scorecardresearch

मंगल ग्रह ने गोचर कर बनाया पॉवरफुल विपरीत राजयोग, इन 4 राशि वालों को धनलाभ के साथ भाग्योदय के प्रबल योग

वैदिक ज्योतिष अनुसार मंगल ग्रह ने मिथुन राशि में गोचर करके विपरीत राजयोग बनाया है। यह योग 4 राशि वालों के लिए शुभ फलदायी साबित हो सकता है।

मंगल ग्रह ने गोचर कर बनाया पॉवरफुल विपरीत राजयोग, इन 4 राशि वालों को धनलाभ के साथ भाग्योदय के प्रबल योग
मंगल ग्रह बनाएंगे विपरीत राजयोग- (जनसत्ता)

वैदिक ज्योतिष अनुसार जब भी ग्रह राशि परिवर्तन या किसी अन्य ग्रह के साथ कोई योग बनाता है तो इसका प्रभाव सभी राशियों पर देखने को मिलता है। आपको बता दें कि ग्रहों के सेनापति मंगल ने 16 अक्टूबर को मिथुन राशि में गोचर कर लिया है। जिससे विपरीत राजयोग का निर्माण हो रहा है। इस राजयोग के बनने से सभी राशियों को लाभ होगा। लेकिन 4 राशियां ऐसी हैं, जिनको इस समय विशेष धनलाभ हो सकता है। आइए जानते हैं ये राशियां कौन सी हैं।

मेष राशि: आप लोगों के लिए विपरीत राजयोग बनना लाभकारी साबित हो सकता है। क्योंकि आपकी राशि के स्वामी मंगल ग्रह मिथुन राशि में विराजमान हैं और उन पर केतु ग्रह की दृष्टि भी है। साथ ही मंगल के ऊपर कोई शुभ दृष्टि भी नहीं है। इसलिए आप लोगों को आकस्मिक धनलाभ हो सकता है। व्यापार में अच्छा मुनाफा हो सकता है। शेयर मार्केट, सट्टा और लॉटरी में अच्छा धनलाभ हो सकता है। भौतिक सुखों की प्राप्ति हो सकती है।

कर्क राशि: विपरीत राजयोग बनने से आपको व्यापार और करियर में आशातीत सफलता मिल सकती है। क्योंकि आपके करियर का राशि मंगल है। साथ ही अपनी राशि से अष्टम भाव में विराजमान है। इस समय आपको भाग्य का साथ मिलेगा। जो काम बहुत दिनों से अटके हुए थे वो बन सकते हैं। इस समय आप व्यापार में निवेश कर सकते हैं, जिससे आपको भविष्य में अच्छा मुनाफा हो सकता है। साथ ही इस समय आपके नए व्यावसायिक संबंध बन सकते हैं और बिजनेस का विस्तार हो सकता है। अगर आप नौकरी कर रहे हैं तो आपको कार्यक्षेत्र में नई जिम्मेदारी मिल सकती है।

वृश्चिक राशि: आप लोगों की गोचर कुंडली में मंगल ग्रह मृत्यु स्थान में है। वहीं केतु की दृष्टि है। इसलिए इस समय आपको आकस्मिक धनलाभ के योग बनेंगे। वहीं अगर आप स्टॉक मार्केट, सट्टा और लॉटरी में धन का निवेश करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। लाभ के योग हैं। किस्मत का भी आपको इस समय साथ मिलता दिख रहा है। इस समय आप वाहन और प्रापर्टी खरीदना का मन बना सकते हैं। लेकिन इस समय आपको सेहत को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए। क्योंकि इस समय केतु के प्रभाव से आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है।

मकर राशि: आप लोगों की गोचर कुंडली में चौथे भाव का स्वामी मंगल है। वहीं 11वें भाव में भाव का स्वामी छठे स्थान में है। इसलिए आपकी गोचर कुंडली में विपरीत राजयोग बन रहा है। इसलिए इस समय आपको नई नौकरी का प्रस्ताव आ सकता है। साथ ही अगर आप नौकरी कर रहे हैं तो आपका प्रमोशन हो सकता है। वहीं इस समय आप व्यापार के सिलसिले से यात्रा भी कर सकते हैं, जो आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है। व्यापार में नए ऑर्डर आने से अच्छा मुनाफा होने की संभावना है।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 17-10-2022 at 11:20 IST
अपडेट