ताज़ा खबर
 

आज रात पृथ्वी के सबसे करीब होगा मंगल ग्रह, नंगी आंखों से भी देख सकेंगे नज़ारा: जानें क्या है वजह और मान्यता

जानकारों का कहना हैं कि 2003 के बाद 13 अक्तूबर की रात ऐसा संयोग बनने जा रहा है। वैज्ञानिकों की मानें तो कल के बाद 15 साल बाद यानी 11 सितंबर, 2035 में ऐसा योग दोबारा बनेगा।

mars near to earth 2020, mars near to earth, Planet Marsपृथ्वी के करीब होने की वजह से नंगी आंखों से मंगल ग्रह दिेखेगा।

Mars Near to Earth : 13 अक्तूबर यानी आज रात को अंतरिक्ष में एक दुर्लभ नजारा दिखने वाला है। वैज्ञानिकों का कहना हैं कि इस रात मंगल ग्रह पृथ्वी के सबसे करीब आ जाएगा। मंगल ग्रह के पृथ्वी के पास आने की वजह से यह आम लोगों को भी दिखाई दे सकता है। बताया जा रहा है कि मंगलवार की रात को मंगल, पृथ्वी और सूर्य एक सीध में होंगे इसलिए ही इसे दुर्लभ संयोग कहा जा रहा है।

जानकारों का कहना हैं कि 2003 के बाद आज की रात ऐसा संयोग बनने जा रहा है। वैज्ञानिकों की मानें तो कल के बाद 15 साल बाद यानी 11 सितंबर, 2035 में ऐसा योग दोबारा बनेगा। कहा जा रहा है कि इस सप्ताह मंगल की पृथ्वी से दूरी घटकर लगभग 6 करोड़ 20 लाख किलोमीटर हो जाएगी। इस खगोलीय घटना को मार्स एट अपोजिशन कहा जाता है।

खगोल वैज्ञानिक दीपक शर्मा के मुताबिक 13 अक्टूबर को मंगल पृथ्वी के सबसे ज्यादा नजदीक होगा। ये स्थिति 2003 के बाद अब आई है। 13 अक्टूबर के बाद फिर 15 साल बाद यानी कि साल 2035 में फिर मंगल, पृथ्वी के इतना नजदीक होगा। उन्होंने कहा कि सभी लोग अपनी छत से इसे नंगी आंखों से भी देख पाएंगे।

माना जा रहा है अद्भुत योग – मंगल ग्रह का पृथ्वी के पास आना और मंगल का पृथ्वी और सूर्य की सीध में आना दो अद्भुत खगाेलीय घटनाएं हैं। पिछली बार 6 अक्टूबर को मंगल ग्रह पृथ्वी के सबसे करीब आया था। वैज्ञानिकों का मानना है कि मंगल और पृथ्वी हर 26 माह बाद एक दूसरे के पास आते हैं। दोनों ग्रहों के अंडाकार पथ में घूमने की वजस से और पृथ्वी और मंगल की कुछ डिग्री झुकी होने से दूरी घटती-बढ़ती रहती है।

अंतरिक्ष के ग्रहों को देखने के लिए टेलीस्कोप की जरूरत पड़ती है। लेकिन मंगल ग्रह के पृथ्वी के पास आने की वजह से इस बार लोगों को बिना टेलीस्कोप के ही मंगल ग्रह दिख सकेगा। वैज्ञानिकों और आम लोगों में इसके प्रति खासा उत्साह है।

आज यानी मंगलवार को मंगल, पृथ्वी और सूर्य एक सीध में आ रहे हैं। शाम को जब सूर्य अस्त हो रहा हाेगा तो पूर्व में मंगल ग्रह उदित होता दिखाई देगा। इस समय पृथ्वी के सबसे नजदीक होने की वजह से यह बड़ा और स्पष्ट दिखाई देगा। फिलहाल चंद्रमा देरी से उदित हो रहा है इसलिए इसे देखने में बाधा नहीं होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मंगलवार के दिन करें इस अष्टक का पाठ, इच्छापूर्ति के साथ संकटों से मुक्ति मिलने की है मान्यता
2 Palmistry: हथेली की रेखाएं हों ऐसी तो बन सकते हैं करोड़पति बनने के योग, जानिये क्या कहता है हस्तरेखा विज्ञान
3 कब है अधिक मास का आखिरी प्रदोष व्रत, शुभ मुहूर्त में इस विधि से पूजा करने से भोलेनाथ के प्रसन्न होने की है मान्यता
यह पढ़ा क्या?
X