ताज़ा खबर
 

अधर्म का नाश करने के लिए यूपी के इस गांव में जन्म लेंगे भगवान विष्णु!

इस श्लोक के मुताबिक भारत में यह जगह उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद जिले में संभल नाम से मौजूद है और यहीं पर भगवान विष्णु अपना कल्कि अवतार लेंगे।

श्रीमद्भागवत महापुराण में विष्णु भगवान के कल्कि अवतार के बारे में बताया गया है।

कहा जाता है जब-जब धरती पर पाप अधिक बढ़ जाता है तो भगवान विष्णु जन्म लेते हैं और उस पाप का खत्म करते हैं। भगवान विष्णु दुष्टों का अंत कर धर्म की स्थापना करते हैं। शास्त्रों के मुताबिक कलयुग के अंत में भगवान विष्णु एक और अवतार लेंगे। यह अवतार कल्कि के रूप में होगा। श्रीमद्भागवत महापुराण में विष्णु भगवान के कल्कि अवतार के बारे में बताया गया है। आइए आज जानते हैं भगवान विष्णु के कल्कि अवतार के बारे में –

श्रीमद्भागवत-महापुराण के 12वे स्कंद के मुताबिक –
सम्भलग्राममुख्यस्य ब्राह्मणस्य महात्मनः।
भवने विष्णुयशसः कल्किः प्रादुर्भविष्यति।।

इस श्लोक को अर्थ  – सम्भल गांव में विष्णुयश नाम के एक ब्राह्मण होंगे। जो अपने कर्मों से बहुत महान होंगे। उनका ह्रदय बड़ा उदार होगा। उन्हीं के घर कल्कि भगवान अवतार ग्रहण करेंगे।

इस श्लोक के मुताबिक भारत में यह जगह उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद जिले में संभल नाम से मौजूद है और यहीं पर भगवान विष्णु अपना कल्कि अवतार लेंगे। कहा जाता है कल्कि देवदत्त नामक घोड़े पर सवार होकर संसार के पाप को खत्म करेंगे और फिर से धर्म की स्थापना करेंगे। शास्त्रों के मुताबिक भगवान विष्णु का कल्कि अवतार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को होगा। इसलिए इस दिन को कल्कि जयंती के रूप में मनाया जाता है। कल्कि अवतार कलियुग व सतयुग के संधिकाल में होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App