन्हें नागपंचमी के दिन नागों की पूजा करने की सलाह दी जाती है। अगर किसी की कुडंली में राहु-केतु की स्थिति ठीक ना हो तो इस दिन विशेष पूजा करके राहु और केतु करनी चाहिए। नागपंची के दिन सांपों की पूजा करने से राहु और केतु की स्थिति को ठीक किया जा सकता है। जिन लोगों की कुडंली में विषकन्या या अश्वगंधा योग है ऐसे लोगों को भी इस दिन भगवान शिवजी की पूजा-उपासना करनी चाहिए।

जिन लोगों को सापों के डरावने सपने आते हैं या सर्प से भय लगता है उन लोगों को भी इस दिन सांपों की पूजा करने की सलाह दी जाती है। बता दें इस दिन सिर्फ उन नागों की पूजा की जाती है जो भगवान शिवजी के आभूषण होते हैं। पिछले साल नागपचंमी का व्रत 19 अगस्त को मनाया गया था।

नागपंचमी के दिन सांपों को मारना मना होता है। सावन के महीने में विशेषकर नागपंचमी के दिन धरती खोदना निषिद्ध होता है। इस दिन व्रत भी रखा जाता है। व्रत रखने वाले को नागों को खीर और दूध पिलाने की परंपरा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App