scorecardresearch

45 दिनों के लिए बना अंगारक योग, इन 4 राशि वालों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

वैदिक ज्योतिष मुताबिक 27 जून से मेष राशि में अंगारक योग का निर्माण हुआ है। इस योग के बनने से 3 राशि वालों यह समय थोड़ा कष्टकारी साबित हो सकता है।

angarak dosh kya he, angarak dosh ke nuksan
राहु और मंगल की युति से बन रहा अंगारक योग- (जनसत्ता)

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक जब भी कोई ग्रह राशि परिवर्तन या किसी अन्य ग्रह के साथ युति करता है तो इसका सीधा प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है। आपको बता दें कि भूमि पुत्र मंगल देव ने 27 जून को अपनी स्वराशि मेष में गोचर किया है। जहां पहले ही राहु ग्रह विराजमान हैं।  मंगल अब पूरे डेढ़ महीने (45 दिन) इसी राशि में रहने वाले हैं। वहीं 10 अगस्त को मंगल वृषभ राशि में गोचर कर जाएंगे। इन दोनों ग्रहों की युति से अंगारक योग का निर्माण हो रहा है। जिसको ज्योतिष में शुभ नहीं माना जाता है। क्योंंकि मंगल ग्रह स्वयं एक अग्नि तत्व प्रधान ग्रह है। आइए जानते हैं इस योग के निर्माण होने से किन राशि वालों को सावधान रहने की जरूरत है।

वृष राशि: वृषभ राशि के जातकों को 10 अगस्त तक शत्रुओं से सावधान रहना होगा। आपकी राशि से अंगारक योग का निर्माण आपकी राशि से 12वें स्थान में हो रहा है। जिसे हानि और व्यय का भाव कहा जाता है। इसलिए इस दौरान आपके खर्चे बढ़ सकते हैं। जिससे आपका बजट बिगड़ सकता है। इस समय भाई बहन के साथ आपका झगड़ा हो सकता है। इसलिए बोलचाल में संयम बरतें। इस समय शत्रु आपके खिलाफ कोई साजिश कर सकते हैं। व्यापार में इस समय कोई डील करने से बचें अन्यथा नुकसान हो सकता है। इस समय आप लोगों को हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

सिंह राशि: आपकी गोचर कुंडली से अंगारक योग का निर्माण नवम स्थान में हो रहा है। जिसे भाग्य और विदेश यात्रा का भाव माना गया है। इसलिए इस समय आपको भाग्य का साथ नहीं मिलेगा। व्यापार में कोई बड़ी डील फाइनल होते- होते रुक सकती है। साथ ही अगर आप विदेश यात्रा की सोच रहे थे तो वो अभी किसी कारणवश कैंसिल हो सकती है। वहीं इस समय वाहन सावधानी से चलाएं, अन्यथा दुर्घटना हो सकती है। वहीं बाहर का खाना खाने से भी बचें। अन्यथा मसालेदार और जंक फूड पाचन संबंधी अन्य समस्याएं पैदा कर सकता है। अगर आप इस सब परेशानियों से बचना चाहते हैं, तो आप लोगों को लाल मसूर की दाल का दान करना चाहिए।

तुला राशि: आप लोगों की राशि से अंगारक योग पंचम स्थान में बन रहा है। जिसे उच्च शिक्षा और लव मेरिज का भाव कहा जाता है। इसलिए इस समय आपको प्रेम- प्रसंगों में असफलता हाथ लग सकती है। साथ ही उच्च शिक्षा में रुकावच आ सकती है। इस समय आपकी भाषा खराब हो सकती है और परिवार में झगड़े और वाद-विवाद का कारण बन सकती है। साथ ही इस दौरान आप कार्यस्थल पर अपने सहकर्मियों को अपने प्रति आक्रामक और झगड़ालू महसूस कर सकते हैं। वहीं अगर आप इन सब परेशानियों से बचना चाहते हैं, तो आप लोग हर मंगलवार हनुमान जी को लाल सिंदूर का चोला चढ़ाएं। 

मकर राशि: अंगारक योग आप लोगों को के लिए थोड़ा कष्टकारी साबित हो सकता है। आप लोगों को इस दौरान स्वास्थ्य का ख्याल रखना होगा। खर्चों में बढ़त से तनाव होगा। साथ ही बजट बिगड़ सकता है। मेहनत का फल कम मिल पाएगा।  लंबे समय से हो रही सेविंग खर्च हो सकती है। क्रोध और असंयमित भाषा आपकी मुश्किलें बढ़ाएंगी। इसलिए कार्यक्षेत्र में किसी से लड़ाई- झगड़ा हो सकता है। आप लोगों को इस दौरान हर मंगलवार हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X