ताज़ा खबर
 

Mahalaxmi Vrat 2018: महालक्ष्मी व्रत पर इस विधि से करें धन की देवी की आराधना

Mahalaxmi Vrat 2018, Puja Vidhi: महालक्ष्मी व्रत का आखिरी दिन काफी फलदायी माना गया है। मान्यता है कि यह व्रत रखने से घर में सुख-शांति आती है।

Author नई दिल्ली | October 2, 2018 6:49 AM
माता लक्ष्मी जी।

Mahalaxmi Vrat 2018, Puja Vidhi: हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए महालक्ष्मी व्रत का विशेष महत्व है। मान्यता है कि महालक्ष्मी व्रत करने से धन की देवी यानी कि लक्ष्मी जी की कृपा बरसती है। हिंदू पंचांग के मुताबिक महालक्ष्मी व्रत भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से शुरू होकर आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि तक चलता है। यानी कि यह व्रत कुल 16 दिनों तक चलता है। कल यानी कि 2 अक्टूबर, दिन मंगलवार को महालक्ष्मी व्रत का आखिरी दिन है। यह व्रत 17 सितंबर 2018 से आरम्भ हुआ था और 2 अक्टूबर 2018 को समाप्त हो रहा है। मालूम हो कि कुछ महिलाएं 16 दिन तक महालक्ष्मी व्रत रखती हैं। जबकि ज्यादातर महिलाएं तीन दिन या आखिरी दिन व्रत रखती हैं।

महालक्ष्मी व्रत का आखिरी दिन काफी फलदायी माना गया है। मान्यता है कि महालक्ष्मी व्रत रखने से घर में सुख-शांति आती है। इसके साथ ही इस व्रत से घर के लोगों की आर्थिक समस्याएं दूर होने की बात भी कही गई है। ऐसा कहते हैं कि जो महिलाएं महालक्ष्मी व्रत का विधि पूर्वक पालन करती हैं, उनको लक्ष्मी जी के आशीर्वाद की प्राप्ति होती है। इस आशीर्वाद से उस महिला को कभी भी अपने परिवार में आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ता है। मालूम हो कि महालक्ष्मी व्रत पर सोना खरीदना काफी शुभ माना गया है। कहा जाता है कि यह सोना आठ गुना गति से बढ़ता है।

पूजा विधि: महालक्ष्मी व्रत की एक खास पूजा विधि बताई गई है। इसके मुताबिक सबसे पहले पूजा स्थल पर हल्दी से कमल बनाएं। इस कमल पर माता लक्ष्मी की मूर्ति स्थापित करें। अब मूर्ति के सामने श्रीयंत्र, सोने-चांदी के सिक्के और फल-फूल रख दें। इसके बाद माता लक्ष्मी को कुमकुम, चावल और फूल चढ़ाएं। इस दौरान लक्ष्मी जी के आठ रूपों के मंत्रों का जाप भी करें। इस विधि से महालक्ष्मी व्रत पर पूजा करने से फल मिलने की मान्यता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App