ताज़ा खबर
 

आसान वास्तु उपाय, बच्चों को परीक्षा में दिलाएंगे अपार सफलताएं

आसान वास्तु उपाय करके भी आप अपने बच्चों की पढ़ाई बेहतर कर सकते हैं। इससे आपके बच्चे के स्टडी रूम में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और पढ़ाई में हमेशा मन लगेगा।

vastu, indian studentवास्तु के जरिए अपने बच्चे की पढ़ाई करें बेहतर. (सांकेतिक तस्वीर)

अपने बच्चों के सफल भविष्य की कामना हर मां-बाप करते हैं और ये तभी संभव है जब बच्चे परीक्षा में अच्छे नंबर ला पाए। वैसे तो ये बच्चों की मेहनत पर निर्भर करता है कि उनका रिजल्ट क्या होगा। लेकिन वास्तु शास्त्र के मुताबिक कुछ ऐसे उपाय हैं जिन्हें अपनाकर विद्यार्थी अच्छा रिजल्ट हासिल कर सकते हैं। इन उपायों के जरिए ना सिर्फ उनका पढ़ने में मन लगता है बल्कि कमरे में सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव क्षेत्र भी बना रहता है। वैदिककाल के दौरान गुरुकुलों में कुछ इन्हीं नियमों का पालन किया जाता था, जिससे बच्चे अच्छे तरीके से शिक्षा ग्रहण कर सकें। आइए जानते हैं क्या कहना है ज्योतिष एवं वास्तु विशेषज्ञ पंडित पवन कौशिक का—

– सबसे पहला उपाय यह करें कि कमरे में मां सरस्वती की मूर्ति लगाएं, और उसकी सुबह शाम पूजा करें। इससे आपको सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी।

– बच्चे के अध्ययन कक्ष में इस बात का भी खास ध्यान रखें कि सूर्य की रोशनी और ताजा हवा उचित मात्रा में मिल रही हो। क्योंकि इससे शरीर में ऊर्जा मिलेगी और बच्चा तरोताजा महसूस करेगा।

– अध्ययन कक्ष में मांसाहारी भोजन नहीं करें। इससे कक्ष का वातावरण नकारात्मक हो सकता है।

– अध्ययन वाली टेबल पर ग्लोब या पिरामिड रख सकते हैं जो नकारात्मक ऊर्जा को दूर रखेगा।

– हल्के रंग के वस्त्र पहनें, अगर हो सके तो अपनी जन्म-पत्री के हिसाब से रंगों का चुनाव करें।

– अध्ययन कक्ष में बच्चे के बैठने का स्थान इस तरह से बनाया जाए कि बच्चे का चहरा पूर्व दिशा की तरफ पड़े। इससे पढ़ने में एकाग्रता आएगी। इस बात का भी ध्यान रखें की बच्चे का चेहरा दक्षिण दिशा में ना हो।

– कक्ष की दीवारों का रंग हल्का होना चाहिए।

– ध्यान रखें कि कमरे में किसी तरह का आइना ना हो। इससे बच्चों का मन पढ़ाई से भटक सकता है।

– कमरे में पढ़ने से संबंधित किताबों की रैक या अलमारी पूर्व या उत्तर दिशा में होनी चाहिए। साथ ही कमरे में टेबल को दीवार से सटाकर ना रखें इससे वास्तु दोष उत्पन्न होता है।

ये हैं कुछ मूल मंत्र जिन्हें अपनाकर आप अपने बच्चों की परीक्षा में सहायता कर सकते हैं।

Next Stories
1 वैष्णो देवी की रहस्यमयी गर्भजून गुफा, जिससे निकल मां ने भैरों का किया था वध
2 जानिए, भगवान के भोग में लहसुन और प्याज का क्यों किया जाता है परहेज
3 Kamda Saptami 2019: कामदा सप्तमी आज, जानिए व्रत-विधि और ज्योतिषीय महत्व
ये पढ़ा क्या?
X