scorecardresearch

पॉवरफुल होने जा रहा है महा विध्वंसक अंगारक योग, इन 4 राशि वालों को रहना चाहिए सावधान

वैदिक ज्योतिष अनुसार राहु और मंगल ग्रह की युति से अंगारक योग का निर्माण हुआ है। यह योग 4 राशि वालों को थोड़ा कष्टकारी साबित हो सकता है।

पॉवरफुल होने जा रहा है महा विध्वंसक अंगारक योग, इन 4 राशि वालों को रहना चाहिए सावधान
राहु और मंगल की युति से बन रहा अंगारक योग- (जनसत्ता)

Mangal Rahu Angkarak Yog: भूमि पुत्र मंगल 27 जून को मेष राशि में प्रवेश कर गए हैं। वहीं मंगल ग्रह अब 45 दिन इसी राशि में विराजमान रहेंगे। जहां पहले से ही मायावी ग्रह राहु स्थित है।  इसलिए मंगल के आने से अंगारक योग बन रहा है। जिससे 4 राशि के जातकों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। आइए जानते हैं  ये राशियां कौन सीं हैं…

वृष राशि: आप लोगों को 10 अगस्त तक कुछ सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि आपकी राशि से अंगारक योग का निर्माण 12वें भाव में हो रहा है। इसलिए इस समय आपके कुछ खर्चों  में बढ़ोतरी हो सकती है। साथ ही शत्रुओं से सावधान रहना होगा। ये अशुभ योग बनने से आपके दैनिक कामकाजों में बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। मानसिक तनाव भी बढ़ सकता है।

कन्या राशि: अंगारक योग आप लोगों के लिए थोड़ा कष्टकारी साबित हो सकता है। क्योंकि आपकी गोचर कुंडली में इस योग का निर्माण आठवें भाव में हो रहा है। जिसे आयु और गुप्त रोग का स्थान कहा जाता है। इसलिए आपको इस समय सेहत से जुड़ी परेशानियां खड़ी हो सकती हैं। कर्जों का भार बढ़ेगा। योजनाएं अधूरी रह सकती हैं। इस समय आपको व्यापार में निवेश करने से भी बचना चाहिए। 

मीन राशि: अंगारक योग बनने से आपको थोड़ा संभलकर चलना चाहिए। क्योंकि अंगारक योग आपकी राशि से दूसरे भाव में बन रहा है। जिसे धन और वाणी का भाव कहा जाता है। इसलिए इस समय आपको धन की हानि हो सकती है। साथ ही इस समय आपको धन डूब सकता है। इसलिए इस समय किसी को धन उधार नहीं दें और इस समय आपको अपनी वाणी पर भी कंट्रोल रखना चाहिए। क्योंकि इस समय आपका किसी से मनमुटाव हो सकता है। हॉट टॉक हो सकती है।

मकर राशि: आपकी राशि से अंगारक योग का निर्माण चतुर्थ भाव में हो रहा है। जिसे भौतिक सुख और माता का स्थान कहा जाता है। इसलिए इस दौरान आपकी माता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। साथ ही खर्चों में बढ़त से तनाव होगा। मेहनत का फल कम मिल पाएगा। व्याापार में मुनाफा कम होगा। कोई बड़ी डील फाइनल होते होते रह सकती है।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट