ताज़ा खबर
 

Chandra Grahan/Lunar Eclipse 2019 Today LIVE Updates: गंगा तटों पर त्योहार की तरह मनाया गया चंद्रग्रहण

Chandra Grahan 2019, Lunar Eclipse July 2019 Date and Time, Timings in India Live Updates: समाप्त हुआ साल का आखिरी चंंद्रग्रहण और खुल गए मंदिरों के कपाट।

Author नई दिल्ली | Jul 17, 2019 09:10 am
Lunar Eclipse July 2019 Live Updates: जानें चंद्र ग्रहण से जुड़ी पूरी जानकारी यहां…

Chandra Grahan 2019, Lunar Eclipse July 2019 Today Timings in India Live Updates: चंद्र ग्रहण 16 जुलाई यानी आज रात 1 बजकर 31 मिनट से शुरु हुआ था, जो कि सुबह के 04 बजकर 29 मिनट तक चला। यह आंशिक चंद्र ग्रहण होगा। इसी के साथ 2019 का यह आखिरी चंद्र ग्रहण भी था। इस साल कुल 2 चंद्र ग्रहण हैं, जिसमें पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण 21 जनवरी को लग चुका है और अब दूसरा 16 से 17 जुलाई के बीच लगा जो कि साल का आखिरी चंद्रग्रहण था। जानकारी के लिए आपको बता दें कि अगला चंद्रग्रहण साल 2020 की 10 जनवरी को लगेगा।

2019 के आखिरी चंद्र ग्रहण की खास बात यह है कि इस दिन ग्रहों की स्थिति ऐसी रही जैसी कि आज से ठीक 149 साल पहले की थी। सन् 1870 में भी गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ था साथ ही शनि और केतु, चंद्रमा के साथ धनु राशि में बैठे हुए थे और सूर्य और राहु मिथुन राशि में थे।

Lunar Eclipse/Chandra Grahan 2019 Date and Timings in India: Check details here

देश से लेकर दुनिया भर के लोगों ने चंद्रग्रहण की तस्वीरें मोबाइल में क्लिक सोशल मीडिया पर शेयर कीं। देश के तमाम हिस्सों में चंद्र ग्रहण एक त्यौहार की तरह मनाया गया। वाराणसी, हरिद्वार, प्रयागराज में चंद्र ग्रहण को देखने और चंद्रदेव की पूजा करने के लिए भीड़ देखने को मिली।

Lunar Eclipse/Chandra Grahan July 2019: दुनिया भर में चंद्र ग्रहण से जुड़ी कुछ रोचक कहानियां

Live Blog

Lunar Eclipse Update 

Highlights

    09:10 (IST)17 Jul 2019
    ग्रहण खत्म होने के बाद काशी में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

    इस साल के अंतिम चंद्र ग्रहण खत्म होने के बाद धर्म नगरी काशी में आस्था का जनसलाब देखने को मिला है। श्रद्धालुओं ने पूरी रात ग्रहण काल में गंगा नदी के तट पर बैठकर भजन कीर्तन करते रहे। बुधवार की सुबह करीब 4.30 बजे पर ग्रहण खत्म होने के बाद मां गंगा में डुबकी लगाकर पुण्य के भागी बने। इसी के साथ दोपहर में सूतक काल के दौरान बंद हुए मंदिरों के कपाट भी करीब 13 से 14 घंटे बाद भक्तों के लिए खोले गए और मंदिरों में साफ सफाई के बाद दर्शन पूजन का क्रम शुरू हो गया है।

    08:51 (IST)17 Jul 2019
    मोक्ष काल के बाद खुले चारों धाम के कपाट

    बीते मंगलवार को लगने वाले चंद्रग्रहण का सूतक काल शाम 4:30 बजे से शुरू हो गया था। इस दौरान चारों धाम के कपाट बंद कर दिए गए थे। बुधवार यानि आज सुबह 4:40 के बाद चारों धाम के कपाट दर्शन के लिए खोल दिए गए हैं।

    07:48 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण के बाद इस समय खुले गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट

    मंगलवार की शाम 4 बजर 30 मिनट पर चंद्रग्रहण प्रारंभ होने से पूर्व विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट 4:20 पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ बंद कर दिए गए थे। सूतक खत्म होने के बाद आज सुबह मंगला आरती के बाद इन मंदिरों के कपाट खोले गए हैं।

    07:24 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण के चलते बदला मंदिरों में आरती का समय

    चंद्र ग्रहण के मद्देनजर श्रीकाशी विश्‍वनाथ मंदिर में संपन्‍न होने वाली आरतियों, मंदिर के बंद होने व खुलने का समय बदला गया है। मंदिर के मुख्य पुजारी के मुताबिक सूतक काल शुरू होने के बाद मंदिर में होने वाली शाम की सप्‍तर्षि आरती और श्रृंगार भोग आरती, शयन आरती अपने निर्धारित समय पर होगी। हालांकि, 17 जुलाई की भोर में मंगला आरती दो घंटे विलंब से प्रात: 4 बजकर 45 मिनट पर प्रारंभ होकर 5 बजक 45 मिनट पर समाप्‍त होगी। इसके बाद ही मंदिर का कपाट सामान्‍य दर्शनार्थियों के लिए खोला जाएगा। संकटमोचन मंदिर, अन्‍नपूर्णा मंदिर, कालभैरव मंदिर, महामृत्‍युंजय समेत अन्‍य मंदिरों के पट भी सावन के पहले दिन आरती के बाद देर से खुलेंगे।

    06:50 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण के बाद करने चाहिए ये काम

    चंद्रग्रहण खत्म होने के बाद पूजा स्थान की साफ सफाई करें। फिर पूजा स्थान पर गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए। स्नान करने के बाद साफ वस्त्र धारण करें। इसके बाद अपने गुरु या शिव जी की उपासना करें। फिर किसी निर्धन व्यक्ति को सफेद वस्तु का दान करें।

    04:58 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण की समाप्ति के बाद करें स्नान और दान में दें पहले हुए वस्त्र

    चंद्रग्रहण के बाद सुबह स्नान करें और धुले हुए कपड़े ही पहनें। ग्रहण के वक्त पहने कपड़ों को किसी जरूरतमंद को दान दे देना चाहिए। नहाने के बाद घर या मंदिर में शिव और दुर्गा की स्तुति करें। 

    04:25 (IST)17 Jul 2019
    चंद्र ग्रहण के दौरान न करें स्नान

    ध्यान रहे कोई भी व्यक्ति चंद्र ग्रहण के दौरान स्नान ना करे। या तो उससे पहले या फिर बाद में करें। यही वजह है कि संगम तट पर तमाम लोगों ने सूतक लगने से पहले ही स्नान ध्यान कर लिया था। 

    04:22 (IST)17 Jul 2019
    चंद्र ग्रहण के दौरान मन में लाएं बुरे विचार

    चंद्र ग्रहण के समय मन में राग द्वेष,  झूठ, फरेब जैसे किसी भी तरह के बुरे विचार मन में ना लाएं। माना जाता है कि इस समय में किए गए अपराधों के पाप कई गुना ज्यादा हो जाते हैं। जितना हो सके इस वक्त ईश्वर की अराधना करें। 

    03:27 (IST)17 Jul 2019
    संगम तट पर कष्टों के निवारण हेतु श्रद्धालु कर रहे मंत्रोच्चारण

    संगम तट पर तमाम राज्यों के लोग चंद्रग्रहण देखने के लिए आए हैं और अपने प्रतिकूल प्रभावों को दूर करने के लिए तमाम मंत्रों का जापते दिख रहे हैं। कोई गुरु के मंत्र तो कोई गायत्री मंत्र कोई मृत्युंजय मंत्र कोई नम: शिवाय का जाप कर रहा है।

    02:19 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण का अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा प्रतिकूल असर

    ज्योषाचार्यों का कहना है कि चंद्रग्रहण के बाद अर्थव्यवस्था की स्थिति खराब हो सकती है। कुछ ज्योतिष का यह भी मानना है कि इस ग्रहण के बाद भारत-पाक में हो सकती है बड़ी भिड़त हो सकती है।

    02:11 (IST)17 Jul 2019
    भारत में साल के आखिरी चंद्रग्रहण को देख रहे लोग

    भारत में साल के आखिरी चंद्रग्रहण की तस्वीरें देखने के लिए  ओडिशा, इलाहाबाद, वाराणसी जैसे तमाम तीर्थों पर लोग चांद की पूजा करते दिख रहे हैं। 

    01:34 (IST)17 Jul 2019
    चंद्रग्रहण के चांद की पहली तस्वीर

    चंद्रग्रहण की शुरुआत, सामने आई तस्वीर

    01:24 (IST)17 Jul 2019
    इसलिए काला पड़ जाता है चांद

    चंद्रग्रहण उस खगोलीय स्थिति को कहते हैं जब चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे उसकी प्रतिछाया में आ जाता है।  ऐसे में सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा इस क्रम में लगभग एक सीधी रेखा में आ जाते हैं। सुनहरा चांद इस दौरान काला नजर आता है। उसकी खूबसूरती ग्रहण के कारण फीकी पड़ जाती है। 

    00:57 (IST)17 Jul 2019
    चांद पूजा की तैयारी में बिजी हैं लोग, संगम तट पर स्नान कर रहे हैं लोग

    चंद्रमा की पूजा की तैयारियों में संगम तट पर स्नान कर रहे हैं लोग। कई साधु संत ध्यान मग्न होकर आसन लगाए शिव, दुर्गा और राम की आराधना करते दिख रहे हैं। कई लोग स्नान की तैयारी में हैं तो कइयों ने कर लिया है। देश भर से गंगा किनारे आए हैं लोग। 

    00:28 (IST)17 Jul 2019
    हरिद्वार में चंद्रग्रहण को लेकर मची हलचल

    हरिद्वार में चांद देखने का कोई नहीं कर रहा इंतजार, हरि नाम और शिव के पूजा पाठ में बिजी हैं श्रृद्धालु। गंगा किनारे हो रहे भोलेनाथ के जयकारे और भजनों की झंकार पर नृत्य कर रहीं महिलाएं। आस्था डूबे हैं श्रद्धालु और ग्रहण के बाद गंगा में डुबकी लगाएंगे। 

    00:01 (IST)17 Jul 2019
    इस वजह से खास है 2019 का चंद्रग्रहण

    ज्योतिषियों के मुताबिक तब गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़े थे और उस वक्त शनि चन्द्रमा राहु और केतु के साथ धनु राशि में थे और इसके साथ ही मिथुन राशि में सूर्य और राहु एक साथ प्रवेश कर गए थे। इस बार ये घटना आषाढ़ मास की पूर्णिमा यानि गुरुपूर्णिमा हो होने जा रही है। इस बार कि गुरु पूर्णिमा में चंद्र ग्रहण देखने को मिलेगा और इस चंद्रग्रहण को खंडग्रास चंद्र ग्रहण कहा जा रहा है।

    23:33 (IST)16 Jul 2019
    1870 के बाद नजर आएगा ऐसा चंद्रग्रहण

    2019 से पहले ऐसा ग्रहण 149 साल पहले हुआ था यानि 12 और 13 जुलाई 1870 को। ज्योतिषियों के मुताबिक तब गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़े थे और उस वक्त शनि चन्द्रमा राहु और केतु के साथ धनु राशि में थे और इसके साथ ही मिथुन राशि में सूर्य और राहु एक साथ प्रवेश कर गए थे।

    23:06 (IST)16 Jul 2019
    149 साल बाद सात में आई पूर्णिमा और चंद्रग्रहण

    इस बार की पूर्णिमा में एक अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा, क्योंकि करीब 149 साल बाद पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़ रहा है। यह नजारा 16 और 17 जुलाई को देखने को मिलेगा। 

    21:28 (IST)16 Jul 2019
    लाल दिखाई दे सकता है चांद!

    इस चंद्र ग्रहण में चांद का रंग लाल होने की संभावना है. लाल रंग के चांद को "ब्लड मून" (Blood Moon) कहते हैं. स्लोह संस्थान के मुख्य खगोलशास्त्री पॉल कॉक्स का कहना है कि यह पूर्ण चंद्र ग्रहण नहीं है, लेकिन फिर भी हमें चांद के रंग में जादुई परिवर्तन देखने को मिल सकता है क्योंकि फुल बक मून (Full Buck Moon) का 65% पृथ्वी के अंब्र (Umbra) में प्रवेश करेगा. चंद्रमा के रंग की भविष्यवाणी करना मुश्किल है क्योंकि पृथ्वी के वायुमंडल की स्थिति इसे प्रभावित करती है, लेकिन हाल ही में ज्वालामुखीय गतिविधि के कारण वातावरण में धूल उड़ रही है, हम 'हाफ ब्लड मून' की उम्मीद कर रहे हैं."

    20:29 (IST)16 Jul 2019
    ये हैं इस चंद्र ग्रहण की 10 अहम बातें

    20:10 (IST)16 Jul 2019
    इतनी देर रहेगा चंद्र ग्रहण

    खगोलीय वैज्ञानिकों के मुताबिक, सुबह 4:30 बजे तक चंद्र ग्रहण रहेगा। यह इस बार ढाई से तीन घंटे रहेगा।

    19:20 (IST)16 Jul 2019
    ज्योतिषों के हिसाब से यह है महत्व

    साल 2019 से पहले 12 जुलाई 1870 में इस तरह की स्थिति बनी थी। जब चंद्र ग्रहण और गुरु पूर्णिमा के एक साथ होने के साथ-साथ शनि और केतु, चंद्रमा के साथ धनु की राशि में बैठे हुए थे। और सूर्य और राहु मिथुन की राशि में थे। एक बार फिर ग्रहों की स्थिति बिल्कुल ऐसी ही बन रही है।

    18:46 (IST)16 Jul 2019
    ...तो ये बन रहा है संयोग

    इस बार चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा को पड़ रहा है। ऐसा 149 साल बाद हो रहा है कि एक ही दिन गुरु पूर्णिमा और चंद्रग्रहण दोनों हैं। इससे पहले 1870 में ऐसा संयोग बना था।

    18:01 (IST)16 Jul 2019
    इस साल कितने ग्रहण?

    इस साल कुल 5 ग्रहण लगने हैं। जिनमें से 3 सूर्यग्रहण और 2 चंद्र ग्रहण हैं। पहला चंद्र ग्रहण 21 जनवरी को था और वहीं पहला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को लगा था। दूसरा सूर्यग्रहण 2 जुलाई का हुआ और अब दूसरा चंद्र ग्रहण 16-17 जुलाई की रात को लगने जा रहा है। साल का अंतिम और तीसरा सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को लगेगा।

    17:19 (IST)16 Jul 2019
    किन राशियों के लिए शुभ रहेगा चंद्र ग्रहण?

    ज्योतिषों के अनुसार जिन लोगों की राशि मेष, वृष, कन्या, वृश्चिक, धनु और मकर है, उनपर इस ग्रहण का सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। चंद्रग्रहण का मंगलवार और आषाढ़ नक्षत्र में आने के कारण इसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाएगा। जिस कारण से प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति भी बन सकती है।

    16:33 (IST)16 Jul 2019
    गहण के बीच न करें यह काम

    आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा को पड़ने वाले ग्रहण को लेकर कुछ ऐसे काम हैं, जिन्हें ज्योतिष और धार्मिक मान्याताओं के अनुसार नहीं करना चाहिए। जैसे इस दिन सोने पर मनाही होती है। माना जाता है कि इस दौरान नकारात्मक ऊर्जा निकलती है, इससे सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

    14:56 (IST)16 Jul 2019
    सूतक के दौरान नहीं की जाती पूजा-अर्चना...

    सूतक चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले मतलब कि शाम को 4:30 बजे से लग जायेगा। सूतक के दौरान कोई भी कार्य करना जैसे कि भोजन ग्रहण करना, सिलाई का कार्य करना आदि की अनुमति नहीं होती। यहां तक कि पूजा-पाठ करना भी शुभ नहीं माना जाता है। इसी कारण से सूतक के समय सभी मंदिरों के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं। इसी कारण से आज के दिन अनेकों प्रमुख मंदिरों के पूजा व आरती के समय पर प्रभाव पड़ेगा, जिसके कारण भक्तों को दर्शन करने में समस्या हो सकती है। 

    14:09 (IST)16 Jul 2019
    ढाई घंटे बाद शुरु हो जायेगा ग्रहण का सूतक काल...

    भारत में पूर्णिमा की आधी रात के बाद ग्रहण का स्पर्श होगा। बता दें कि ग्रहण के शुरु होने के पहले सूतक लग जायेगा।  सभी मठों, आश्रमों और गुरु घरानों में ऐसा मान्यता है कि सूतक के दौरान कोई पूजा और पाठ नहीं किया जाता है। 

    13:35 (IST)16 Jul 2019
    आज का चंद्र ग्रहण इसलिए है खास...

    धर्म और पंचांग को मानने वाले इस ग्रहण को प्रमुखता से देख रहे हैं। इसकी वजह है चंद्र ग्रहण का आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा को उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में लगना। इसे खंडग्रास चंद्र ग्रहण कहा जा रहा है। 3 घंटे रहने वाले इस चंद्रग्रहण को लेकर ज्योतिष गणना बताती है कि ग्रहणकाल में प्रकृति के तौर पर नुकसान होने की संभावना है। इसी के साथ यह इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण होगा।

    13:11 (IST)16 Jul 2019
    सूतक काल का असर...

    चंद्र ग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले शुरु हो जाता है। जिस तरह से चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ कार्यों को करने की मनाही होती है। उसी प्रकार सूतक काल में भी बहुत से काम नहीं करने चाहिए। इस दौरान मंदिर बंद कर दिये जाते हैं साथ ही भगवान की मूर्तियों को छूना भी वर्जित होता है।

    12:45 (IST)16 Jul 2019
    चंद्र ग्रहण के बारे में पूरी जानकारी...

    गुरु पूर्णिमा के मौके पर 16 जुलाई को आधी रात के बाद से चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। यह ग्रहण रात में 1.31 बजे से शुरू होगा और बुधवार तड़के 4.30 बजे खत्म होगा। भारत में ये चंद्र ग्रहण देखा जा सकता है। चंद्र ग्रहण का सूतक 16 जुलाई को शाम 4.31 बजे से शुरू होने जा रहा है। चंद्रग्रहण का स्पर्श 16 जुलाई की देर रात 1.31 बजे शुरू होगा और इसका मध्य तीन बजे होगा। ग्रहण का मोक्ष रात 4.30 बजे होगा। 

    12:22 (IST)16 Jul 2019
    इस बार के चंद्र ग्रहण पर जो स्थिति बन रही है ऐसी आज से 149 साल पहले बनी थी...

    इस बार का चंद्र ग्रहण खास है। क्योंकि चंद्र ग्रहण पर गुरु पूर्णिमा के साथ-साथ कुछ ग्रहों की स्थिति ऐसी है जो आज से 149 साल पहले बनी थी। जो इस ग्रहण का प्रभाव और भी ज्यादा बढ़ा रही है। प्राकृतिक आपदाओं का खतरा रहेगा।

    11:49 (IST)16 Jul 2019
    सूतक काल के बारे में संपूर्ण जानकारी...

    सूतक काल के दौरान कुछ विशेष सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है। कुछ कार्यों पर रोक लग जाती है। लेकिन क्या होता है सूतक इसे जानने के लिए पढ़ें ये खबर... Chandra Grahan 2019 Sutak Timings: किसे कहते हैं सूतक काल, चंद्र ग्रहण में क्या करना सही नहीं माना जाता

    11:33 (IST)16 Jul 2019
    इन राज्यों में इस समय लगेगा सूतक...

    झारखंड – झारखंड में भी सूतक शाम के 4:31:43 से 7:29:39 तक रहेगा। वहीं इसके साथ बारिश भी हो सकती है।

    बंगाल – बंगाल में सूतक का समय शाम के 4:31:43 से 7:29:39 तक है। बंगाल में मौसम इस दौरान साफ रहेगा।

    11:19 (IST)16 Jul 2019
    यूपी और बिहार राज्यों में इस समय लग रहा है सूतक...

    यूपी – यूपी में भी सूतक शाम को 4:31:43 से शुरू होकर 7:29:39 तक लगा रहेगा। यूपी में बादलों के साथ-साथ बिजली कड़क सकती है।

    बिहार – बिहार में सूतक के समय की अगर बात की जाए तो ये शाम को 4:31:43 से 7:29:39 तक लगेगा। बिहार में बादल के साथ बारिश होने की भी उम्मीद है।

    11:03 (IST)16 Jul 2019
    दिल्ली में सूतक काल का समय...

    दिल्ली – दिल्ली में सूतक शाम को 4:31:43 से 7:29:39 तक रहेगा। और अगर मौसम की बात की जाए तो बादल रहेगा और ठंडी हवांए चल सकती हैं।

    10:59 (IST)16 Jul 2019
    किन-किन देशों में दिखेगा चंद्र ग्रहण...

    इस चंद्र ग्रहण को भारत समेत ऑस्ट्रेलिया, एशिया लेकिन यहां के उत्तर-पूर्वी भाग को छोड़ कर, अफ्रीका, यूरोप, उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका के ज्यादातर भाग में दिखाई देगा।

    10:47 (IST)16 Jul 2019

    सूतक काल में गर्भवती महिलाओं को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ग्रहण से निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी पड़ सकता है। ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को और किन बातों का रखना चाहिए ध्यान जाननें के लिए यहां क्लिक करें... Chandra Grahan/Lunar Eclipse 2019: चंद्र ग्रहण के समय गर्भवती महिलाएं इन बातों का जरूर रखें ध्यान

    10:40 (IST)16 Jul 2019
    शाम से शुरु हो जायेगा सूतक...

    दोपहर 04 बजकर 31 मिनट से सूतक शुरु होने जा रहा है। लगभग सभी राज्यों में सूतक काल का यही समय रहने के आसार हैं। सूतक काल के दौरान इन बातों का रखें विशेष ध्यान Chandra Grahan 2019: चंद्र ग्रहण के दौरान इन कार्यों को करने की होती है मनाही

    Next Stories
    1 Chandra Grahan/Lunar Eclipse 2019: इस साल का आखिरी चंद्रग्रहण खत्म, देश-दुनिया पर पड़ेगा यह असर
    2 Chandra Grahan 2019 Sutak Time in India: जानिए राज्य अनुसार चंद्र ग्रहण के सूतक का समय कब होगा शुरु
    3 Lunar Eclipse/Chandra Grahan July 2019: जानिए दुनिया भर में चंद्र ग्रहण को लेकर क्या है मानयताएं