ताज़ा खबर
 

मंगलवार को इन 40 लाइनों के जाप से हनुमान जी के खुश होने की है मान्यता

तुलसीदास रचित हनुमान चालीसा का सभी चालीसाओं में विशेष महत्व है। इसे बहुत ही सरल और कारगर माना गया है।

Author नई दिल्ली | May 28, 2018 17:01 pm
हनुमान जी।

हिंदू धर्म में सप्ताह के सातों दिन अलग-अलग देवी-देवताओं को समर्पित हैं। मंगलवार को हनुमान जी का दिन कहा जाता है। हनुमान जी को बल, बुद्धि और विद्या का दाता कहा गया है। इस दिन भक्त बड़ी ही श्रद्धा के साथ बजरंगबली का आराधना करते हैं। हनुमान जी की पूजा में हनुमान चालीसा के जाप का विशेष महत्व है। हनुमान चालीसा में कुल 40 लाइनें हैं। ऐसा कहा जाता है कि इन 40 लाइनों के जाप से हनुमान जी बड़ी जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। इसलिए मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा के जाप पर विशेष जोर दिया जाता है। लेकिन इस दौरान कुछ बातों का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाना चाहिए। चलिए विस्तार से जानते हैं इस बारे में।

ऐसा कहा जाता है कि मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा का जाप बड़ी ही श्रद्धा के साथ करना चाहिए। ऐसा ना करने पर हनुमान जी उस व्यक्ति से नाराज हो सकते हैं। इस स्थिति में व्यक्ति को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा हनुमान चालीसा का जाप करते समय स्वच्छता का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाना चाहिए। कहते हैं कि स्वाच्छता से हनुमान जी बहुत खुश रहते हैं और अपने भक्त की पुकार बहुत जल्दी सुन लेते हैं। इसलिए गंदी जगहों पर हनुमान चालीसा का जाप नहीं करना चाहिए।

तुलसीदास रचित हनुमान चालीसा का सभी चालीसाओं में विशेष महत्व है। इसे बहुत ही सरल और कारगर माना गया है। हनुमान चालीसा के बारे में कहा जाता है कि इसकी प्रत्येक पंक्ति का अलग-अलग महत्व है। इसके साथ ही मान्यता यह भी है कि हनुमान चालीसा में जीवन की सभी समस्याओं का समाधान बताया गया है। कहते हैं कि हनुमान चालीसा का नियमीत पाठ करने से जीवन में चमत्कारी बदलाव हो सकते हैं। बता दें कि हनुमान चालीसा का पाठ एक बार से लेकर सौ बार तक किया जा सकता है। प्रत्येक पाठ से भक्त पर हनुमान जी की कृपा बरसती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App