ताज़ा खबर
 

कथा वाचक देवकी नंदन ठाकुर से जानिए, घर से दरिद्रता को भगाने के लिए किन कामों को नहीं करने चाहिए

मनुष्य सूर्य उदय के बाद जितनी देर सोता है उतनी ही अधिक उसकी आयु नष्ट होती है। इसलिए मां-पिता को भी चाहिए कि वह अपने संतान को जबरदस्ती सूर्य उदय से पहले उठा दें।

Author नई दिल्ली | June 12, 2019 5:13 PM
कथा वाचक देवकी नंदन ठाकुर।

दरिद्रता एक ऐसे चीज है जिससे हर व्यक्ति छुटकारा पाना चाहता है। जीवन में दरिद्रता न आए इसके लिए लोग कई प्रकार के धार्मिक उपाय भी करते हैं, लेकिन फिर भी किसी न किसी रूप में यह हमारे जीवन में कुछ समय के लिए ही सही, यह आ ही जाती है। घर में दरिद्रता का प्रवेश न हो इसके लिए कथा वाचक देवकी नंदन ठाकुर ने कुछ बातें बताई है। जिसे अपनाकर हर व्यक्ति अपने जीवन से दरिद्रता को दूर कर सकता है। आगे हम देवकी नंदन ठाकुर के अनुसार जानेंगे कि घर से दरिद्रता को भगाने के लिए कौन-कौन से काम नहीं करने चाहिए।

कथा वाचक देवकी नंदन ठाकुर के मुताबिक देर तक सोना दरिद्रता को निमंत्रण देती है। साथ ही देर से स्नान करना पशुवत योनी है। इसलिए अधिक से अधिक सुबह 8 बजे तक स्नान कर लेना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति 8 बजे के बाद स्नान करता है तो वह मनुष्य का स्नान नहीं माना जाएगा। मनुष्य जब तक स्नान नहीं करता है तब तक आलस्य बना रहता है। इसलिए खास कर युवा वर्ग अपने जीवन में ईश्वर के साथ-साथ सफलता पाना चाहते हैं तो दो काम अवश्य करने चाहिए। पहला सूर्य उदय से पहले उठ जाना चाहिए और दूसरा आठ बजे से पहले स्नान कर लेना चाहिए।

देवकी नंदन ठाकुर कहते हैं कि ऐसा करने से जीवन में भी सफलता मिलेगी साथ ही साथ कई पापों से भी मुक्ति मिल जाएगी। इसके अलावा जो व्यक्ति सूर्य उदय तक सोते रहते हैं उनकी आयु भी कम होती रहती है। मनुष्य सूर्य उदय के बाद जितनी देर सोता है उतनी ही अधिक उसकी आयु नष्ट होती है। इसलिए मां-पिता को भी चाहिए कि वह अपने संतान को जबरदस्ती सूर्य उदय से पहले उठा दें। देवकी नंदन ठाकुर के अनुसार मनुष्य आधा से अधिक उल्लू वाली जिंदगी जी रहा है। क्योंकि जो रात सोने के लिए होती है उसमें व्यक्ति जगता है और जो दिन जगने के लिए है उसमें सो जाते हैं। ऐसा काम उल्लू ही करता है। इसलिए उल्लू वाले काम करने से मनुष्य को बचना चाहिए। तब जाकर मनुष्य अपने घर और जीवन से दरिद्रता को भगा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X