ताज़ा खबर
 

धन की कमी से हमेशा परेशान रहते हैं ये दो राशि के लोग, जानें क्या है उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष सभी राशियों में सबसे पहले आती है लेकिन इस राशि के लोगों को कई बार धन की समस्या से गुजरना पड़ता है।

Author Published on: March 1, 2018 10:23 AM
वृश्चिक राशि वालों को जीवनभर मेहनत के बाद भी नहीं मिलती सफलता।

आर्थिक संपन्नता और खुशहाली हर किसी के जीवन की चाहत होती है। कई लोगों के जीवन में सुख और समृद्धि आसानी से मिल जाता है तो वहीं कई लोगों के जीवन में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। मेहनत करने के बाद भी कई बार सफलता नहीं प्राप्त होती है और घर में आर्थिक तंगी बनी रहती है। वहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि ऐसी दो राशियां हैं जिनके जातकों को जीवन भर धन की कमी का सामना करना पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन दो राशियों के लोगों को अपनी जीवन में कुछ ऐसे उपाय करने चाहिए जिससे आर्थिक समस्या से निपटने में कुछ सहायता मिल सके।

मेष राशि- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष सभी राशियों में सबसे पहले आती है लेकिन इस राशि के लोगों को कई बार धन की समस्या से गुजरना पड़ता है। आर्थिक समस्या से बचने के लिए शाम के समय घर के द्वार पर तेल का दीपक जलाना चाहिए। अधिक फायदे के लिए उसमें दो काली मिर्च डाल दें। इस उपाय से जल्दी ही समस्याओं से निपटा जा सकता है। इसके अलावा यदि उधार या अन्य तरह की आर्थिक समस्या से बचने के लिए घर के बाहर नींबू-मिर्च लगाना भी शुभ माना जाता है।

वृश्चिक- इस राशि के लोग यदि पैसों की समस्या से जूझ रहे हैं या कर्ज की बड़ी रकम के नीचे दबे हैं तो इस राशि के लोगों को शाम के समय किसी विष्णु-लक्ष्मी के मंदिर में जाकर जल का पात्र पीपल के जड़ों में अर्पित करें। इसके अलावा बड़ के पत्ते पर आटे का दीपक हनुमान जी के मंदिर में लगातार पांच मंगलवार तक रखें। इन उपायों को अपनाने से आर्थिक समस्याएं कम होने लगती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Happy Holi 2018: होलिका दहन के समय अपनी राशिनुसार आजमाएं ये उपाय, दूर हो सकता है बुरा समय
2 माता सीता ने दिया था श्रीराम के एक पुत्र को जन्म! जानें क्या है दो पुत्रों की कहानी
3 होली 2018: जानें भारत में क्यों मनाया जाता है रंगों का त्योहार और क्या है होलिका दहन का महत्व