ताज़ा खबर
 

Magha Navratri 2020: माघ गुप्त नवरात्रि कब से हो रही है शुरू? जानिए क्यों खास है मां दुर्गा की अराधना के ये नौ दिन

Gupt Navrati 2020 Date And Time (Magh Navratri 2020): आमतौर पर लोग साल में आने वाली दो नवरात्रि को जानते हैं जिनमें एक चैत्र माह की नवरात्रि है दूसरी शारदीय नवरात्रि। लेकिन इन नवरात्रि के अलावा साल में 2 और नवरात्रि भी आती हैं जिन्हें गुप्त नवरात्रि के नाम से जाना जाता है।

गुप्त नवरात्रि 2020: इन गुप्त नवरात्रि के दौरान दस महाविद्याओं की साधना की जाती है।

Gupt Navratri 2020 Dates: माघ गुप्त नवरात्रि 25 जनवरी से शुरू होकर 3 फरवरी तक रहेंगी। इसी बीच 29 जनवरी को वसंत पंचमी (Vasant Panchami) का त्योहार भी मनाया जायेगा। आमतौर पर लोग साल में आने वाली दो नवरात्रि को जानते हैं जिनमें एक चैत्र माह की नवरात्रि है दूसरी शारदीय नवरात्रि। लेकिन इन नवरात्रि के अलावा साल में 2 और नवरात्रि भी आती हैं जिन्हें गुप्त नवरात्रि के नाम से जाना जाता है। पहला गुप्त नवरात्र माघ महीने के शुक्ल पक्ष में आता है दूसरा आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष में।

माघ नवरात्रि का क्या है महत्व: इन गुप्त नवरात्रि के दौरान दस महाविद्याओं की साधना की जाती है। गुप्त नवरात्रि के दौरान मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, माता छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, मां ध्रूमावती, मां बगलामुखी, मातंगी और कमला देवी की पूजा की जाती है। ये नवरात्रि तांत्रिक क्रियाओं, शक्ति साधना से जुड़े लोगों के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण होती हैं। इसके नवरात्रि का महत्व जानने वाले साधक इस दौरान विशेष साधना कर ऋद्धि सिद्धि की प्राप्ति करते हैं।

माघ नवरात्रि मुहूर्त:
माघ घटस्थापना शनिवार, जनवरी 25, 2020 को
घटस्थापना मुहूर्त – 09:48 ए एम से 10:47 ए एम
अवधि – 00 घण्टे 59 मिनट्स
घटस्थापना अभिजित मुहूर्त – 12:12 पी एम से 12:55 पी एम
अवधि – 00 घण्टे 43 मिनट्स
प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – जनवरी 25, 2020 को 03:11 ए एम बजे
प्रतिपदा तिथि समाप्त – जनवरी 26, 2020 को 04:31 ए एम बजे

ये हैं नवरात्रि के नौ दिन:
25 जनवरी शनिवार – प्रतिपदा- घट स्थापना एवं मां शैलपुत्री पूजन
26 जनवरी रविवार – द्वितीया- मां ब्रह्मचारिणी पूजन
27 जनवरी सोमवार – तृतीया अहोरात्र, रवियोग
28 जनवरी मंगलवार – तृतीया- मां चंद्रघंटा पूजा, गौरी तृतीया
29 जनवरी बुधवार – मां कुष्मांडा पूजा, रवियोग
30 जनवरी गुरुवार – मां स्कंदमाता पूजा, बसंत पंचमी, सरस्वती पूजन, बुध उदय पश्चिम में
31 जनवरी शुक्रवार – मां कात्यायनी पूजा, शनि उदय, अमृत सिद्धि योग
1 फरवरी शनिवार – मां कालरात्रि पूजा, नर्मदा जयंती, रथ आरोग्य सप्तमी
2 फरवरी रविवार – मां महागौरी पूजा, दुर्गा अष्टमी, भीष्माष्टमी
3 फरवरी सोमवार – मां सिद्धिदात्री पूजा, नवरात्रि पूर्णाहुति

क्यों कहा जाता है गुप्त नवरात्रि? माघ मास की नवरात्रि को गुप्त नवरात्र इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस नवरात्रि में गुप्त रूप से शिव व महाशक्ति की उपासना की जाती है। शास्त्रों में गुप्त नवरात्रि को गुप्त सिद्धियों को प्राप्त करने का साधना काल बताया गया है।

Next Stories
1 शनि राशि परिवर्तन: 24 जनवरी को शनि अपनी ही राशि में करेंगे गोचर, जानिए 12 राशियों पर इसका क्या होगा असर
2 Mercury Transit 2020: जनवरी में बुध ग्रह का होने वाला है राशि परिवर्तन, जानिए किस राशि वालों की बढ़ेंगी टेंशन
3 Anup Jalota Bhajan: देखें भजन सम्राट अनूप जलोटा के फेमस भजन, ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन…
ये पढ़ा क्या?
X