ताज़ा खबर
 

Makar Sankranti 2018: इस वर्ष हो रहे सूर्य उदय से हो सकता है आर्थिक लाभ, जानें किस क्षेत्र में हो सकता है नुकसान

Makar Sankranti 2018: उदया तिथि से आशय वह तिथि है, जिसमें सूर्य का उदय होता है। सूर्य के धनु से निकलकर मकर में प्रविष्ट होने के कारण इसे मकर संक्रान्ति कहते है।

Makar Sankranti 2018: इस वर्ष सूर्य 15 जनवरी को उदय हो रहा है।

Makar Sankranti 2018: रविवार, 14 जनवरी, 2018 की कुनकुनाती दुपहरी को 1 बजकर 36 मिनट पर जब पृथ्वी से 109 गुना विशाल सूर्य देव सात छंदों यानि अपने सप्त-अश्व गायत्री, वृहति, उष्णिक, जगती, त्रिष्टुप, अनुष्टुप और पंक्ति से संचालित अपने नौ हजार योजन विराट रथ पर सवार होकर जब धनु राशि से निकल कर अपने वैचारिक विरोधी शनि की प्रथम राशि मकर में प्रविष्ट होंगे, उनकी अगवानी उनके परम शत्रु शुक्र और केतु कर रहे होंगे। ज्योतिष विद्या द्वारा बदल रहे नक्षत्र ग्रहों के बारे में बता रहे हैं गुरु आनंद जौहरी जी। उदया तिथि सोमवार, 15 जनवरी को है। उदया तिथि 15 को होने से अधिकतर लोग 15 को संक्रान्ति मनायेंगे। उदया तिथि से आशय वह तिथि है, जिसमें सूर्य का उदय होता है।

सूर्य के धनु से निकलकर मकर में प्रविष्ट होने के कारण इसे मकर संक्रान्ति कहते है। मकर संक्रान्ति के दिन से ही सूर्य उत्तरायण हो जाते है। इसलिये इस पर्व को कहीं-कहीं उत्तरायणी भी कहा जाता हैं। यह संक्रान्ति (सूर्य का गृह परिवर्तन) आकाश मण्डल में शुभाशुभ नवीन समीकरणों को जन्म देगी। आकाश मंडल में जहां शनि वृहस्पति की राशि धनु में बैठकर जगत की नैतिकता पर सवालिया निशान लगा रहा है, वहीं शेयर बाज़ार को नए पंखों से उड़ा रहा है।

मकर संक्रांति 2018 स्नान शुभ मुहूर्त और पूजा विधि: जानें पवित्र नदियों में संक्रांति के स्नान का क्या है शुभ समय

बृहस्पति के घर में बुध की उपस्थिति बुद्धि और विवेक को असहज बना रही है। साथ में धुरविरोधी शुक्र के घर में वृहस्पति की मौजूदगी नज़ूमियों की पेशानी पर बल डाल रही है।उद्योग अपने नए फ़ैसलों से अपने कर्मचारियों को चौंकाएगा। सूर्य की सीधी दृष्टि राहू पर और मंगल व राहू की पूर्ण दृष्टि सूर्य पर है। यह स्थिति बौद्धिक कार्यों में विघ्न, प्रतिष्ठा पर प्रश्न चिन्ह और आंदोलनों के साथ राजनैतिक व्यापारिक व सामाजिक विद्वेष व मानसिक विकारों को जन्म देगी। वर्तमान संवत 2074 में सस्येश पूर्वधान्येश यानि धान्यपति के पद पर सूर्य के विराजने से लोगों को आर्थिक लाभ होगा। सरकार जन अनुकूल घोषणाएं करेगी। जनता की स्थिति सुधरेगी। छिनैती, डकैती, लूटपाट, अपहरण, चोरी और आर्थिक धोखाधड़ी की घटनायें सर उठायेंगी। ऑनलाइन फ़्रॉड बढ़ेगा। राष्ट्रों में आपसी खींचतान और सनकी राष्ट्राध्यक्षों के अहम के टकराव से सैन्य झड़प और नेताओं की सस्ती भिड़ंत का पूरा अंदेशा है। एक दूसरे का सैनिक अभ्यास विरोधियों को उकसायेगा भी और बेचैन भी करेगा। धान्य सस्ता होकर भी

Makar Sankranti 2018 Wishes Messages: इन SMS, मैसेज के जरिए दे दोस्तों को संक्रांति की शुभकामनाएं

मुनाफ़ाख़ोरी से महंगा होगा।कोष या बैंकों या सरकार की कोई अजीब घोषणा या उसकी आशंका आक्रोश जगाएगी। पश्चिम धान्येश के पद पर शनि देव के विराजने से सम्पत्ति विवाद सर उठायेंगे। बिल्डरों और कारोबारीयों पर मुक़दमें बढ़ेंगे। कुछ भाग जायेंगे, कुछ जेल जायेंगे। सरकार राहत का मामूली प्रयास करेगी। धन-धान्य के अभाव का स्पष्ट अनुभव होगा। दुग्ध की कमी होगी। फलस्वरूप दूध और गोरस से बने खाद्य पदार्थों की क़ीमतों में वृद्धि का योग है। लोगों के मन की उदासी और भावनात्मक क्रूरता चिंता का विषय होगी। क्लेश और अलगाव बढ़ेगा। पश्चिम धान्येश के घर में पूर्व धान्येश की उपस्थिति आगज़नी से धन हानि से ज़्यादा जन हानि बेचैन करेगी। यह लेनदेन में सतर्क रहने का काल है।लोगों की नीयत ख़राब हो जाएगी। ट्रेडिंग में धोखा होने की संभावना है। शेयर बाज़ार में चढ़ाव, उतार और फिर चढ़ाव के दरमियान शराब, मेटल, इंफ़्रा, ऊर्जा समेत कई नए सेक्टर के शेयर चुपके से आसमान छू लेंगे।

गुरु आनंद जौहरी जी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App