ताज़ा खबर
 

Navratri 2018 9th Day Puja: आज है नवरात्रि का आखिरी दिन, इस विधि से मां सिद्धिदात्री की करें पूजा

Navratri 2018 9th Day, Maa Siddhidatri Devi Puja Vidhi, Vrat Katha, Mantra, Aarti: हिन्दू धर्म के पुराणों में बताया गया है कि देवी सिद्धिदात्री के चार हाथ हैं जिनमें वह शंख, गदा, कमल का फूल तथा चक्र धारण किए हुए हैं।

Author नई दिल्ली | October 18, 2018 4:10 PM
Navratri 2018 9th Day Puja: माँ सिद्धिदात्री देवी दुर्गा का नौवां व अंतिम स्वरूप हैं।

Navratri 2018 9th Day, Maa Siddhidatri Devi Puja Vidhi, Vrat Katha, Mantra, Aarti: सर्व सिद्धियों की दाता “माँ सिद्धिदात्री” देवी दुर्गा का नौवां व अंतिम स्वरूप हैं। नवमी के दिन माँ सिद्धिदात्री की पूजा और कन्या पूजन के साथ ही नवरात्रों का समापन होता है। हिन्दू धर्म के पुराणों में बताया गया है कि देवी सिद्धिदात्री के चार हाथ है जिनमें वह शंख, गदा, कमल का फूल तथा चक्र धारण करे रहती हैं। यह कमल पर विराजमान रहती हैं। इनके गले में सफेद फूलों की माला तथा माथे पर तेज रहता है। इनका वाहन सिंह है। देवीपुराण और ब्रह्मवैवर्त पुराण में देवी की शक्तियों और महिमाओं का बखान किया गया है।

पूजा विधि: सबसे पहले मां सिद्धिदात्री के समक्ष दीपक जलाएं। अब मां को लाल रंग के नौ फूल अर्पित करें। कमल का फूल हो तो बेहतर है। इन फूलों को लाल रंग के वस्त्र में लपेटकर रखना चाहिए। इसके बाद माता को नौ तरह के खाद्य पदार्थ चढ़ाएं। अपने आसपास के लोगों में प्रसाद बांटे। साथ ही गरीबों को भोजन कराएं। इसके बाद स्वयं भोजन ग्रहण कर लें।

मंत्र: मां सिद्धिदात्री का पूजा करते समय इस आसान और कारगर मंत्र का जाप कर सकते हैं।
“ॐ सिद्धिदात्री देव्यै नमः”

महत्व: मां सिद्धिदात्री हमारे शुभ तत्वों की वृद्धि करते हुए हमारी अंतरात्मा को दिव्य पवित्रता से परिपूर्ण करती है। हमें सत्कर्म करने की प्रेरणा देती हैं। मां की शक्ति से हमारे भीतर ऐसी शक्ति का संचार होता है जिससे हम तृष्णा व वासनाओं को नियंत्रित करने में सफल रहते हैं तथा जीवन में संतुष्टि की अनुभूति करते हैं। मां का दैदीप्यमान स्वरूप हमारी सुषुप्त मानसिक शक्तियों को जागृत करते हुए हमें पर नियंत्रिण करने की शक्ति व सामथ्र्य प्रदान करता है। इससे हम अपने जीवन में निरंतर उन्नति करते जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App