ताज़ा खबर
 

Chandra Grahan 2019: आज लगा चंद्रग्रहण, जानें कैसा दिखा चांद

Chandra Grahan 2019 Dates and Today Timings in India, Lunar Eclipse 2019 in India Today Timings: 2019 के पहले पूर्ण चंद्र ग्रहण की शुरुआत 20 जनवरी की रात 11 बजकर 41 मिनट पर हुई, और 21 जनवरी को सुबह लगभग 10 बजकर 11 मिनट तक रहा। हालांकि भारत में यह ग्रहण नहीं दिखाई दिया।

21 जनवरी को होने वाले इस ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सका।

Chandra Grahan 2019 Dates and Timings in India: साल का पहला Chandra Grahan 21 जनवरी 2019 को लगा। इस Chandra Grahan को Super Blood Wolf Moon कहा गया। इस ग्रहण के दौरान चांद का रंग लाल और तांबे के रंग की तरह चमकीला नजर आया। 21 जनवरी को हुए इस ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सका। यह ग्रहण एशिया के ज्यादातर हिस्सों में नहीं दिखाई दिया। इस Grahan को इंटरनेट पर लाइव देखा गया। यह Grahan उत्तरी-दक्षिणी अमेरिका, मध्य प्रशांत महासागर, अफ्रीका और यूरोप में दिखाई दिया।

इस Grahan की कुल अवधि लगभग 62 मिनट थी। अन्य देशों में इस Grahan को देखने के लिए किसी खास चीज की आवश्यकता नहीं पड़ी। लोग इस अद्भुत नजारे को अपनी आंखों से देख पाए। भारत से इस अद्भुत नजारे को नासा की वेबसाइट और यूट्यूब चैनल के अलावा नेशनल जियोग्राफिक यूट्यूब चैनल पर भी लाइव देखा गया।

Live Blog

Highlights

    21:53 (IST)21 Jan 2019
    कुछ ऐसी हैं मान्यताएं

    मान्यता है कि ग्रहण के वक्त गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग, रोगी और बच्चों को बाहर नहीं निकलना चाहिए। ग्रहण का सूतक ग्रहण शुरू होने से करीब 9 घंटे पहले ही शुरू हो जाता है। ग्रहण से पहले या बाद में ही खाना खाएं। इसके साथ जिस दिन ग्रहण हो उस दिन किसी शुभ काम की शुरुआत न करें। सुई और नुकीली चीजों का उपयोग भी नहीं करना चाहिए। अपने कक्ष तुलसी और नीम के पत्ते रखना चाहिए।

    21:25 (IST)21 Jan 2019
    मेष राशि वाले करें यह उपाय

    चंद्रग्रहण को लेकर कई तरह की मान्यताएं हैं। कहा जाता है कि चंद्रग्रहण का असर अलग-अलग राशियों पर भी पड़ता है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक मेष राशि में चतुर्थ भाव में चंद्र ग्रहण मां की सेहत खराब कर सकता है। इसलिए मेष राशि वाले सभी लोग भगवान शिव के 'ॐ नमः शिवाय' मंत्र का 3 माला जाप करें।

    21:00 (IST)21 Jan 2019
    बना यह अनोखा संयोग

    इस चंद्र ग्रहण पर एक अद्भुत संयोग बना है। सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ चंद्र ग्रहण आया है। पढ़ाई, नौकरी, व्यापार, शादी, मुकदमा, शत्रु शांति संबंधी हर काम सौ प्रतिशत बनेगा। शुभ माघ मास में सैकड़ों साल बाद ग्रह नक्षत्रों का ऐसा संयोग बना है।

    20:35 (IST)21 Jan 2019
    दान करें यह सामान

    चंद्र ग्रहण के समाप्त होने के बाद चावल, आटे और गर्म कपड़ों का भी दान कर सकते हैं। इसके अलावा सफेद चीजों के दान के साथ चंद्रमा के मंत्रों का जाप करें। चंद्रग्रहण के साथ-साथ पूर्णिमा का दिन है इसलिए भगवान विष्णु की आराधना करना भी उत्तम है।

    20:10 (IST)21 Jan 2019
    चंद्रग्रहण को लेकर यह है मान्यता

    चंद्रग्रहण के संबंध में की मिथक हैं, जो लोगों के बीच फैले हुए हैं। लोगों में मान्यता है कि विषाक्त विकिरणों की वजह से पर्यावरण में विषाणु फैलते हैं, जो खाने को दूषित करते हैं। यही वजह है कि लोग ग्रहण के वक्त फलों, सब्जियों को काटने से भी बचते हैं।

    19:39 (IST)21 Jan 2019
    ग्रहण से मौसम पर पड़ा यह प्रभाव

    भारत में इस ग्रहण के प्रभाव से मौसम में बड़े बदलाव देखने मिलेंगे। ग्रहण के प्रभाव से 21 जनवरी से 5 जनवरी के बीच उत्तर और मध्य भारत में कई स्थानों पर वर्षा और ओला वृष्टि हो सकती है। वैसे चंद्रग्रहण के दिन यानी 21 जनवरी 2019 को भी देश के कुछ हिस्सों में बारिश हुई है।

    19:25 (IST)21 Jan 2019
    जानिए क्या है चंद्रग्रहण

    यह सभी जानते हैं कि पृथ्वी सूरज की परिक्रमा करती है। इस प्रक्रिया में जब कभी पृथ्वी अपने उपग्रह चंद्रमा और सूरज के बीच आ जाती है तो चांद पर पड़ने वाली सूरज कह किरणें रुक जाती हैं और धरती की प्रच्छाया चांद पर पड़ती है। इसी खगोलीय घटना से चांद का दिखना बंद हो जाता है और इसे ही चंद्र ग्रहण कहते हैं।

    19:12 (IST)21 Jan 2019
    सुबह में लगा ग्रहण

    आज इस साल का पहला चंद्र ग्रहण लगा। चंद्र ग्रहण का समय सुबह-सुबह का रहा। हालांकि भारत में चंद्रग्रहण नजर नहीं आया। चंद्रग्रहण को पूरे पश्चिमी गोलार्ध, उत्तरी अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका में देखा जा सका। ऑस्ट्रेलिया और एशिया में ये नहीं दिखा।

    18:13 (IST)21 Jan 2019
    इंटरनेट पर लाइव देखा गया चंद्रग्रहण

    21 जनवरी को हुए चंद्र ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सका। साथ ही यह ग्रहण एशिया के ज्यादातर हिस्सों में नहीं दिखाई दिया। इस वजह से ग्रहण को कई लोगों ने इंटरनेट पर लाइव देखा। 

    15:30 (IST)21 Jan 2019
    ऐसा करना माना जाता है शुभ

    चन्द्र ग्रहण के बाद स्नान और दान करना अच्छा माना जाता है। इस अवसर पर गेहूं, धान, चना, मसूर दाल, गुड़, चावल, काला कम्बल, सफेद-गुलाबी वस्त्र, चूड़ा, चीनी, चांदी व स्टील की कटोरी में खीर दान से लाभ मिलता है।

    14:36 (IST)21 Jan 2019
    जो आपको ठीक लगे वही करें

    जानकारों का यही कहना है कि आप पूजा-पाठ जरूर करें लेकिन किसी भी बात को परख कर ही उसे सत्य मानें। जो आपको ठीक लगे, वैज्ञानिक आधार पर खरा उतरे उसे ही सही मानें।

    13:21 (IST)21 Jan 2019
    30 फीसदी ज्यादा चमकीला था चांद

    इस ग्रहण को सुपर ब्लड वूल्फ मून का नाम दिया, जिसके कारण से चांद अन्य दिनों के मुकाबले 14 फीसदी बड़ा और करीब 30 फीसदी अधिक चमकीला दिखाई दिया।

    12:16 (IST)21 Jan 2019
    कोलंबस ने ऐसे उठाया था चंद्र ग्रहण का फायदा

    कोलंबस को पंचांग देखने की बहुत आदत थी। वही देखते हुए उसे यह खयाल आया कि क्यों न आने वाले चंद्रग्रहण का फायदा उठाया जाए। पंचांग ने फरवरी 29, 1504 को चंद्र ग्रहण की भविष्यवाणी की थी। कोलंबस ने मूल निवासियों के नेता से मुलाकात की और उसे बताया कि भगवान आप लोगों से नाराज़ हैं, क्योंकि वे कोलंबस के लिए भोजन की आपूर्ति नहीं कर रहे थे। कोलंबस ने तीन रात बाद भगवान की नाराजगी के संकेत देखने के लिए कहा, कोलंबस ने कहा, 'तीन रात बाद आसमान में 'लाल चांद' दिखाई देगा। जब ब्लड मून आकर चला गया तो मूल निवासी भयभीत हो गए। हर दिशा से बड़े पैमाने पर कोलंबस के साथियों की हरसंभव मदद करने को तैयार हो गए क्योंकि वे भगवान के प्रकोप से बचना चाहते थे।

    11:57 (IST)21 Jan 2019
    जानिए कब है दूसरा चंद्रग्रहण

    यह साल 2019 का पहला चंद्रगहण था। इसके बाद 16 जुलाई को साल का दूसरा चंद्र ग्रहण नजर आएगा। साल का पहला चंद्रगहण सुपर ब्लड मून के नाम से जाना गया, क्योंकि इसमें चांद लाल रंग का दिखाई दिया।

    11:27 (IST)21 Jan 2019
    चंद्र ग्रहण नहीं तो असर भी नहीं

    यह वेस्टर्न हेमीस्फेयर में दिखाई दिया। नोर्थ अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और साउथ अमेरिका में दिखाई दिया। भारत, ऑस्ट्रेलिया में यह ग्रहण नहीं दिखाई दिया। हालांकि ज्योतिषियों की मानें तो यह भारत में दिखाई नहीं दिया इसलिए इसका भारत में असर नहीं है।

    11:16 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: ऐसा भी कहते हैं लोग

    कहते हैं वायुमंडल में जितना अधिक प्रदूषण होता है चांद भी उतना ही लाल चमकता है। उत्तरी अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका के लोग सुपर वुल्फ रेड मून के सभी चरणों को अच्छे से देख पाए। ऑस्ट्रेलिया और एशिया में ये नजारा देखने को नहीं मिला। इससे पहले जनवरी के पहले हफ्ते में हुआ सोलर इक्लिप्स भी भारत में देखने को नहीं मिला था।

    11:08 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: नेताओं और नामचीन लोगों की सेहत पर असर

    किसी बड़े व्यक्ति से जुड़ी अजीब या बुरी खबर बेचैन करेगी। राजनेताओं और नामचीन लोगों की सेहत खराब होगी। बड़े कारोबारियों को दिक्कत हो सकती है। मंगल कार्य और उत्सव में वृद्धि होगी। बेवजह मन उदास होगा। चांदी के भाव में कुछ उतार और फिर चढ़ाव के बाद सहसा उछाल आएगा।

    11:05 (IST)21 Jan 2019
    इसलिए कुछ देर के लिए चली जाती है सूर्य और चंद्रमा की चमक

    एक पौराणिक कथा के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान देवताओं और दानवों के बीच अमृत के लिए घमासान चला। इस मंथन में अमृत देवताओं को मिला लेकिन असुरों ने उसे छीन लिया। अमृत को वापस लाने के लिए भगवान विष्णु ने मोहिनी नाम की सुंदर कन्या का रूप धारण किया और असुरों से अमृत ले लिया। जब वह उस अमृत को लेकर देवताओं के पास पहुंचे और उन्हें पिलाने लगे तो राहु नामक असुर भी देवताओं के बीच जाकर अमृत पीने बैठ गया। जैसे ही वो अमृत पीकर हटा, भगवान सूर्य और चंद्रमा को भनक हो गई कि वह असुर है। तुरंत उससे अमृत छीन लिया गया और विष्णु जी ने अपने सुदर्शन चक्र से उसकी गर्दन धड़ से अलग कर दी। क्योंकि वो अमृत पी चुका था इसीलिए वह मरा नहीं। उसका सिर और धड़ राहु और केतु नाम के ग्रह पर गिरकर स्थापित हो गए। ऐसी मान्यता है कि इसी घटना के कारण सूर्य और चंद्रमा को ग्रहण लगता है, इसी वजह से उनकी चमक कुछ देर के लिए चली जाती है।

    10:57 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: जानिए कैसे होता है चंद्र ग्रहण

    जब सूर्य के चारों ओर परिक्रमा करती हुई पृथ्वी एक सीध में अपने उपग्रह चंद्रमा तथा सूर्य के बीच आ जाती है, तो चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की किरणें रुक जाती हैं, और पृथ्वी की परछाई उस पर पड़ने लगती है, जिससे उसका दिखना बंद हो जाता है। इसी खगोलीय घटना को चंद्रग्रहण कहा जाता है।

    10:55 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: ऐसे दिखाई दिया चंद्र ग्रहण, ये थी पूरे 90 मिनट की प्रक्रिया

    पहले चरण में चांद में कोई खास अंतर दिखाई नहीं दिया। दूसरे चरण में आंशिक ग्रहण दिखाई देना शुरू हुआ। इसके करीब 90 मिनट बाद चांद पूरी तरह से लाल हो गया। मून रेडिश ग्लो दिखाई दिया, फिर प्रक्रिया ऐसे ही उल्टे क्रम में शुरू हुई। इस पूरे नजारे को आंखों से देखा गया। इसके लिए किसी भी तरह के खास उपकरण की जरूरत नहीं पड़ी।

    10:51 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan Lunar Eclipse 2019: 14 फीसदी बड़ा हो जाता है चंद्रमा

    पूर्ण चंद्र ग्रहण को सुपर ब्लड मून कहा जाता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, पूर्ण चंद्र ग्रहण में चंद्रमा आम दिनों के मुकाबले 14 फीसद बड़ा और 30 फीसद से ज्यादा चमकीला दिखाई देता है। इस दौरान चांद का रंग लाल हो जाता है, जिस कारण इसे सुपर ब्लड मून कहा जाता है।

    10:47 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: भारत के मौसम और वातावरण पर पड़ेगा असर

    वैज्ञानिकों द्वारा सुपर ब्लड मून (Super Blood Moon) कहा जा रहा यह चंद्रग्रहण केवल अफ्रीका, यूरोप, उत्तरी-दक्षिणी अमेरिका और मध्य प्रशांत के देशों में ही दिखाई दिया। पूर्ण चंद्रग्रहण के भारत में नहीं दिखाई देने के बावजूद यह आध्यात्म व ज्योतिष के नजरिए से भारत के लिए बेहद अहम है। कहा जा रहा है कि भारतीय मौसम और वातावरण पर इसका खासा असर पड़ेगा।

    10:29 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019 Today LIVE: कब और कहां देखा जा सकता है?

    नेशनल जियोग्राफिक की रिपोर्ट के मुताबिक, यह चंद्र ग्रहण उत्तरी, दक्षिणी और मध्य अमेरिका समेत पश्चिमी यूरोप के कुछ हिस्सों में देखने को मिलेगा। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया और एशिया (भारत भी शामिल) में यह नहीं नजर आएगा। उत्तरी अमेरिका में यह भारतीय समयानुसार 21 जनवरी (सोमवार) को सुबह 10.41 मिनट पर शुरू होगा। यह पहला मौका है, जब पूरा चंद्र ग्रहण पूरी अमेरिका में साल 2010 के बाद दिखेगा। अगर आप इस चंद्र ग्रहण को देखना चाहते हैं, तो timeandate.com पर इसकी लाइव स्ट्रीमिंग देखी जा सकती है। हालांकि, नासा की तरफ से इसकी कोई आधिकारिक स्ट्रीमिंग नहीं होगी।

    10:08 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019: इन राशियों पर होगा प्रभाव

    कर्क राशि : आपको सेहत संबंधी परेशानी हो सकती है। स्टूडेंट के लिए समय अच्छा है। मनोबल कमजोर हो सकता है।

    सिंह राशि : आपको वाहन सुख मिलेगा। घर में सुख-शांति रहेगी। बुद्धि से धन लाभ पाएंगे। पैर में चोट लगने की संभावना है।

    धनु राशि : पति-पत्नी के बीच मतभेद होंगे। सेहत संबंधी परेशानी होगी। पैर की समस्या परेशान करेगी। गुस्से पर काबू रखें।

    09:45 (IST)21 Jan 2019
    Chandra Grahan 2019: जानें आपकी राशि पर क्‍या होगा असर

    मेष राशि : इस ग्रहण से आपके खर्चे बढ़ेंगे। किस्मत साथ देगी। वाहन सावधानी से चलाएं।

    वृषभ राशि : आपको पेट की समस्या हो सकती है। काम अधिक करना पड़ेगा। पेट की समस्या हो सकती है। भाइयों से विवाद हो सकता है।

    मिथुन राशि: आप अपनी वाणी पर संयम रखें। शत्रुपक्ष से सावधान रहें। किसी रोग से परेशान हो सकते हैं। दाम्पत्य जीवन में कष्ट हो सकता है।।

    09:21 (IST)21 Jan 2019
    इन राशियों पर चंद्रग्रहण का होगा ऐसा असर

    कन्या राशि : आप सेहत का ख्याल रखें। सीने में परेशानी हो सकती है। पढ़ाई में रुचि बढ़ेगी। पति-पत्नी के बीच विवाद हो सकता है।

    तुला राशि : आपके शत्रु हावी हो सकते हैं। स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। परिश्रम अधिक करना पड़ेगा।

    वृश्चिक राशि : आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। विद्या वृद्धि होगी। अपनी वाणी पर काबू रखें। किस्मत का साथ मिलेगा।

    08:58 (IST)21 Jan 2019
    सूतक काल में करें इस मंत्र का जाप

    सूतक की अवधि को धर्म से संबंधित कार्यों के लिए भी अच्छा माना गया है। सूतक काल के दौरान भगवान श्रीकृष्ण के मंत्र ॐ नमो भगवते वासुदेवाय अथवा महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना शुभफलदायी माना गया है।

    08:35 (IST)21 Jan 2019
    अब दो साल तक नहीं लगेगा कोई पूर्ण चंद्रग्रहण

    इस चंद्रग्रहण के दौरान खास संयोग बन रहा है। इस ग्रहण के बाद दो साल बाद तक यानी 26 मई 2021 तक कोई पूर्ण चंद्रग्रहण नहीं लगेगा। तब तक लोगों को पूर्ण चंद्रग्रहण देखने के लिए इंतजार करना पड़ेगा। 2019 के पहले पूर्ण चंद्रग्रहण की शुरुआत 20 जनवरी की रात 11 बजकर 41 मिनट से शुरू होकर 21 जनवरी को सुबह लगभग 10 बजकर 11 मिनट कर रहेगी। हालांकि भारत में यह ग्रहण नहीं दिखाई देगा।

    08:17 (IST)21 Jan 2019
    ग्रहण के दौरान भोजन करने से बचें

    मान्यता है चंद्र गहण के दौरान भोजन करने से आपकी एनर्जी लगभग 28 दिन बाद की अवस्‍था में चली जाती है। चंद्रग्रहण के दौरान कई तरह की नेगेटिव एनर्जी निकलती है। जिसका प्रभाव पके हुए भोजन पर अधिक होता है। चंद्र ग्रहण के दौरान वायुमंडल में बैक्‍टीरिया और संक्रमण का प्रकोप ज्यादा होने से पका भोजन खराब हो जाता है और ऐसे भोजन को खाने से संक्रमण अधिक होने की आशंका होती है। इसलिए ग्रहण के दौरान भोजन खाने से बचना चाहिए।

    07:57 (IST)21 Jan 2019
    क्‍यों खास है ये ग्रहण?

    अमेरिकी स्पेस एंजेसी नासा के मुताबिक इस ग्रहण के दौरान चंद्रमा धरती के सबसे करीब 3,63,000 किमी दूर होगा। जबकि चंद्रमा पृथ्वी से सर्वाधिक दूरी 4,05,000 किमी की दूरी पर होता है। इस बार का चंद्रमा सुपर ब्लड वोल्फ मून आम दिनों की तुलना में 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी अधिक चमकीला दिखाई देगा।