ताज़ा खबर
 

कथा वाचक जया किशोरी से जानिए क्या है जीवन का सत्य और लोग कब तक देते हैं आपका साथ

जया किशोरी जी कहती हैं कि कितने लोग ऐसे होंगे जो किसी से प्रेम करते हों और मृत्यु के समय भी वह अपने चाहने वाले के साथ चले जाएं। ऐसा कोई नहीं है। तो फिर ये प्रेम कैसे हुआ? हम जिस प्रेम की बात कर रहे हैं वो तब तक रहता है जब तक सुख सुविधाएं हैं, अच्छी यादें हैं, अच्छी बाते हैं, तब तक प्रेम है।

Author नई दिल्ली | June 13, 2019 1:12 PM
कथा वाचक जया किशोरी जी

मनुष्य जीवन भर भौतिक सुखों के पीछे भागता रहता है। जिस कारण वह कई संबंध बनाता है तथा भौतिक वस्तुओं को एकत्रित करता है। लेकिन शास्त्रों और ग्रंथों में भी इस बात की जानकारी मिलती है कि अकेले आये हो अकेले ही जायोगे। अत: चाहे मनुष्य जीवन भर कितने ही अच्छे रिश्ते और भौतिक वस्तुओं क्यों न बना ले पर मृत्यु के दौरान इनमें से कोई भी चीज उसके साथ नहीं जायेगी। अगर साथ जायेंगे तो वो हैं उसके अच्छे कर्म यानी पुण्य। इसी विषय को लेकर कथा वाचक जया किशोरी जी अपने एक प्रवचन में कहती हैं कि दान सिर्फ धन से ही नहीं होता बल्कि तन, मन और धन से होता है। जिसके पास धन नहीं तो ऐसा नहीं की वो सेवा नहीं कर सकते, आप तन से और मन से सेवा करिये। लेकिन सेवा जरूर करिये। क्योंकि यही सेवाएं और पुण्य आपके साथ जाने वाले हैं कोई रिश्तेदार या परिवार वाले नहीं।

आगे अपने प्रवचन में जया किशोरी जी कहती हैं कि कितने लोग ऐसे होंगे जो किसी से प्रेम करते हों और मृत्यु के समय भी वह अपने चाहने वाले के साथ चले जाएं। ऐसा कोई नहीं है। तो फिर ये प्रेम कैसे हुआ? हम जिस प्रेम की बात कर रहे हैं वो तब तक रहता है जब तक सुख सुविधाएं हैं, अच्छी यादें हैं, अच्छी बाते हैं, तब तक प्रेम है। आपके भी अपने लोग तब तक आपके साथ है जब तक आपके पास धन है, प्रेम है, सुख है और नाम है क्योंकि इन चीजों के पीछे ही लोग आते हैं।

इस बात को जया किशोरी जी एक कहानी के द्वारा समझाती हैं, वो कहती है कि एक गांव में एक बहुत बड़े सेठ थे। जिनके पास सारी सुख सुविधाएं थी। जब मन करता वो किसी को कुछ दे देते या फिर उत्सव बना लेते। तो सेठ जी की बिल्ली मरी तो पूरा गांव आया लेकिन जब सेठ जी मरे तो एक भी व्यक्ति उन्हें देखने के लिए नहीं आया। यही संसार है जिसे सच मानकर चलना चाहिए। हर व्यक्ति ऐसा ही होता है। इसलिए सिर्फ आपके पुण्य आपके साथ जायेंगे और कोई आपके साथ नहीं जायेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X