ताज़ा खबर
 

Mauni Amavasya 2019: मौनी अमावस्या पर बन रहे हैं अमृत और सर्वार्थसिद्धि योग, जानिए स्नान-दान का शुभ मुहूर्त

Mauni Amavasya Subh Muhurat: ज्योतिष के जानकारों के अनुसार इस बार मौनी अमावस्या पर सोमवती अमावस्या और श्रवण नक्षत्र का अत्यंत पुण्यदायी योग बन रहा है। दरअसल इस दिन अमृत सिद्धि योग और सर्वार्थसिद्धि योग का शुभ संयोग बन रहा है।

Author नई दिल्ली | February 4, 2019 11:23 AM
मौनी अमावस्या पर स्नान करते श्रद्धालु।

Mauni Amavasya 2019: मौनी अमावस्या माघ मास की अमावस्या तिथि को पड़ती है। साल 2019 में यह 4 फरवरी यानि सोमवार को पड़ रही है। वैसे तो हर माह अमावस्या की तिथि आती है लेकिन माघ मास में आने वाली मौनी अमावस्या का विशेष महत्व माना गया है। सनातन धर्म में ऐसी मान्यता है कि इस दिन शुभ मुहूर्त में स्नान-दान और पूजा-पाठ करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन श्रद्धालु पवित्र नदियों में स्नान के बाद दान कर अक्षय पुण्यफल के प्राप्ति की कामना करते हैं।

मौनी अमावस्या के महत्व के बारे में शिव महापुराण में भी वर्णन मिलता है। कहते हैं कि इस अमावस्या का वर्णन करते हुए खुद भगवान शिव बताते हैं कि जो मनुष्य इस दिन गंगा, यमुना आदि नदियों में स्नान कर शुद्ध हृदय से दान करता है उसे सभी ग्रह-नक्षत्रों की विशेष कृपा मिलती है। साथ ही मौनी अमावस्या पर शुभ मुहूर्त में पवित्र संगम में स्नान करने से विशेष लाभ मिलता है।शास्त्रों की मान्यता के मुताबिक इस दिन मौन रहने से मनुष्य को पुण्य लोक की प्राप्ति होती है। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार इस बार मौनी अमावस्या पर सोमवती अमावस्या और श्रवण नक्षत्र का अत्यंत पुण्यदायी योग बन रहा है। दरअसल इस दिन अमृत सिद्धि योग और सर्वार्थसिद्धि योग का शुभ संयोग बन रहा है। इसलिए इस दिन किए गए स्नान दान सहित सभी धार्मिक कार्य अमृत तुल्य साबित होगा।

मौनी अमावस्या शुभ मुहूर्त:- 
अमावस्या तिथि- 4 फरवरी (माघ कृष्ण अमावस्या)
दिन-सोमवार
अमावस्या तिथि आरंभ- 3 फरवरी (माघ कृष्ण चतुर्दशी) रात्रि 11 बजकर 52 मिनट से
अमावस्या तिथि समाप्त- 5 फरवरी (माघ शुक्ल प्रतिपदा) रात्रि 02 बजकर 33 मिनट पर

स्नान-दान शुभ मुहूर्त: ज्योतिषाचार्य धनंजय पांडेय केअनुसार मौनी अमावस्या के दिन सूर्योदय काल चार फरवरी को होगा इसलिए इसी दिन स्नान-दान करना का शुभ फलदायी होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App